scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

बिहार में होली पर शिक्षक नहीं मना सकेंगे त्योहार? पूरे दिन चलेगी वर्कशॉप, जारी हुआ यह आदेश

आदेश में कहा गया है कि दिनांक 25 मार्च से 30 मार्च 2024 तक होने वाले छह दिवसीय आवासीय प्रशिक्षण में प्राथमिक विद्यालयों कक्षा 1 से कक्षा 5 तक के कार्यरत शिक्षकों को संबंधित जिला से निर्धारित प्रशिक्षण संस्थानों में जाना होगा।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: संजय दुबे
नई दिल्ली | Updated: March 24, 2024 14:48 IST
बिहार में होली पर शिक्षक नहीं मना सकेंगे त्योहार  पूरे दिन चलेगी वर्कशॉप  जारी हुआ यह आदेश
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (फोटो सोर्स - पीटीआई)
Advertisement

बिहार के शिक्षा विभाग ने एक अजीबोगरीब आदेश जारी किया है। इसके तहत कक्षा 1 से 5 तक के छात्रों को पढ़ाने वाले सरकारी स्कूल के शिक्षकों के लिए 25 मार्च से 30 मार्च तक एक कार्यशाला (Work Shop) का आयोजन कर रहा है। जबकि 25 मार्च को ही होली है। इस दिन सभी कार्यालय, शिक्षण संस्थान, सरकारी-गैरसरकारी विभाग और बाजार बंद रहते हैं। हर तरफ त्योहारी माहौल रहने से कामकाज बंद रहता है। ऐसे में शिक्षा विभाग कार्यशाला कराए जाने का आदेश देकर शिक्षकों के लिए बड़ा संकट खड़ा कर दिया है। शिक्षकों में भी इसको लेकर बड़ी नाराजगी है।

Advertisement

शिक्षकों को एक दिन पहले ही रिपोर्ट करने को कहा गया है

आदेश में कहा गया है कि दिनांक 25 मार्च से 30 मार्च 2024 तक होने वाले छह दिवसीय आवासीय फाउंडेशनल लिटरेसी एंड न्यूमेरेसी (FLN) डे प्रशिक्षण में प्राथमिक विद्यालयों कक्षा 1 से कक्षा 5 तक के कार्यरत शिक्षकों को संबंधित जिला से निर्धारित प्रशिक्षण संस्थानों में जाना होगा। शिक्षकों से कहा गया है कि वे 24 मार्च को शाम पांच बजे से अपनी उपस्थिति की रिपोर्ट कर दें। सभी शिक्षकों को 25 मार्च से प्रतिदिन सुबह साढ़े पांच बजे से साढ़े छह बजे तक योग और पीटी में भाग लेना होगा। उसके बाद सुबह साढ़े आठ बजे से शाम साढ़े सात बजे तक प्रशिक्षण कार्यक्रम में शामिल होना होगा।

Advertisement

गुड फ्राइडे के दिन 29 मार्च को सातवीं कक्षा की परीक्षा भी होनी है

पत्र के अनुसार, कुल 19,200 सरकारी स्कूल शिक्षक 25 से 30 मार्च तक विभाग के 78 प्रशिक्षण केंद्रों पर एफएलएन प्रशिक्षण में भाग लेंगे। इसी तरह, सातवीं कक्षा के लिए गुड फ्राइडे (29 मार्च) को भी वार्षिक परीक्षा आयोजित करने के विभाग के फैसले से विवाद खड़ा हो गया है। यहां तक कि बिहार के राज्यपाल के प्रधान सचिव रॉबर्ट एल. चोंगथु ने भी मुख्य सचिव को लिखे पत्र में विभाग को 29 मार्च के परीक्षा कार्यक्रम को बदलने का निर्देश देने का आग्रह किया है।

शिक्षकों के लिए ड्रेस कोड भी जारी

आदेश में कहा गया है कि प्रशिक्षण सत्र के दौरान सभी प्रतिभागी शिक्षकों को अनिवार्य रूप से फार्मल ड्रेस (पुरुष - पैंट शर्ट और टाई तथा महिलाएं- सलवार कुर्ता या साड़ी) पहनना होगा। यह भी कहा गया है कि सभी कपड़ों के रंग सौम्य होने चाहिए। योग और पीटी के दौरान व्हाइट या ब्लू पैंट एवं टीशर्ट पहनना होगा।

Advertisement

आदेश पर राजद नेता तेजस्वी यादव ने दी तीखी प्रतिक्रिया

बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम और राजद नेता तेजस्वी यादव ने इस पर तीखी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने एक्स पर लिखा, "NDA की बिहार सरकार के आदेशानुसार शिक्षकों को होली के दिन भी उपस्थित रहना है। बिहार में ऐसा पहले कभी नहीं हुआ कि होलिकोत्सव अथवा होली अवकाश के दिन जब पूरा राज्य होली मना रहा होगा, तब शिक्षक अपने परिवार से दूर रहेंगे। CM को इस मामले में हस्तक्षेप करना चाहिए।"

Advertisement

बहरहाल इस आदेश से शिक्षकों में काफी नाराजगी है। शिक्षकों ने त्योहार पर छुट्टी नहीं होने को गलत बताते हुए कहा कि यह काम होली के बाद भी किया जा सकता था। ऐसी क्या जरूरत है कि होली के दिन ही यह प्रशिक्षण दिया जाए।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
×
tlbr_img1 Shorts tlbr_img2 खेल tlbr_img3 LIVE TV tlbr_img4 फ़ोटो tlbr_img5 वीडियो