scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

होली पर शिक्षकों को ट्रेनिंग के लिए बुलाया तो भड़के जेडीयू MLC, शिक्षा विभाग के सचिव केके पाठक को दिया ये चैलेंज

बिहार में कक्षा 1 से 5 तक के करीब 20,000 शिक्षकों की ट्रेनिंग चल रही है और इसमें सभी को उपस्थित रहना अनिवार्य है।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Nitesh Dubey
नई दिल्ली | Updated: March 26, 2024 15:32 IST
होली पर शिक्षकों को ट्रेनिंग के लिए बुलाया तो भड़के जेडीयू mlc  शिक्षा विभाग के सचिव केके पाठक को दिया ये चैलेंज
जेडीयू एमएलसी नीरज कुमार (फोटो- फेसबुक/NeerajKumarMLC)
Advertisement

बिहार में होली के त्योहार और शिक्षकों के ट्रेनिंग की टाइमिंग को लेकर घमासान मचा हुआ है। इस बीच सरकार के ही एक एमएलसी ने शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के करीबी अधिकारी केके पाठक को घेरा है। इस पूरे मामले पर सियासत भी तेज हो गई है।

20,000 शिक्षकों की चल रही है ट्रेनिंग

बिहार में कक्षा 1 से 5 तक के करीब 20,000 शिक्षकों की ट्रेनिंग चल रही है और इसमें सभी को उपस्थित रहना अनिवार्य है। यह ट्रेनिंग होली पर शुरू हुई। आदेश दिया गया है कि अगर कोई शिक्षक ट्रेनिंग में शामिल नहीं होता है तो उसका एक हफ्ते का वेतन काटा जाएगा। होली के दिन कई टीचर शिक्षक ट्रेनिंग में शामिल नहीं हुए।

Advertisement

जेडीयू एमएलसी नीरज कुमार ने कहा कि राज्य में कार्यरत शिक्षकों को ट्रेनिंग देना जरूरी है लेकिन जब रमजान चल रहा हो, होली का त्योहार हो तो उसके देखते हुए ही कार्यक्रम बनाना चाहिए। उन्होंने कहा कि अगर शिक्षकों को होली मनाने का अधिकार नहीं है तो फिर शिक्षा विभाग के पदाधिकारियों को अधिकार कैसे हैं?

केके पाठक को नीरज कुमार ने दिया चैलेंज

शिक्षा विभाग के सचिव केके पाठक पर बरसते हुए नीरज कुमार ने कहा कि वह भी एक दिन की छुट्टी ना लें, अगर उनमें हिम्मत हो। केके पाठक को चैलेंज देते हुए नीरज कुमार ने कहा कि उन्हें अन्य पदाधिकारियों की भी छुट्टी रद्द कर देनी चाहिए और बिहार के मुख्य सचिव को इस मामले में हस्तक्षेप करना चाहिए।

Advertisement

शिक्षक संघों में भी काफी नाराजगी

नीरज कुमार ने कहा कि शिक्षा विभाग के जितने अधिकारियों ने होली पर छुट्टी ली है, उनकी छुट्टी कैंसिल करनी चाहिए। बता दें कि केके पाठक के आदेश को लेकर शिक्षक संघों में भी काफी रोष है और नाराजगी व्यक्त की गई है। हालांकि शिक्षा विभाग अभी तक अपने आदेश से पीछे नहीं हटा है। केके पाठक नीतीश कुमार के करीबी अधिकारियों में से एक हैं। कई बार विभिन्न राजनीतिक दलों द्वारा उनके फैसले को लेकर उन्हें घेरा गया है लेकिन वह लगातार शिक्षा विभाग में बने हुए हैं।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो