scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Republic Day: मुख्यमंत्री ने तोड़ा प्रोटोकॉल, झांकी में राम-सीता को देख छोड़ी कुर्सी और मैदान में पहुंच छू लिए पैर

Manohar Lal Khattar: गणतंत्र दिवस पर आयोजित किए गए कार्यक्रम के दौरान हरियाणा के सीएम ने प्रोटोकॉल तोड़ा। उनका वीडियो वायरल हो रहा है।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Yashveer Singh
चंडीगढ़ | Updated: January 26, 2024 12:28 IST
republic day  मुख्यमंत्री ने तोड़ा प्रोटोकॉल  झांकी में राम सीता को देख छोड़ी कुर्सी और मैदान में पहुंच छू लिए पैर
सीएम खट्टर ने छू लिए राम-सीता बने कलाकारों के पैर (ANI)
Advertisement

पूरा देश आज गणतंत्र दिवस मना रहा है। हरियाणा में भी जगह-जगह गणतंत्र दिवस का जश्न देखने को मिल रहा है। हरियाणा सरकार के गणतंत्र दिवस समारोह में उस समय सभी लोग हैरान रह गए जब राज्य के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने प्रोटोकॉल तोड़ दिया। दरअसल गणतंत्र दिवस कार्यक्रम के दौरान राम-सीता के रूप में कलाकारों को देख हरियाणा सीएम अपनी कुर्सी छोड़ खड़े हो गए और कलाकारों के बीच जा पहुंचे। इसके बाद उन्होंने राम और सीता के रूप में मौजूद कलाकारों के पैर छू लिए।

कर्तव्य पथ पर हुए समारोह में क्या था खास?

देश की राजधानी नई दिल्ली में 75वें गणतंत्र दिवस के मौके पर राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने तिरंगा फहराया। इसके बाद राष्ट्रगान हुआ। फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों इस बार गणतंत्र दिवस पर भव्य कार्यक्रम के गवाह बने।यह छठा मौका था जब कोई फ्रांसीसी नेता गणतंत्र दिवस समारोह में मुख्य अतिथि बना है। आइए आपको बताते हैं गणतंत्र दिवस समारोह की मुख्य बातें।

Advertisement

  1. मेड इन इंडिया 105-MM इंडियन फील्ड गन के साथ 21 तोपों की सलामी दी गई। फिर 105 हेलीकॉप्टर यूनिट के चार MI-17 IV हेलीकॉप्टर ने कर्तव्य पथ पर उपस्थित दर्शकों पर फूलों की वर्षा की। 
  2. पहली बार परेड की शुरुआत 100 से अधिक महिला कलाकारों ने भारतीय संगीत वाद्ययंत्र बजाकर की। इन कलाकारों ने शंख, नादस्वरम, नगाड़ा आदि बजाते हुए मधुर संगीत के साथ परेड की शुरुआत की।
  3. परेड की कमान दूसरी पीढ़ी के सेना अधिकारी परेड कमांडर, लेफ्टिनेंट जनरल भवनीश कुमार, जनरल ऑफिसर कमांडिंग ने संभाली। मेजर जनरल सुमित मेहता, चीफ ऑफ स्टाफ, मुख्यालय दिल्ली क्षेत्र परेड सेकेंड-इन-कमांड थे।
  4. ‘विकसित भारत और भारत-लोकतंत्र की मातृका’- दोनों विषयों पर आधारित इस वर्ष की परेड में लगभग 13,000 विशेष अतिथियों ने भाग लिया। कर्तव्य पथ फ्रांसीसी सशस्त्र बलों के संयुक्त बैंड और मार्चिंग दल के मार्च पास्ट का भी गवाह बना।
  5. भारतीय नौसेना दल में 144 पुरुष और महिला अग्निवीर शामिल थे। इनका नेतृत्व दल कमांडर के रूप में लेफ्टिनेंट प्रज्ज्वल एम और प्लाटून कमांडर के रूप में लेफ्टिनेंट मुदिता गोयल, लेफ्टिनेंट शरवानी सुप्रिया और लेफ्टिनेंट देविका एच ने किया। 
Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो