scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

LIVE: हल्द्वानी में इंटरनेट सेवा बंद, उपद्रवियों को गोली मारने का आदेश

हल्द्वानी में अवैध मदरसे को हटाने को लेकर बड़ा बवाल हो गया है। पुलिस की कई गाड़ियां फूंक दी गई हैं, पथराव तक हुआ है। जमीन पर तनाव का माहौल बना हुआ है और स्थिति को नियंत्रण में करने की कोशिश की जा रही है।
Written by: न्यूज डेस्क
नई दिल्ली | Updated: February 08, 2024 23:19 IST
live  हल्द्वानी में इंटरनेट सेवा बंद  उपद्रवियों को गोली मारने का आदेश
हल्द्वानी में बवाल
Advertisement

हल्द्वानी में अवैध मदरसे को हटाने को लेकर बड़ा बवाल हो गया है। पुलिस की कई गाड़ियां फूंक दी गई हैं, पथराव तक हुआ है। जमीन पर तनाव का माहौल बना हुआ है और स्थिति को नियंत्रण में करने की कोशिश की जा रही है। बताया जा रहा है कि प्रशासन की तरफ से अवैध मदरसे को बुलडोजर से हटाने के निर्देश दिए गए थे, लेकिन जब जमीन पर कार्रवाई करने अधिकारी गए तो उन पर पथराव कर दिया गया।

पथराव के बाद उपद्रवियों ने कई गाड़ियों को भी आग के हवाले कर दिया। इस घटना के वीडियो सामने आ रहे हैं जिनमें अफरा-तफरी का माहौल बना हुआ है। बताया जा रहा है कि कई पुलिसकर्मी जख्मी हुए हैं, लाठीचार्ज करने के बावजूद भी भीड़ द्वारा नुकसान पहुंचाया गया है। इसी वजह से अब प्रशासन ने उपद्रवियों को गोली से मारने का आदेश जारी कर दिया है।

Advertisement

सीएम पुष्कर सिंह धामी ने भी सख्त से सख्त कार्रवाई के निर्देश दे दिए हैं। पुलिस को हर कीमत पर स्थिति को कंट्रोल में करने के लिए कहा गया है। अतिरिक्त फोर्स भी मौके पर पहुंच रही है। अभी के लिए नैनीताल के बनभूलपुरा इलाके में कर्फ्यू लगा दिया गया है, लोगों को घर के अंदर रहने की हिदायत है। इस पूरी घटना तो लेकर अधिकारियों के बयान भी आने लगे हैं।

उत्तराखंड के DGP अभिनव कुमार ने कहा है कि आज शाम लगभग 4 बजे हलद्वानी के बनभूलपुरा में जिला प्रशासन और पुलिस की संयुक्त टीम न्यायालय के आदेशों के क्रम में अवैध अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई कर रही थी। उस कार्रवाई के विरोध में वहां कुछ उपद्रवी अराजक तत्वों द्वारा पथराव और आगजनी की गई। सूचना मिली है कि उन लोगों ने अवैध तसलों से पुलिस और प्रशासन पर फायरिंग भी की... थाने के आस-पास भी तोड़फोड़ और आगजनी की सूचना है... सूचना मिलते ही DIG कुमाऊ भी मौके पर पहुंचे और आस-पास के जनपद से भी अतिरिक्त पुलिसबल वहां भेजा गया है।

डीजीपी ने आगे बोला कि इस घटना की गंभीरता को देखते हुए मुख्यमंत्री द्वारा उनके आवास पर एक आपातकालीन बैठक भी बुलाई गई। बैठक में स्थिति का जायजा लिया गया। फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है... घायल पुलिस कर्मियों और प्रशासन के लोगों को स्थानीय अस्पताल में भर्ती करवाया गया है... स्थिति तनावपूर्ण है लेकिन नियंत्रण में है और हमारे पास इस पूरे घटनाक्रम में हुए उपद्रव की CCTV फुटेज है... आने वाले दिनों में इस घटना के पीछे उपद्रवी तत्वों को चिन्हित करके उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Advertisement

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो