scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

भाजपा से निष्कासित होते ही उस्मान गनी गिरफ्तार, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से जुड़ा है मामला

Usman Ghani Arrested: उस्मान गनी को इस सप्ताह के शुरू में पार्टी से निष्कासित कर दिया गया था।
Written by: न्यूज डेस्क
जयपुर | Updated: April 28, 2024 15:19 IST
भाजपा से निष्कासित होते ही उस्मान गनी गिरफ्तार  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से जुड़ा है मामला
Usman Ghani Arrested: उस्मान गनी ने पीएम मोदी की टिप्पणी की आलोचना की थी। (सोशल मीडिया)
Advertisement

Usman Ghani Arrested: राजस्थान पुलिस ने शनिवार को भारतीय जनता पार्टी अल्पसंख्यक मोर्चा के नेता उस्मान गनी को गिरफ्तार कर लिया। गनी को इस सप्ताह के शुरू में पार्टी से निष्कासित कर दिया गया था। बीकानेर के एक पुलिस स्टेशन में कथित तौर पर हंगामा करने और आरोप में शांति भंग करने के आरोप में गनी पर आपराधिक प्रक्रिया संहिता के निवारक गिरफ्तारी प्रावधानों के तहत मामला दर्ज किया गया था। बाद में उन्हें एक उप-विभागीय मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया।

गनी ने हाल ही में राजस्थान के बांसवाड़ा लोकसभा क्षेत्र में एक चुनावी रैली में "धन के पुनर्वितरण (Redistribution of Wealth)" पर प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की टिप्पणी की आलोचना करके सुर्खियां बटोरीं थी। भाजपा ने बुधवार को छवि खराब करने के आरोप में उन्हें पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से छह साल के लिए निष्कासित कर दिया।

Advertisement

नई दिल्ली में एक टेलीविजन समाचार चैनल से बात करते हुए गनी ने कहा था कि वह मोदी की टिप्पणियों से निराश हैं कि लोगों का धन छीनकर मुसलमानों को वितरित किया जा रहा है। उन्होंने कहा था कि जब मैं, एक भाजपा सदस्य के रूप में मुसलमानों से वोट मांगने जाता हूं, तो वे मुझसे पीएम की टिप्पणियों के बारे में पूछते हैं… मुझे शर्मिंदगी महसूस होती है। मैं मोदी को इस तरह न बोलने के अनुरोध के साथ पत्र लिखने जा रहा हूं।'

गनी पहले अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के सदस्य थे। 2005 में वो भाजपा में शामिल हो गए थे, और निष्कासन से पहले उन्होंने पार्टी के बीकानेर जिला अल्पसंख्यक मोर्चा प्रमुख के रूप में कार्य किया था।

वह एक शिकायत के सिलसिले में शनिवार को शहर के मुक्ता प्रसाद नगर पुलिस स्टेशन गए और कथित तौर पर पुलिस अधिकारियों के साथ उनकी बहस हो गई। पुलिस ने कहा कि गनी को सीआरपीसी की धारा 151 के तहत गिरफ्तार किया गया था, जब उन्होंने पुलिसकर्मियों के साथ लड़ाई की। उन्हें नियंत्रित करने के प्रयासों के बावजूद भी पीछे नहीं हटे।

Advertisement

भाजपा राज्य अल्पसंख्यक मोर्चा के अध्यक्ष हमीद खान मेवाती ने कहा कि गनी को अपनी नाराजगी का मुद्दा "उचित मंच" पर उठाना चाहिए था। उन्होंने कहा कि पार्टी के पदाधिकारी होने के बावजूद उन्होंने गलत मंच पर एक निश्चित मामले पर अपने असंतोष के बारे में बात की। यह कहना गलत है कि भाजपा शासन में मुसलमानों को निशाना बनाया जा रहा है… वे केंद्र सरकार की सभी योजनाओं से लाभान्वित हो रहे हैं।'

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
tlbr_img1 Shorts tlbr_img2 चुनाव tlbr_img3 LIVE TV tlbr_img4 फ़ोटो tlbr_img5 वीडियो