scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

मौलाना तौकीर रजा फरार घोषित, अगले तारीख पर नहीं हुआ पेश तो कुर्क होगी संपत्ति, कोर्ट का आदेश

मौलाना तौकीर रजा को साल 2010 में हुए बरेली के दंगे का मास्टरमाइंड बताया गया है। इसीलिए एडीजे रवि कुमार दिवाकर की कोर्ट ने समन जारी कर उनको तलब किया था।
Written by: न्यूज डेस्क
April 01, 2024 19:15 IST
मौलाना तौकीर रजा फरार घोषित  अगले तारीख पर नहीं हुआ पेश तो कुर्क होगी संपत्ति  कोर्ट का आदेश
मौलाना तौकीर रजा खान। (इमेज- facebook/Maulana Tauqeer Raza Khan)
Advertisement

Maulana Tauqeer Raza: इत्तेहादे मिल्लत कौंसिल के चीफ मौलाना तौकीर रजा खां की मुश्किलें बढ़ने वाली है। रजा खां के मामले में आज बरेली के जिला जज कोर्ट की अदालत में सुनवाई हुई। उनके पेशी पर हाजिर ना होने पर कोर्ट ने कड़ी नाराजगी जाहिर की है। कोर्ट ने मौलाना रजा को फरार घोषित कर दिया है। साथ ही, आदेश दिया कि पुलिस आगे की कार्रवाई को अंजाम दे। कोर्ट ने उनके पेश नहीं होने पर अगली सुनवाई आठ अप्रैल तक के लिए टाल दी है। अगर वह हाजिर नहीं हुए तो उनकी संपत्ति को कुर्क किया जा सकता है।

मौलाना तौकीर रजा को साल 2010 में हुए बरेली के दंगे का मास्टरमाइंड बताया गया है। इसीलिए एडीजे रवि कुमार दिवाकर की कोर्ट ने समन जारी कर उनको तलब किया था। इतना ही नहीं कोर्ट के सामने हाजिर ना होने पर मौलाना के खिलाफ दो बार गैरजमानती वारंट जारी किए गए थे। हालांकि, पुलिस उन्हें अरेस्ट नहीं कर सकी। इसी बीच, मौलाना ने इलाहाबाद हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया।

Advertisement

हाईकोर्ट ने दी थी फौरी राहत

हाईकोर्ट ने मौलाना को फौरी राहत दी थी। कोर्ट ने उन्हें 27 मार्च तक ट्रायल कोर्ट में सरेंडर कर जमानत अर्जी दायर करने की छूट देते हुए वारंट के अमल पर रोक लगा दी थी। वहीं, कोर्ट ने गैरजमानती वारंट में दखल देने से साफ मना कर दिया था। केवल होली की वजह से सरेंडर करने का मौका दिया गया। हाईकोर्ट के द्वारा दिए गए आदेश के बाद भी तौकीर रजा कोर्ट में पेश नहीं हुए। पेशी से एक दिन पहले मौलाना इलाज के लिए दिल्ली के एक हॉस्पिटल में भर्ती हो गए। उन्होंने कोर्ट में वकील के जरिये अर्जी लगवाई थी। हालांकि, कोर्ट ने इसे स्वीकार करने से मना कर दिया था। सोमवार को वह कोर्ट में पेश नहीं हुए इसलिए कोर्ट ने कड़ी नाराजगी जाहिर की।

कौन है मौलाना तौकीर रजा

मौलाना तौकीर रजा बरेली के एक धार्मिक नेता हैं। वह सुन्नी मुसलमानों के बरेली संप्रदाय से संबंध रखते हैं। वह विश्वभर में फेमस आला हजरत खानदान से आते हैं, जिन्होंने इस्लाम धर्म के सुन्नी बरेलवी मसलक की शुरुआत की थी। राजनीति में कदम रखने वाले तौकीर रजा इस परिवार के पहले सदस्य हैं। उन्होंने साल 2001 में अपनी पॉलिटिकल पार्टी इत्तेहाद-ए-मिल्लत परिषद की स्थापना की थी। अपने पहले ही चुनाव में उनकी पार्टी ने नगरपालिका की 10 सीटें जीती थीं। साल 2009 में रजा ने कांग्रेस का दामन थाम लिया था। उनके सहयोग से कांग्रेस के प्रत्याशी बीजेपी उम्मीदवार संतोष गंगवार को हरा पाए थे।

Advertisement

विवादों से रहा है पुराना नाता

तौकीर रजा काफी बार विवादों के घेरे में रहे हैं। उन्होंने द्रौपदी को लेकर साल 2017 में विवादित टिप्पणी की थी। 2022 में बरेली में मुस्लिम लोगों की सभा में संबोधित करते हुए उन्होंने कहा था कि मैं अपने हिंदू भाइयों को चेतावनी देना चाहता हूं कि मुझे डर है कि जिस दिन मुस्लिम युवाओं को कानून हाथ में लेने को मजबूर किया जाएगा, आपको भारत में कही भी छिपने की जगह नहीं मिलेगी।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो