scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

पांच साल में ज्यादातर सड़क हादसे शाम 6 से रात 9 बजे तक

हिमाचल प्रदेश की सड़क हादसों में मारे गए लोगों में लगभग 52 फीसद लोग 21 से 40 आयु वर्ग के थे।
Written by: एजंसी
May 10, 2023 03:53 IST
पांच साल में ज्यादातर सड़क हादसे शाम 6 से रात 9 बजे तक
प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर। ( फोटो-इंडियन एक्‍सप्रेस)।
Advertisement

हिमाचल प्रदेश पुलिस के जारी आंकड़ों के अनुसार वर्ष 2017 से 2022 के बीच राज्य में सबसे अधिक सड़क दुर्घटनाएं शाम छह बजे से रात नौ बजे के बीच हुई हैं जो कुल हादसों का 22 फीसद है। आंकड़े बताते हैं कि ज्यादातर हादसे कामकाजी लोगों द्वारा कार्यालय से घर लौटने के दौरान हुई हैं और इसे देखते हुए पुलिस लोगों को यह समझाने में व्यस्त है कि ‘सावधानी से वाहन चलाएं, आपके लोगों को आपकी जरूरत है।’

अधिकारियों ने बताया कि हिमाचल प्रदेश पुलिस के आंकड़ों के अनुसार वर्ष 2017 से 2022 के बीच 16,330 सड़क दुर्घटनाओं में 6,530 लोगों की मौत हुई और इनमें से 3,590 दुर्घटनाएं या 22 फीसद दुर्घटनाएं शाम छह बजे से रात नौ बजे के बीच कार्यालय से घर लौटने के दौरान हुई हैं। आंकड़ों से यह भी पता चला कि इन दुर्घटनाओं में 26,600 लोग घायल हुए।

Advertisement

पुलिस महानिदेशक संजय कुंडू ने बताया, वर्ष 2021 में केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय के द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, हिमाचल प्रदेश में सड़क दुर्घटनाएं और प्रति लाख मौतें क्रमश: 31.54 और 13.77 हैं जबकि राष्ट्रीय औसत 29.30 और 10.93 है। हमारा प्रयास सड़क हादसों और मृतकों की संख्या को राष्ट्रीय औसत से नीचे लाना है।’

उन्होंने बताया कि सड़क हादसों में मारे गए लोगों में लगभग 52 फीसद लोग 21 से 40 आयु वर्ग के थे। कुंडू ने कहा, कार्यालय जाने वालों को हमारी सलाह है कि घर लौटते वक्त वह सावधानीपूर्वक और शांति से गाड़ी चलाएं।

Advertisement
Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो