scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Haryana: कुरुक्षेत्र में किसानों का प्रदर्शन, ब्लॉक किए हाईवे, राकेश टिकैत भी होंगे शामिल

हरियाणा के कुरुक्षेत्र में सूरजमुखी के न्यूनतम समर्थन मूल्य की मांग पर किसानों ने दिल्ली-चंडीगढ़-अमृतसर हाईवे जाम कर दिया।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: shruti srivastava
Updated: June 07, 2023 12:11 IST
haryana  कुरुक्षेत्र में किसानों का प्रदर्शन  ब्लॉक किए हाईवे  राकेश टिकैत भी होंगे शामिल
कुरूक्षेत्र में किसानों का प्रदर्शन (Source- Screengrab/ ANI)
Advertisement

हरियाणा के कुरुक्षेत्र में किसान और पुलिस के झड़प हो गई है। बड़ी संख्या में किसानों ने मंगलवार (6 जून) दोपहर कुरुक्षेत्र के शाहबाद के पास अमृतसर- दिल्ली नेशनल हाइवे जाम कर दिया। किसान मांग कर रहे हैं कि सरकार न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) पर सूरजमुखी बीज की खरीद करे। जब पुलिस जाम खुलवाने पहुंची तो विवाद खड़ा हो गया, जिसके बाद पुलिस ने किसानों पर लाठीचार्ज किया और भीड़ को नियंत्रित करने के लिए वाटर कैनन का इस्तामल किया। जानकारी के मुताबिक, किसान नेता राकेश टिकैत के भी बुधवार सुबह 11 बजे तक प्रदर्शन में पहुंचने की उम्मीद है।

कहां है MSP कानून- रणदीप सुरजेवाला

कुरुक्षेत्र के शाहाबाद में सूरजमुखी के बीज के न्यूनतम समर्थन मूल्य की मांग को लेकर किसानों के विरोध प्रदर्शन पर कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने कहा, "मोदी जी ने कहा था कि MSP कानून लाएंगे, तो कहां है? न तो एमएसपी कानून है और न ही किसान को एमएसपी मिल रहा है। जब किसान विरोध करते हैं तो उन पर केवल लाठीचार्ज होता है? क्या सरकार और पुलिस केवल किसानों को पीटने और उनका अपमान करने का काम कर रही है?"

Advertisement

किसानों पर लाठीचार्ज

लाठीजार्ज में कई किसान घायल हुए हैं। वहीं, पुलिस ने किसानों के खिलाफ केस भी दर्ज किया है। पुलिस ने तीन किसान नेताओं और उनके कई समर्थकों को हिरासत में ले लिया। किसानों पर पुलिस के ऊपर पत्थर बरसाने का आरोप है। कुरुक्षेत्र में लाठीजार्ज के बाद किसानों ने जगह जगह जाम लगाए। हरियाणा के दूसरे जिलों में भी किसान सड़कों पर उतर आए और पुलिस की इस कार्रवाई का विरोध कर रहे हैं।

किसानों ने हरियाणा में जगह-जगह हाईवे ब्लॉक किए

दरअसल, पुलिस हाईवे जाम न करने को लेकर हाईकोर्ट के ऑर्डर लेकर आई थी। उसके बाद किसानों को 15 मिनट का समय दिया गया लेकिन वे नहीं हटे, जिसके बाद पहले वाटर कैनन और फिर लाठीचार्ज कर दिया गया। किसानों को हटाने के बाद हाईवे पर आवाजाही शुरू कर दी गई है। इसके बाद भड़के किसानों ने हरियाणा में जगह-जगह हाईवे ब्लॉक कर दिए गए हैं। हिसार, रोहतक और कई दूसरी जगह हाईवे के टोल प्लाजाओं पर किसानों ने डेरा जमा लिया है।

सूरजमुखी की खरीद MSP पर करने की मांग को लेकर किसानों का धरना

किसान सूरजमुखी की खरीद MSP पर करने की मांग को लेकर यहां धरना दे रहे थे। BKU नेता गुरनाम सिंह चढूनी ने प्रशासन को चेतावनी दी थी कि अगर पुलिस ने बल प्रयोग किया तो पूरा हरियाणा जाम कर दिया जाएगा। गुरनाम सिंह चढूनी के आह्वान पर किसानों ने शाहबाद के पास दिल्ली-चंडीगढ़ नेशनल हाइवे को जाम कर दिया। हिरासत में लिए गए नेताओं में चढूनी भी शामिल हैं। प्रदर्शनकारी किसानों ने दावा किया कि सरकार एमएसपी पर सूरजमुखी बीज नहीं खरीद रही है।

Advertisement

प्रदर्शनकारियों का कहना था कि उन्होंने सरकार को सोमवार तक का समय दिया था लेकिन उनकी मांग पर ध्यान नहीं दिया गया। कुरुक्षेत्र के एसपी एस एस भोरिया ने पीटीआई से कहा कि पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय ने मंगलवार को निर्देश दिया कि हाइवे को सुचारू यातायात के लिए खुला रखा जाए। हालांकि, अदालत के आदेश में यह साफ लिखा गया कि प्रशासन संयम बरते और अंतिम उपाय के रूप में भीड़ को तितर-बितर करने के लिए बल प्रयोग करे।

मांग पूरी होने तक जारी रहेगा किसानों का प्रदर्शन

एसपी ने कहा कि अदालत के आदेश की एक कॉपी किसान नेताओं को दी गई लेकिन प्रदर्शनकारी हटने को तैयार नहीं हुए। बाद में प्रदर्शनकारियों को हाइवे खाली करने की चेतावनी दी गई लेकिन उन्होंने इनकार कर दिया। जिसके बाद पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए वाटर कैनन का इस्तेमाल किया और लाठीचार्ज किया। इससे पहले चढूनी ने धरना स्थल पर मीडिया से कहा था कि जब तक सरकार हमारी मांग नहीं मानती, हमारा विरोध जारी रहेगा।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो