scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Mumbai Hoarding Collapse: अवैध होर्डिंग के मालिक पर पहले से रेप का केस, अब 14 लोगों की मौत के बाद हुई FIR

Mumbai Hoarding Collapse: मामले की जांच कर रही है पंत नगर पुलिस ने सोमवार रात को एगो मीडिया प्राइवेट लिमिटेड के 51 वर्षीय निदेशक भावेश प्रभुदास भिंडे के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Mohammad Qasim
नई दिल्ली | Updated: May 14, 2024 17:19 IST
mumbai hoarding collapse  अवैध होर्डिंग के मालिक पर पहले से रेप का केस  अब 14 लोगों की मौत के बाद हुई fir
घाटकोपर इलाके में 14 लोगों की मौत (Express Photo by Deepak Joshi)
Advertisement

मुंबई में सोमवार को तेज हवाओं के साथ हुई बारिश घाटकोपर इलाके में 14 लोगों की मौत का कारण बन गई। लेकिन वजह यहां सिर्फ बारिश नहीं है बल्कि एक अवैध होर्डिंग है। इस अवैध होर्डिंग के मालिक पर कार्रवाई शुरू हो गई है और जानकारी ये सामने आ रही है कि उसके खिलाफ  इस साल की शुरुआत में मुंबई पुलिस ने बलात्कार का मामला भी दर्ज किया था।

इस मामले की जांच कर रही है पंत नगर पुलिस ने सोमवार रात को एगो मीडिया प्राइवेट लिमिटेड के 51 वर्षीय निदेशक भावेश प्रभुदास भिंडे के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है। बताया जा रहा है कि भावेश के ही होर्डिंग का ठेका था और इसे 10 साल की लीज पर लगाया गया था।

Advertisement

पहले दर्ज हो चुका है बलात्कार का मामला

इस साल की शुरुआत में अदालत के दस्तावेजों के मुताबिक भावेशभावेश प्रभुदास भिंडे के खिलाफ इस साल 24 जनवरी को मुलुंड पुलिस स्टेशन में बलात्कार और छेड़छाड़ का मामला दर्ज किया गया था। जिसके बाद वह जमानत पर बाहर चल रहे थे।

भिंडे ने 2009 के महाराष्ट्र विधानसभा चुनावों में एक निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ा था। तब उनके हलफनामे से यह जानकारी सामने आई थी कि उनपर 21 मामले चल रहे थे जिनमें से अधिकतर अवैध होर्डिंग लगाने के मामले थे। मुंबई में जिस होर्डिंग के गिरने से 14 लोगों की मौत हुई है उसे भी भिंडे ने ही लगवाया था।

पंत नगर पुलिस स्टेशन में उनके खिलाफ दर्ज धारा 304 (गैर इरादतन हत्या), 338 (गंभीर चोट पहुंचाना), 337 (लापरवाही से चोट पहुंचाना) और धारा 34 के तहत मामला दर्ज किया गया है।

Advertisement

सोमवार को बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) के प्रमुख भूषण गगरानी ने कहा कि घाटकोपर होर्डिंग अवैध था क्योंकि नागरिक निकाय ने इसे लगाने की अनुमति नहीं दी थी। जिस स्थान पर घटना घटी वहां रेलवे की जमीन पर चार होर्डिंग लगे थे और उनमें से एक गिर गया है। बीएमसी एक साल से होर्डिंग्स लगाने पर आपत्ति जता रही थी।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो