scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Rajasthan Politics: 'मैं भी गहलोत जी से जादूगरी सीखूंगा', गजेन्द्र सिंह शेखावत ने बताया तीनों क्या बात कर रहे थे?

Rajasthan Politics: शपथ ग्रहण समारोह में अशोक गहलोत ने ऐसा क्या कहा होगा कि गजेन्द्र सिंह शेखावत और वसुंधरा राजे हंस दिए। जवाब मिल गया है...
Written by: Mohammad Qasim
Updated: December 17, 2023 18:21 IST
rajasthan politics   मैं भी गहलोत जी से जादूगरी सीखूंगा   गजेन्द्र सिंह शेखावत ने बताया तीनों क्या बात कर रहे थे
अशोक गहलोत, गजेन्द्र सिंह शेखावत और वसुंधरा राजे (फोटो : पीटीआई)
Advertisement

राजस्थान में नई सरकार बन गई है। भजनलाल शर्मा मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बैठ चुके हैं। इससे पहले सरकार के शपथ ग्रहण समारोह की कुछ तस्वीरें सोशल मीडिया पर काफी चर्चा में रहीं। दरअसल इन तस्वीरों में राजस्थान के तीन ऐसे नेता एक साथ नजर आ रहे थे जिन्हें विधानसभा चुनावों के दौरान एक दूसरे को लेकर तल्ख बयानी करते सुना गया था, लेकिन यहां माहौल दूसरा था, तीनों एक दूसरे से बातचीत करते दिखाई दिए, हंसते-मुसकुराते दिखाई दिए...ये तीन थे..अशोक गहलोत, गजेन्द्र सिंह शेखावत और वसुंधरा राजे। जब यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने लगा तो एक ही सवाल मन में आया कि आखिर बातचीत क्या रही होगी? अशोक गहलोत ने ऐसा क्या कहा होगा कि तीनों हंसते दिखाई दिए, इस सवाल के जवाब का पूरा नहीं लेकिन एक हिस्सा अब सामने आ गया है।

गजेन्द्र सिंह शेखावत ने क्या बताया?

केंद्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत और पूर्व सीएम अशोक गहलोत के बीच संजीवनी घोटाला मामले में काफी तल्खियां रही हैं। पूर्व सीएम गहलोत लगातार गजेन्द्र सिंह शेखावत पर घोटाले में शामिल होने आरोप लगाते रहे हैं। वसुंधरा राजे और अशोक गहलोत के बीच इस तरह का मामला तो नहीं लेकिन राजनीति बयानबाजी तो देखी ही गई है, हालांकि कहा यह भी जाता है कि दोनों नेताओं ने इतने सालों बारी-बारी से राजस्थान के मुख्यमंत्री पद को संभाला है और इस दौरान दोनों के बीच राजनीतिक नज़दीकियां भी रही हैं। जब यह तस्वीर सामने आई कि तीनों एक साथ बैठे हैं और बातें कर रहें हैं तो सवाल आया कि वे क्या बात कर रहे होंगे। आज जब गजेन्द्र सिंह शेखावत से मीडिया ने पूछा कि क्या बात हुई तो केंद्रीय मंत्री ने इस सवाल का जवाब दिया।

Advertisement

गजेन्द्र सिंह शेखावत ने कहा कि राजस्थान के कोई भी तीन लोग एक साथ बैठेंगे तो बातें भी होंगी, इसमें क्या है? केंद्रीय मंत्री ने कहा,"मनभेद नहीं होने चाहिए, मतभेद हो सकते हैं...हमारी विचारधाराएं अलग हैं, वह एक परिवार को खुश करने के लिए काम करते हैं और हम जनता को खुश करने का काम करते हैं, विचारधारा अलग हो सकती है लेकिन हम काम एक साथ करते हैं।

'मैं भी जादूगरी सीखने जाऊंगा'

गजेन्द्र सिंह शेखावत ने कहा,"मैं बहुत ईमानदारी से इस बात को स्वीकार करता हूं कि उन्होंने (अशोक गहलोत) ही चर्चा शुरू की और कहा कि आपका वो इंटरव्यू मैंने देखा था जिसमें आपने चाय पर आने की बात कही थी, आइए एक दिन बैठते हैं और चाय पिएंगे, मैंने कहा आपका 50 साल का राजनीतिक अनुभव है और मुझे बहुत सारी जादूगरी उनसे सीखनी भी है तो मैं जरूर जाऊंगा।"

Advertisement

Advertisement
Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो