scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

दुबई एयरपोर्ट के फर्श पर सो रहे, न खाने-पीने का इंतजाम, एशियाई ओलंपिक क्वालिफायर खेलने जा रहे दीपक पूनिया और सुजीत कलकल का बुरा हाल

दीपक पूनिया और सुजीत कलकल अपने कोच और फिजियो के साथ पिछले दो दिनों से दुबई एयरपोर्ट पर फंसे हुए हैं। उन्हें पर्याप्त भोजन भी नहीं मिल पा रहा है। दुबई में बाढ़ के कारण उड़ानें रद्द कर दी गई हैं। शुक्रवार 19 अप्रैल को बिश्केक में उनका मुकाबला है।
Written by: मिहिर वी. | Edited By: ALOK SRIVASTAVA
Updated: April 18, 2024 18:00 IST
दुबई एयरपोर्ट के फर्श पर सो रहे  न खाने पीने का इंतजाम  एशियाई ओलंपिक क्वालिफायर खेलने जा रहे दीपक पूनिया और सुजीत कलकल का बुरा हाल
सुजीत कलकल और दीपक पूनिया। (सोर्स- पीटीआई/एएनआई)
Advertisement

पेरिस ओलंपिक में भारत की पदक की उम्मीद दीपक पूनिया और साथी पहलवान सुजीत कलकल रिकॉर्ड बारिश के कारण बाढ़ आने की वजह से मंगलवार 16 अप्रैल से दुबई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर फंसे हुए हैं। इस स्थिति ने बिश्केक (किर्गिस्तान) में होने वाले एशियाई ओलंपिक क्वालिफाइंग टूर्नामेंट में दोनों की भागीदारी पर संकट के बादल खड़े कर दिए हैं।

दीपक पूनिया सुजीत कलकल के मुकाबले शुक्रवार 19 अप्रैल 2024 को स्थानीय समयानुसार सुबह 8 बजे से होने हैं। दीपक पूनिया 86 किलोग्राम वर्ग में प्रतिस्पर्धा करते हैं। सुजीत कलकल 65 किलोग्राम भार वर्ग के पहलवान हैं। दोनों के साथ उनके रूसी कोच कमल मलिकोव और फिजियो शुभम गुप्ता भी हैं।

Advertisement

इंडियन एक्सप्रेस ने सुजीत कलकल के पिता दयानंद के हवाले से लिखा, ‘पहलवान दुबई से देर रात की उड़ान पाने की उम्मीद कर रहे हैं। यदि उन्हें देर रात फ्लाइट मिल जाती है तभी वह स्थानीय समयानुसार सुबह लगभग 4:30 बजे बिश्केक पहुंच पाएंगे।’

दयानंद कलकल के मुताबिक, तब वे सुबह 8 बजे वेट-इन (मुकाबले से पहले पहलवानों का भार किया जाता है जो प्रतियोगिता का अहम हिस्सा है) के लिए उपस्थित हो पाएंगे। बाद में दिन में अपने मुकाबलों में हिस्सा ले पाएंगे, लेकिन यह एक तनावपूर्ण स्थिति है। मैं उनकी कुशलता को लेकर बहुत चिंतित हूं।

दयानंद ने बताया, ‘भले ही वे क्वालिफायर के लिए समय पर पहुंच जाएं, लेकिन मुझे चिंता इस बात की है कि दीपक पूनिया और सुजीत मुकाबले के लिए शारीरिक और मानसिक रूप से तैयार होंगे। अभी वे टर्मिनल के फर्श पर सो रहे हैं। उन्हें उचित भोजन भी नहीं मिल रहा है। वे एक भयानक स्थिति में हैं।’

Advertisement

दरअसल, दीपक पूनिया और सुजीत कलकल दोनों 2 से 15 अप्रैल तक रूस के दागेस्तान में प्रशिक्षण ले रहे थे। उन्होंने 16 अप्रैल को दुबई के रास्ते मकाचकाला से बिश्केक के लिए उड़ान भरी। इस फ्लाइट की बुकिंग भारतीय कुश्ती महासंघ (डब्ल्यूएफआई) की ओर से की गई थी। वहीं, विनेश फोगट समेत अन्य भारतीय पहलवान दिल्ली से सीधे बिश्केक के लिए रवाना हुए।

Advertisement

दीपक पूनिया टोक्यो ओलंपिक खेलों में कांस्य पदक से चूक गए थे। वह बिश्केक में होने वाले टूर्नामेंट से पेरिस ओलंपिक के लिए क्वालिफिकेशन कोटा हासिल करने के सबसे बड़े दावेदारों में से एक हैं। सुजीत कलकल के लिए यह पहला बड़ा टूर्नामेंट है। उन्होंने अपने भार वर्ग में कटौती की है। अब वह जिस वेट कैटेगरी में हैं, उसी भार वर्ग में बजरंग पूनिया ने टोक्यो ओलंपिक में कांस्य पदक जीता था।

भारी बारिश के कारण दुबई हवाई अड्डे पर परिचालन गंभीर रूप से बाधित हो गया है। इससे एमीरेट्स की फ्लाइट भी प्रभावित हुईं हैं। यूएई सरकार के अनुसार, देश में 75 वर्षों में सबसे अधिक बारिश हुई। मंगलवार को 259.5 मिमी तक बारिश हुई थी। बीबीसी के अनुसार, अब तक लगभग 300 उड़ानें रद्द कर दी गई हैं और सैकड़ों उड़ानों में देरी हुई है।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो