scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

नोएडा में फूड प्वाइजनिंग से 100 से अधिक छात्रों की बिगड़ी तबीयत, अस्पताल में हुए भर्ती, उल्टी-चक्कर की शिकायत

पुलिस ने बताया कि छात्रावास में महाशिवरात्रि के अवसर पर व्रत रखने वालों के लिए बनाई गई कुटू के आटे की पूरियां खाने के बाद 76 छात्रों की तबीयत बिगड़ गई, जिसके बाद सभी को अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती कराया गया।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Jyoti Gupta
Updated: March 09, 2024 16:21 IST
नोएडा में फूड प्वाइजनिंग से 100 से अधिक छात्रों की बिगड़ी तबीयत  अस्पताल में हुए भर्ती  उल्टी चक्कर की शिकायत
नोएडा में 100 से अधिक बच्चे बीमार। ( Ani)
Advertisement

यूपी के नोएडा में 100 से अधिक बच्चे बीमार पड़ गए हैं। यहां गौतम बुद्ध नगर में ग्रेटर नोएडा के एक निजी छात्रावास में रात के भोजन के छात्रों ने उल्टी-दस्त औऱ चक्कर आने की शिकायत की। जानकारी के अनुसार, महाशिवरात्रि के मौके पर व्रत का भोजन खाने के बाद 100 से अधिक छात्र बीमार हो गए। मामले में पुलिस ने बताया कि अलग-अलग कॉलेज में पढ़ने वाले ये छात्र नॉलेज पार्क क्षेत्र की आर्यन रेजीडेंसी में रहते हैं।

शुक्रवार रात भोजन करने के बाद कई छात्रों ने बेचैनी, चक्कर आने और उल्टी की शिकायत की। मामले में पुलिस ने बताया कि छात्रावास में महाशिवरात्रि के अवसर पर व्रत रखने वालों के लिए बनाई गई कुटू के आटे की पूरियां खाने के बाद 76 छात्रों की तबीयत बिगड़ गई, जिसके बाद सभी को अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती कराया गया। हालांकि फिलहाल उनकी हालत स्थिर बताई जा रही है।

Advertisement

छात्रों ने चक्कर आने, बेचैनी और उल्टी की शिकायत की

पुलिस ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। वहीं छात्रों ने बताया कि उन्होंने रात को व्रत रखने वाले के लिए अलग से पकाया गया भोजन खाया था। एक निजी अस्पताल में उपचार करा रहे छात्र पीयूष ने कहा, ‘‘हमने रात करीब साढ़े नौ बजे भोजन किया था। रात करीब साढ़े दस बजे मुझे चक्कर आने लगे और फिर मैं सो गया। कुछ दोस्तों ने देखा कि बहुत से अन्य विद्यार्थियों को चक्कर आने, बेचैनी, उल्टी की दिक्कत हो रही है।’’

आधी रात को मुझे बुखार आ गया और चक्कर आने लगे

कैलाश अस्पताल में भर्ती एक अन्य छात्र कुशल ने कहा, ‘‘आधी रात के आसपास मेरा शरीर कांपने लगा और मुझे बुखार व चक्कर आने लगे। फिर मुझे और मेरे साथ कमरे में रहने वाले दो साथियों को यहां इमरजेंसी में लाया गया। अन्य विद्यार्थियों को भी उल्टी हो रही थी।’’ इस बीच, स्थानीय खाद्य सुरक्षा विभाग की एक टीम निरीक्षण के लिए घटनास्थल पर पहुंची। एक अधिकारी ने मीडिया से कहा, ‘‘टीम भोजन तैयार करने के लिए उपयोग किए गये खाद्य पदार्थों और कच्चे माल के नमूने एकत्र करेगी। नमूनों की जांच की जाएगी और रिपोर्ट के आधार पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।’ फिलहाल मामले में आगे की जांच की जा रही है।

Advertisement

Advertisement
Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो