scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Haldwani Violence: इंटरनेट सस्पेंड, स्कूल बंद, देखते ही गोली मारने के आदेश… हल्द्वानी में बवाल के बाद अब कैसे हैं हालात?

नैनीताल के बनभूलपुरा इलाके में हिंसा के बाद अस्पताल में भर्ती कराए गए लगभग 60 लोगों में से अधिकांश पुलिसकर्मी और नगरपालिका कर्मचारी हैं
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: shruti srivastava
Updated: February 09, 2024 09:41 IST
haldwani violence  इंटरनेट सस्पेंड  स्कूल बंद  देखते ही गोली मारने के आदेश… हल्द्वानी में बवाल के बाद अब कैसे हैं हालात
हलद्वानी के बनभूलपुरा में हिंसा (Source- screengrab/ ANI)
Advertisement

अवैध मदरसे, मस्जिद को ढहाए जाने पर हिंसा भड़कने के बाद उत्तराखंड के हल्द्वानी में कर्फ्यू लगा दिया गया है। राज्य एडीजी कानून एवं व्यवस्था एपी अंशुमान ने बताया कि हिंसा प्रभावित बनभूलपुरा में चार लोगों की मौत हो गई और 100 से अधिक पुलिसकर्मी घायल हो गए। बनभूलपुरा इलाके में कर्फ्यू लगा दिया गया है और लोगों को घर के अंदर रहने की हिदायत दी गई है। शहर में अस्पताल और दवा की दुकानों को छोड़कर बाकी सब बंद रखने का आदेश दिया गया है। स्कूल-ऑफिस और बाजार सबकुछ पूरी तरह से बंद कर दिया गया है। शहर में पेट्रोल पंप तक बंद हैं।

हलद्वानी के बनभूलपुरा में हिंसा के बाद इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गईं। नैनीताल जिला प्रशासन ने सभी स्कूल-कॉलेजों को भी बंद करने का आदेश दिया है। हालांकि, हल्द्वानी में सुबह कहीं से हिंसा की खबर सामने नहीं आई है। हालांकि, कर्फ्यू के बीच तनाव बरकरार है। नैनीताल की डीएम वंदना सिंह ने कहा, "आप वीडियो में देख सकते हैं कि पुलिस बल और प्रशासन किसी को उकसा नहीं रहा है या किसी को नुकसान नहीं पहुंचा रहा है। उपद्रवियों ने पेट्रोल पंप और पुलिस चौकी को जलाने की कोशिश की।"

Advertisement

बनभूलपुरा इलाके को छावनी में तब्दील कर दिया गया है। हालात को संभालने के लिए आसपास के जिलों से फोर्स बुलाई गई है तो सेंट्रल फोर्स की भी तैनाती की गई है। पीएसएसी को भी मोर्चे पर लगाया गया है। डीएम ने दंगाइयों को देखते ही गोली मारने के आदेश दिए हैं।

Advertisement

सभी को नोटिस और सुनवाई के अवसर दिए गए- DM

वन्दना सिंह (डीएम,नैनीताल) ने कहा, "होई कोर्ट के आदेश के बाद हल्द्वानी में जगह-जगह अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई की गई। सभी को नोटिस और सुनवाई के अवसर दिए गए। कुछ ने हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया, कुछ को समय दिया गया, जबकि कुछ को समय नहीं दिया गया। जहां समय नहीं दिया गया वहां पीडब्ल्यूडी और नगर निगम की ओर से अतिक्रमण अभियान चलाया गया। यह कोई अलग गतिविधि नहीं थी और किसी विशेष संपत्ति को टारगेट करके की गई गतिविधि नहीं थी।"

दंगाइयों को देखते ही गोली मारने के आदेश

हल्द्वानी के बनभूलपुरा क्षेत्र में बृहस्पतिवार को नगर निगम ने अवैध रूप से निर्मित मदरसा और मस्जिद को जेसीबी मशीन से ध्वस्त कर दिया, जिसके बाद क्षेत्र में पैदा हिंसक स्थिति को देखते हुए कर्फ्यू लगा दिया गया और दंगाइयों को देखते ही गोली मारने के आदेश दिए गए हैं। एक अधिकारी ने इसकी जानकारी दी। पुलिस ने बताया कि घटना में 60 लोग घायल हुए हैं। घायलों में हल्द्वानी के एसडीएम भी शामिल हैं।

उत्तराखंड में हाई अलर्ट

पुलिस ने कहा कि शहर के बनभूलपुरा इलाके में हिंसा के बाद अस्पताल में भर्ती कराए गए लगभग 60 लोगों में से अधिकांश पुलिसकर्मी और नगरपालिका कर्मचारी हैं। हिंसा बढ़ने पर हल्द्वानी की सभी दुकानें बंद कर दी गईं। पूरे उत्तराखंड में हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया है। इस बीच, मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मामले की गंभीरता को देखते हुए राजधानी देहरादून में उच्च स्तरीय बैठक बुलाकर हालात की समीक्षा की तथा अराजक तत्वों से सख्ती से निपटने के लिये अधिकारियों को निर्देश दिए।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो