scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

छत्तीसगढ़ में रेवड़ी पॉलिटिक्स रिटर्न्स, केजरीवाल के 'FREE-FREE' वाले कई वादे, दिल्ली-पंजाब के बाद एक और राज्य में कांग्रेस के साथ खेल?

बड़ी बात ये है कि आम आदमी पार्टी ने जिन भी राज्यों में तेजी से अपना विस्तार किया है, वहां पर कांग्रेस बनाम बीजेपी का मुकाबला रहा है। अभी तक का चुनावी अनुभव बताता है कि आम आदमी पार्टी ने सबसे ज्यादा अपनी ग्रोथ से कांग्रेस को नुकसान पहुंचाया है।
Written by: Sudhanshu Maheshwari | Edited By: Sudhanshu Maheshwari
Updated: August 19, 2023 18:56 IST
छत्तीसगढ़ में रेवड़ी पॉलिटिक्स रिटर्न्स  केजरीवाल के  free free  वाले कई वादे  दिल्ली पंजाब के बाद एक और राज्य में कांग्रेस के साथ खेल
आप संयोजक अरविंद केजरीवाल
Advertisement

छत्तीसगढ़ चुनाव में इस बार आम आदमी पार्टी भी पूरी ताकत के साथ उतरने जा रही है। आप संयोजक अरविंद केजरीवाल खुद जमीन पर उतर जबरदस्त मेहनत कर रहे हैं। इसी वजह से पांच महीने में तीसरी बार उनकी तरफ से राज्य का दौरा किया गया है। बड़ी बात ये है कि इस दौरे के दौरान केजरीवाल ने आम आदमी पार्टी की चुनावी रणनीति के बारे में काफी कुछ बता दिया है।

10 गारंटियां किसका बिगाड़ेंगी खेल?

दिल्ली-पंजाब के बाद अरविंद केजरीवाल की तरफ से छत्तीसगढ़ की जनता के सामने भी कई गारंटियों का ऐलान कर दिया गया है। जोर देकर कहा गया है कि अगर उन्हें एक बार सेवा करने का मौका दिया जाएगा तो जनता दूसरी तमाम पार्टियों को भूल जाएगी। अब जानकारी के लिए बता दें कि शनिवार को सीएम अरविंद केजरीवाल रायपुर पहुंचे थे। उनकी तरफ से एक जनसभा को संबोधित किया गया और कुल 10 गारंटियों का ऐलान भी किया गया।

Advertisement

10 गारंटियों में अरविंद केजरीवाल ने ऐलान किया कि 300 यूनिट तक मुफ्त बिजली दी जाएगी, सरकारी अस्पतालों में मुफ्त इलाज करवाया जाएगा, हर जगह मोहल्ला क्लिनिक खोले जाएंगे, बेरोजगारों को 3 हजार रुपये का भत्ता दिया जाएगा, बुजुर्गों को मुफ्त तीर्थ यात्रा, 18 साल से अधिक उम्र की महिलाओं को हर महीने 1000 रुपये देने की बात। अब ये सारे वो वादे हैं जो अरविंद केजरीवाल ने पंजाब में भी किए थे। उनकी तरफ से ऐसा ही वादों का पिटारा गुजरात में भी खोला गया था।

कांग्रेस के लिए बड़ी टेंशन क्यों?

बड़ी बात ये है कि आम आदमी पार्टी ने जिन भी राज्यों में तेजी से अपना विस्तार किया है, वहां पर कांग्रेस बनाम बीजेपी का मुकाबला रहा है। अभी तक का चुनावी अनुभव बताता है कि आम आदमी पार्टी ने सबसे ज्यादा अपनी ग्रोथ से कांग्रेस को नुकसान पहुंचाया है। ये सियासी नुकसान इतना बड़ा रहा है कि पहले दिल्ली में सत्ता गंवाई गई, वहीं बाद में पंजाब में भी सत्ता गंवानी पड़ गई। यहां ये समझना जरूरी है कि आम आदमी पार्टी और कांग्रेस का वोटबैंक काफी समान है। दोनों मुसलमान, गरीब, ब्रह्माण पर ज्यादा फोकस जमाते हैं। इसी वजह से जब भी किसी राज्य में आम आदमी पार्टी की एंट्री होती है, कांग्रेस की मुश्किलें ज्यादा बड़ी मानी जाती है।

Advertisement

ये अलग बात है कि छत्तीगढ़ में पिछले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस का ऐतिहासिक प्रदर्शन रहा था। वहीं आम आदमी पार्टी ने तो 85 सीटों पर उम्मीदवार उतारकर भी अपनी टैली शून्य रखी। इसी वजह से इस बार मुकाबला और ज्यादा दिलचस्प बन गया है, कह सकते हैं कि त्रिकोणीय बन गया है।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो