scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Earthquake in Himachal : हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला में भूकंप, रिक्टर स्केल पर तीव्रता 3.2

Earthquake News : हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला में आज सुबह भूकंप के झटके महसूस किए गए।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Yashveer Singh
Updated: January 14, 2023 18:51 IST
earthquake in himachal   हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला में भूकंप  रिक्टर स्केल पर तीव्रता 3 2
Earthquake : धर्मशाला के पास आए भूकंप की तीव्रता 3.2 रिक्टर स्केल मापी गई (Image- ANI)
Advertisement

हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला में आज सुबह भूकंप के झटके महसूस किए गए। नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी के अनुसार, आज सुबह 5.17 बजे धर्मशाला से 33 किलोमीटर पूर्व में भूंकप के झटके महसूस किए गए। रिक्टर स्केल पर इस भूकंप की तीव्रता 3.2 रही।

क्यों आता है भूकंप?

भूकंप (Earthquakes) आमतौर पर तब आते हैं जब जमीन के नीचे चट्टान अचानक टूट जाती है और उस दौरान तेज मोशन (rapid motion) होता है। इस वजह से अचानक एनर्जी पैदा होता है, जिस कारण भूकंप की तरंगें (seismic waves) जमीन को हिलाती हैं।

Advertisement

भूकंप के दौरान और बाद में चट्टानों की प्लेट्स या ब्लॉक्स घूमने लगते हैं और वो तब तक घूमते हैं जब तक कि वो फंस नहीं जाते। वो अंडर ग्राउंड स्पॉट जहां चट्टान या पत्थर पहले टूटा था उसे फोकस या भूकंप का हाइपो सेंटर (hypocenter) कहते हैं। फोकस के ठीक ऊपर वाले जगह को (जमीन की सतह- ground surface) को भूकंप का केंद्र या भूकंप का एपीसेंटर (epicenter of the earthquake) कहा जाता है।

भूकंप के खतरे क्या हैं?

भूकंप की वजह से जमीन हिलती है, यह हम सभी जानते हैं। जमीन हिलने की वजह कई जगहों पर इमारतों को गिरते हुए हम सभी ने देखा है। भूकंप की वजह से जमीन का विस्थापन (ground displacement) भी होता है। भूकंप कई बार बाढ़ (Flood) की वजह भी बनता है। यह नदी पर बने बांधों को भी तोड़ सकता है, जिस वजह से जान और माल दोनों का नुकसान होने की संभावना रहती है। साल 2004 में भूकंप के बाद हिंद महासागर में आई सुनामी की वजह से 14 देश प्रभावित हुए थे। इन 14 देशों में सुनामी के कारण करीब 2.5 लाख लोग मारे गए थे।

भूकंप की वजह से आग (Fire) भी लग सकती है। यह पढ़ने में आपको थोड़ा अजीब लग सकता है लेकिन कई बार भूकंप की वजह से आग लगने की भी संभावना बन जाती है। यह आग गैस की टूटी हुई लाइनों, बिजली की लाइनों की वजह से लग सकती है। साल 1906 में Great San Francisco Earthquake में ऐसा देखा गया था। इस भूकंप के कारण शहर में चार दिनों से आग की वजह से लोग परेशान रहे। आग की वजह से करीब पूरा शहर बर्बाद हो गया था करीब 2.5 लाख लोग बेघर हो गए थे।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो