scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

पश्चिम बंगाल में BJP नेता सुवेंदु अधिकारी समेत पार्टी के छह MLA सस्पेंड, स्पीकर ने इन आरोपों पर लिया एक्शन

राज्य के उत्तरी 24 परगना जिले के संदेशखाली समेत कई स्थानों पर पिछले कई दिनों से हिंसा और बवाल चल रहा है।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: संजय दुबे
नई दिल्ली | Updated: February 12, 2024 13:03 IST
पश्चिम बंगाल में bjp नेता सुवेंदु अधिकारी समेत पार्टी के छह mla सस्पेंड  स्पीकर ने इन आरोपों पर लिया एक्शन
पश्चिम बंगाल विधानसभा में विपक्ष के नेता और बीजेपी विधायक सुवेंदु अधिकारी। (Photo: @BJP4Bengal)
Advertisement

पश्चिम बंगाल विधानसभा में कथित तौर पर अव्यवस्था फैलाने और अनुचित व्यवहार के लिए विपक्ष के नेता सुवेंदु अधिकारी (Suvendu Adhikari) और अग्निमित्रा पॉल (Agnimitra Paul) समेत छह बीजेपी विधायकों को इस सत्र की शेष अवधि के लिए निलंबित कर दिया गया। राज्य के संसदीय कार्य मंत्री सोवन्देब चट्टोपाध्याय (Sovandeb Chattopadhyay) ने विधानसभा के नियम 348 के तहत एक प्रस्ताव पेश किया। स्पीकर ने उसे सदन के समक्ष रखा, जो कुछ देर में पारित हो गया। इस नियम के तहत बीजेपी के सभी छह नेताओं को निलंबित किया गया।

विपक्षी नेता ने कहा- बीजेपी महिलाओं के लिए आवाज उठाती रहेगी

बीजेपी नेता सुवेंदु अधिकारी ने सदन में संदेशखाली मुद्दा उठाया था। इसके बाद ही उनके निलंबन का प्रस्ताव लाया गया। विपक्ष के नेता सुवेंदु अधिकारी ने कहा कि बीजेपी महिलाओं के सम्मान के लिए आवाज उठाती रहेगी।

Advertisement

संदेशखाली इलाके में कई दिनों से हिंसा और बवाल का माहौल जारी है

राज्य के उत्तरी 24 परगना जिले के संदेशखाली समेत कई स्थानों पर पिछले कई दिनों से हिंसा और बवाल चल रहा है। सोमवार को प्रशासन ने संदेशखाली में धारा 144 लगा दी। साथ ही पुलिस ने सीपीएम नेता और पूर्व विधायक निरापद सरदार को गिरफ्तार कर लिया। उन पर दंगा करने, उपद्रव के लिए उकसाने और संपत्तियों को नुकसान पहुंचाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। उनकी गिरफ्तारी के बाद सीपीएम कार्यकर्ता और उनके समर्थकों ने थाने के बाहर प्रदर्शन किया और उनको छोड़ने की मांग की।

इससे पहले पश्चिम बंगाल विधानसभा में विपक्ष के नेता सुवेंदु अधिकारी ने शनिवार को बीजेपी विधायकों के साथ राजभवन गए और उत्तर 24 परगना जिले के संदेशखाली में शांति बहाल करने के लिए राज्यपाल सीवी आनंद बोस के हस्तक्षेप की मांग करते हुए एक ज्ञापन सौंपा। जब बीजेपी नेता उनके आधिकारिक आवास पर गये तो बोस राजभवन में नहीं थे। अधिकारियों ने बताया कि वह अभी केरल में हैं। सुवेंदु अधिकारी और बीजेपी विधायकों ने राजभवन के अधिकारियों को ज्ञापन सौंपा। इस दौरान उन्होंने राजभवन में 'संदेशखाली जल रही है', 'ममता हंस रही हैं' जैसे नारे लगाए।

Advertisement

संदेशखाली में धारा 144 के लागू करने के बाद इंटरनेट सेवाएं निलंबित कर दी गई हैं। वहां की स्थानीय महिलाओं ने फरार टीएमसी नेता शाहजहां शेख और उनके सहयोगियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर विरोध प्रदर्शन किया था।

Advertisement

बाद में पत्रकारों से बात करते हुए नंदीग्राम विधायक ने कहा, “मैंने अपनी मांगों से उनके सचिव को अवगत कराया है। उन्होंने हमारे साथ अच्छा व्यवहार किया। अगर 24 घंटे के अंदर शांति बहाल नहीं हुई तो हम राजभवन के सामने धरने पर बैठेंगे जहां कुछ दिन पहले मुख्यमंत्री के भतीजे धरने पर बैठे थे।'

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो