scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

वसुंधरा राजे अभी तक हैं नाराज! बीजेपी की इलेक्शन मीटिंग से रहीं दूर, पार्टी ने बताई यह वजह

बैठक में मौजूदा मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा समेत, प्रदेश प्रभारी अरुण सिंह छत्तीसगढ़ प्रभारी और पार्टी के वरिष्ठ नेता ओम माथुर, केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत, अर्जुनराम मेघवाल समेत कई सीनियर लीडर मौजूद रहे।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: संजय दुबे
नई दिल्ली | Updated: January 13, 2024 13:00 IST
वसुंधरा राजे अभी तक हैं नाराज  बीजेपी की इलेक्शन मीटिंग से रहीं दूर  पार्टी ने बताई यह वजह
बीजेपी की वरिष्ठ नेता और राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे
Advertisement

लोकसभा चुनाव के लिए बीजेपी समेत सभी दलों ने तैयारियां तेज कर दी हैं। सभी दलों में अलग-अलग राज्यों में प्रत्याशियों के चयन और चुनावी मुद्दों पर बातचीत और बैठकें हो रही हैं। जयपुर में केंद्रीय नेतृत्व के निर्देश पर राजस्थान बीजेपी की भी मीटिंग हुई, लेकिन इसमें पार्टी की वरिष्ठ नेता और पूर्व सीएम वसुंधरा राजे के मौजूद नहीं रहना चर्चा का विषय बन गया।

सियासी जगत में कई तरह की अटकलें लगाई जा रहीं

इस मीटिंग में मौजूदा मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा समेत कई वरिष्ठ नेता शामिल हुए, जिसमें प्रदेश प्रभारी अरुण सिंह छत्तीसगढ़ प्रभारी और पार्टी के वरिष्ठ नेता ओम माथुर, केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत, अर्जुनराम मेघवाल, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया, अशोक परनामी, अरुण चतुर्वेदी, पूर्व नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ और डिप्टी सीएम डॉ. प्रेमचंद बैरवा शामिल थे, लेकिन पूर्व मुख्यमंत्री नहीं पहुंची। इससे कई तरह की अटकलें लगाई जाने लगी हैं।

Advertisement

विधानसभा चुनाव में भी बहुत महत्व नहीं देने का आरोप

मीडिया सूत्रों का कहना है कि वसुंधरा राजे नाराज हैं। उनकी नाराजगी की वजह उनको सीएम नहीं बनाया जाना है। विधानसभा चुनाव में पार्टी में उनको बहुत महत्व भी नहीं दिया गया। हालांकि पार्टी की ओर से बहू की तबीयत ठीक नहीं होने को वजह बताई गई है।

वसुंधरा राजे के सियासी गतिविधियों से दूर रहने की यह पहली घटना नहीं है। कुछ दिन पहले ही राजधानी जयपुर में हुए आईजी-डीजी कॉन्फ्रेंस के उद्घाटन अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आए थे। कार्यक्रम के बाद उन्होंने राज्य में पार्टी के नए विधायकों और पदाधिकारियों से मुलाकात की। इस बैठक में भी वसुंधरा राजे नहीं पहुंची।

Advertisement

पीएम की जयपुर में यह पहली बैठक थी। इसमें राज्य के सभी मंत्री भी मौजूद रहे। वसुंधरा राजे को आमंत्रित किए जाने के बाद भी मीटिंग से दूर रहने पर कई तरह की चर्चाएं हो रही हैं। उनकी गैरमौजूदगी से बीजेपी में गुटबाजी और अंदरूनी कलह भी बढ़ने की आशंका जताई जा रही है।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो