scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Himachal Pradesh Assembly Election 2022: बीजेपी इकतरफा जीतेगी, नहीं कह सकता- बोले सीएम जयराम ठाकुर

भाजपा नेता ने दावा किया, 'एक बात तय है कि इस चुनाव में कांग्रेस के बड़े नेताओं की हार होने वाली है।'
Written by: जनसत्ता ऑनलाइन | Edited By: संजय दुबे
Updated: November 16, 2022 18:32 IST
himachal pradesh assembly election 2022  बीजेपी इकतरफा जीतेगी  नहीं कह सकता  बोले सीएम जयराम ठाकुर
HP CM Jairam Thakur: हिमाचल प्रदेश सीएम जयराम ठाकुर (Photo- Twitter/Jairam Thakur)
Advertisement

Himachal Pradesh Assembly Election: हिमाचल प्रदेश के सीएम जयराम ठाकुर ने कहा है कि हिमाचल विधानसभा चुनाव में भाजपा और कांग्रेस के बीच कड़ा मुकाबला है। ऐसे में मैं न तो यह कह सकता हूं कि हम एक तरह से यह चुनाव जीत रहे हैं और न ही कांग्रेस ऐसा कह सकती है। एक बात तय है कि इस चुनाव में कांग्रेस के बड़े नेताओं की हार होने वाली है। हिमाचल प्रदेश में अभी हाल ही में विधानसभा की कुल 68 सीटों के लिए 12 नवंबर को मतदान कराए गये थे, जिसमें कुल 65.5 फीसदी मतदान हुआ था। वोटों की गिनती 8 दिसंबर को होगी।

सीएम जयराम ठाकुर के इस बयान से पार्टी को भी मुश्किल हो सकती है, क्योंकि भाजपा के सभी बड़े नेता पूरे दावे के साथ कहते रहे हैं कि हिमाचल प्रदेश में भाजपा पूर्ण बहुमत के साथ फिर सत्ता में लौट रही है। कई नेताओं ने तो यहां तक कहा था कि विपक्षी दल कांग्रेस को बहुत कम सीटें मिल सकती हैं और आम आदमी पार्टी का खाता तक नहीं खुलेगा। केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने चुनाव प्रचार के दौरान दावा किया था कि पार्टी पिछली बार से ज्यादा सीटें जीतेगी। उन्होंने कहा था कि हम 44 का आंकड़ा पार करेंगे।

Advertisement

हालांकि हिमाचल प्रदेश में हर बार सत्ताधारी पार्टी को बदल देने की परंपरा रही है। जनता वहां एक बार भाजपा की सरकार बनवाती है तो दूसरी बार कांग्रेस के हाथ में सत्ता देती रही है। भाजपा ने दावा किया था कि इस बार ऐसा नहीं होगा और जनता इस परंपरा को जरूर बदलेगी।

उन्होंने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा था कि हमारी सेना के जवानों और उनके घर वालों ने 40 सालों तक वन रैंक वन पेंशन की मांग की थी, कांग्रेस ने चार पीढ़ियों तक देश पर शासन किया लेकिन जवानों और उनके परिजनों की ये मांग पूरी नहीं कर पाए। साल 2014 में देश की जनता ने नरेंद्र मोदी जी को प्रधानमंत्री चुना और मोदी जी ने सत्ता में आते ही साल 2015 में सबसे पहला काम जवानों और उनके परिजनों को ‘वन रैंक वन पेंशन’ देने का किया।’

Advertisement

कांग्रेस ने दावा किया था कि जनता उनको सत्ता सौंपने जा रही है

दूसरी तरफ कांग्रेस की वरिष्ठ नेता प्रियंका गांधी ने दावा किया था कि जनता बदलाव करेगी और इस बार कांग्रेस की सरकार सत्ता में आएगी। अपनी सभाओं में वादा किया था कि राज्य में अपनी सरकार बनते ही एक लाख नौकरियां देने के साथ ही पुरानी पेंशन योजना (Old Pension Scheme) को तुरंत लागू किया जाएगा। उन्होंने कहा कि पुरानी पेंशन योजना कोई चुनावी जुमला नहीं है और इसे छत्तीसगढ़ और राजस्थान की कांग्रेस सरकारों ने पहले ही लागू कर दी है।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो