scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

भारत की दीप्ति जीवनजी ने जापान में रचा इतिहास; पैरा विश्व चैंपियनशिप में देश को दिलाया पहला ट्रैक गोल्ड मेडल, कटाया पेरिस का टिकट

दीप्ति जीवनजी ने जापान के कोबे में विश्व पैरा एथलेटिक्स चैंपियनशिप 2024 में भारत के लिए पहला स्वर्ण पदक जीता। दीप्ति जीवनजी ने सोमवार 20 मई 2024 को महिला T20 400 मीटर स्पर्धा में विश्व रिकॉर्ड बनाया।
Written by: खेल डेस्‍क | Edited By: ALOK SRIVASTAVA
Updated: May 21, 2024 12:52 IST
भारत की दीप्ति जीवनजी ने जापान में रचा इतिहास  पैरा विश्व चैंपियनशिप में देश को दिलाया पहला ट्रैक गोल्ड मेडल  कटाया पेरिस का टिकट
जापान के कोबे में विश्व पैराएथलेटिक्स चैंपियनशिप के दौरान महिलाओं की 400 मीटर T20 फाइनल के दौरान फिनिश लाइन पार करती हुईं भारत की दीप्ति जीवनजी। उन्होंने 55.07 सेकंड के वर्ल्ड रिकॉर्ड के साथ स्वर्ण पदक जीता। (स्क्रीनग्रैब)
Advertisement

भारत की दीप्ति जीवनजी ने जापान के कोबे में 20 मई 2024 को विश्व पैरा एथलेटिक्स चैंपियनशिप में महिलाओं की 400 मीटर T20 रेस में 55.07 सेकंड के विश्व रिकॉर्ड के साथ स्वर्ण पदक जीता। दीप्ति जीवनजी ने इसके साथ ही पेरिस में ओलंपिक के बाद होने वाले पैरालंपिक खेलों के लिए भी कोटा हासिल किया। पैरा विश्व चैंपियनशिप की ट्रैक स्पर्धा में भारत के किसी एथलीट ने पहली बार गोल्ड मेडल जीता है।

Advertisement

दिन के 150 रुपये कमाने वाले पिता को मिली थी बेटी को अनाथालय भेजने की सलाह, दुनिया कहती थी पागल और बंदर; 7 समंदर पार इतिहास रच दीप्ति जीवनजी ने दिया जवाब

Advertisement

दीप्ति जीवनजी ने अमेरिका की ब्रियाना क्लार्क का 55.12 सेकंड का विश्व रिकॉर्ड तोड़ा। ब्रियाना क्लार्क ने पिछले साल पेरिस में 55.12 सेकंड का समय निकाला था। तुर्की की एसिल ओंडेर 55.19 सेकंड के साथ दूसरे स्थान पर रहीं, जबकि एक्वाडोर की लिजांशेला एंगुलो 56.68 सेकंड के समय के साथ तीसरे स्थान पर रहीं।

world para athletic champuionship 2024, deepthi jeevanji, paris 2024 paralympics,
जापान के कोबे में विश्व पैराएथलेटिक्स चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीतने के बाद भारत की दीप्ति जीवनजी।

इससे पहले दीप्ति जीवनजी ने रविवार 19 मई 2024 को 56.18 सेकेंड (हीट रेस) के समय के साथ नया एशियाई रिकॉर्ड बनाते हुए फाइनल के लिए क्वालिफाई किया और पेरिस 2024 पैरालंपिक कोटा हासिल किया। टी20 वर्ग की रेस बौद्धिक रूप से अक्षम खिलाड़ियों के लिए है।

एशियन पैरा गेम्स में भी जीता था गोल्ड मेडल

दीप्ति जीवनजी ने एशियन पैरा गेम्स 2023 में महिलाओं की 400 मीटर T20 स्पर्धा में स्वर्ण पदक (56.69 सेकंड) जीतकर शानदार प्रदर्शन किया था। तब उन्होंने थाइलैंड की ओरावन कैसिंग को पछाड़कर शीर्ष पोडियम स्थान हासिल किया था। ओरावन कैसिंग ने 59.00 सेकेंड का अपना व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ समय निकाला था, फिर भी उन्हें रजत पदक से संतोष करना पड़ा था।

Advertisement

योगेश कथुनिया ने पुरुषों के F 56 वर्ग चक्का फेंक में 41.80 मीटर के साथ रजत पदक जीता। F56 श्रेणी उन एथलीट्स के लिए है जो मैदानी स्पर्धाओं में बैठकर प्रतिस्पर्धा करते हैं। इस वर्ग में विभिन्न एथलीट प्रतिस्पर्धा करते हैं, जिनमें अंग-विच्छेदन और रीढ़ की हड्डी की चोट वाले लोग भी शामिल हैं।

Advertisement

भारत ने जीते अब तक 4 पदक

इससे पहले पैरा एथलेटिक्स विश्व चैंपियनशिप 2024 में भारत की प्रीति पाल ने महिलाओं की 200 मीटर T35 श्रेणी में कांस्य पदक जीता। भारत ने विश्व पैरा एथलेटिक्स चैंपियनशिप 2024 में अब तक एक स्वर्ण, एक रजत और दो कांस्य पदक जीते हैं।

विश्व पैरा एथलेटिक्स चैंपियनशिप के पिछले संस्करण में भारत ने तीन स्वर्ण, चार रजत और तीन कांस्य समेत रिकॉर्ड 10 पदक जीते थे। विश्व पैरा एथलेटिक्स चैंपियनशिप 25 मई 2024 तक चलेगी।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
×
tlbr_img1 Shorts tlbr_img2 खेल tlbr_img3 LIVE TV tlbr_img4 फ़ोटो tlbr_img5 वीडियो