scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Haryana Politics: रोज हजारों लोगों से मिल रहे CM नायब सैनी, जनता के लिए खोले घर के दरवाजे, चुनौतियों के बीच BJP का नया दांव

Haryana Politics: हरियाणा में बीजेपी को कांग्रेस से इस बार कड़ी चुनौती मिलने की संभावना है क्योंकि लोकसभा चुनावों के दौरान बीजेपी यहां 10 में से 5 सीटें ही जीत सकी है, जबकि कांग्रेस ने कड़ी टक्कर दी है।
Written by: Sukhbir Siwach
नई दिल्ली | Updated: July 07, 2024 09:11 IST
haryana politics  रोज हजारों लोगों से मिल रहे cm नायब सैनी  जनता के लिए खोले घर के दरवाजे  चुनौतियों के बीच bjp का नया दांव
Nayab Singh Saini: विधानसभा चुनाव से पहले मुख्यमंत्री की नई पहल (सोर्स - एक्सप्रेस फोटो)
Advertisement

Haryana Politics: हरियाणा में 3 महीनों में विधानसभा चुनाव होने हैं और लोकसभा चुनाव में बीजेपी को हुए 5 सीटों के नुकसान के बाद राज्य में बीजेपी एक्टिव मोड में आ गई है। हाल ही में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने हरियाणा का दौरा किया था। वहीं इस चुनाव में एक कठिन परीक्षा लोकसभा चुनाव से ठीक पहले बनाए गए नए मुख्यमंत्री नायब सिंह सैनी सामने भी है। ऐसे में बड़ा दांव चलते हुए उन्होंने जनता से मिलने के लिए मुख्यमंत्री आवास के दरवाजे खोल दिए हैं। उनका दावा है कि वह पूरे दिन में 6 से 8 हजार से ज्यादा लोगों से मिलते हैं।

Advertisement

सीएम नायब सिंह सैनी ने दावा किया है कि वह आधी रात को भी जनता के लिए मौजूद हैं। उनके इस दावे को वेरिफाई करने के लिए कई बार तो लोग बिना किसी काम के सीएम आवास पहुंचकर दरवाजे खटखटाने लगते हैं। 2014 हो या 2019 दोनों ही लोकसभा चुनावों के दौरान बीजेपी ने राज्य की सभी दस सीटें अपने नाम की थी, लेकिन चुनाव से ठीक पहले बनाए गए नए सीएम नायब सिंह सैनी को झटका तब लगा, जब बीजेपी की सीटें लोकसभा चुनावों में आधी रह गई और कांग्रेस ने उससे 5 सीटें छीन लीं।

Advertisement

जनसंपर्क को विस्तार दे रहे सीएम सैनी

लोकसभा चुनाव के पहले बीजेपी ने राज्य के तत्कालीन सीएम मनोहर लाल खट्टर को हटाकर नायब सिहं सैनी को सीएम पद दिया था और मनोहर लाल खट्टर करनाल सीट से चुनाव जीतकर संसद पहुंचे हैं। खट्टर फिलहाल पीएम मोदी की कैबिनेट में मंत्री है, लेकिन नए सीएम नायब सिंह सैनी राज्य में डैमेज कंट्रोल के प्रयास में जुटे हैं।

सीएम सैनी जनता के बीच लगातार बने रहने के लिए जनसंपर्क कर रहे हैं। उन्होंने बताया है कि उनका दिन सुबह 7 बजे से शुरू होकर सुबह 4 बजे तक चलता है और वे लोगों से ही मिलते हैं। इसके बाद वे रात भर सरकारी अधिकारियों, पार्टी नेताओं और आम लोगों से मिलते हैं और कुछ देर की नींद भी लेते हैं। उनके करीबी लोगों के मुताबिक गुरुवार रात से उनकी बैठकें अगली सुबह 4 बजे तक चलती रहीं। सबसे पहले उन्होंने लोगों से मुलाकात की और उनकी शिकायतें सुनीं और फिर बीजेपी नेताओं के साथ बैठकें कीं।

Advertisement

हर दिन 6-7 हजार लोगों से कर रहे मुलाकात

सैनी ने कहा है कि मैं प्रतिदिन लगभग 6,000-7,000 लोगों से मिलता हूं। अगर मैं आधिकारिक आवास पर हूं तो हर दिन लोगों से मिलने के लिए चार शिफ्ट निर्धारित की गई हैं। हाल ही में हुई एक घटना को याद करते हुए उन्होंने कहा कि रोहतक से लगभग 10-15 लोगों का एक समूह उनके आवास पर सिर्फ यह देखने के लिए आया था कि क्या वह वास्तव में आधी रात को लोगों से मिल रहे हैं जैसा कि उन्होंने वादा किया था।

Advertisement

सीएम ने कहा कि मैंने खुलेआम घोषणा की थी कि मैं रात 12 बजे भी आपातकालीन स्थिति लोगों से मिलने के लिए उपलब्ध रहूंगा। एक रात, मेरे कर्मचारियों ने आधी रात को मुझे बताया कि 10-15 लोग मुझसे मिलने आए हैं। मैं उनसे मिलने के लिए तैयार हो गया और उनसे पूछा कि वे किस आपातकालीन स्थिति में मुझसे मिलने आए हैं। उन्होंने कहा कि कोई आपातकालीन स्थिति नहीं थी। हम बस यह देखने आए थे कि क्या आप वास्तव में रात 12 बजे लोगों से मिलते हैं या नहीं। सीएम ने यह भी बताया कि ज़्यादातर लोग स्थानीय विवादों, बिजली और पानी की समस्याओं और पुलिस की निष्क्रियता को हल करने के लिए उनसे मिलते हैं।

याद किया पुराना किस्सा

मुख्यमंत्री सैनी ने बताया कि 2015 से 2019 तक मनोहर लाल खट्टर सरकार में मंत्री रहते हुए भी वे अनजान लोगों के फोन कॉल का जवाब देते थे। एक और घटना का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि एक रात 2 बजे एक फैक्ट्री मालिक ने मुझे फोन करके बताया कि अंबाला जिले में उनकी फैक्ट्री में आग लग गई है। मैंने जिला कलेक्टर और फायर ब्रिगेड के कर्मचारियों से समन्वय किया और घटना पर तुरंत कार्रवाई सुनिश्चित की। कुछ साल बाद उस उद्योगपति ने मुझे बताया कि उसने मुझे फोन किया था क्योंकि न तो डीसी और न ही एसपी उसका फोन उठा रहे थे।

मुख्यमंत्री बनने के बाद से नायब सिंह सैनी ने मुख्यमंत्री आवास में दरवाजा खुला रखन ने की नीति अपनाई थी। सीएम ने पहले भी कहा था कि मुझे हमेशा लोगों से मिलना और उनकी शिकायतों का समाधान करना अच्छा लगता है। सुनना तो जरूर चाहिए। इसलिए बहुत से लोगों को लगता है कि सैनी उनका बंदा है । बीजेपी के लिए आगामी विधानसभा चुनाव एक चुनौती माने जा रहे हैं, आम चुनाव में पार्टी को झटका लगा है। हालांकि बीजेपी और कांग्रेस ने राज्य की 10 लोकसभा सीटों पर बराबर-बराबर जीत हासिल की, लेकिन पार्टी के लिए पिछला विधानसभा चुनाव भी बड़ी मुश्किल वाला रहा था।

पार्टी ने साढ़े चार साल तक जेजेपी के साथ गठबंधन की सरकार चलाई थी। 2019 में, भाजपा ने सात लोकसभा सीटों में से हर विधानसभा क्षेत्र में जीत हासिल की थी। ​​इस बार पार्टी सिर्फ करनाल में ही जीत हासिल कर पाई, जहां से पूर्व सीएम खट्टर जीत कर संसद पहुंचे हैं। इसकी तुलना में, कांग्रेस ने रोहतक और सिरसा की सभी विधानसभा सीटों पर जीत हासिल की। ​

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
×
tlbr_img1 Shorts tlbr_img2 खेल tlbr_img3 LIVE TV tlbr_img4 फ़ोटो tlbr_img5 वीडियो