scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

वैलेंटाइन डे पर गर्लफ्रेंड की हत्या करने वाले पैरालंपिक गोल्ड मेडलिस्ट को मिली पैरोल, शराब पीने समेत इन चीजों पर रहेगा बैन

जन्मजात बीमारी के कारण पिस्टोरियस के दोनों पैर घुटने के नीचे से काट दिए गए थे। वह कार्बन-फाइबर रनिंग ब्लेड्स की मदद से दौड़ते थे और 2012 लंदन ओलंपिक में हिस्सा लेकर इतिहास रच दिया था।
Written by: खेल डेस्‍क | Edited By: ALOK SRIVASTAVA
Updated: January 05, 2024 20:03 IST
वैलेंटाइन डे पर गर्लफ्रेंड की हत्या करने वाले पैरालंपिक गोल्ड मेडलिस्ट को मिली पैरोल  शराब पीने समेत इन चीजों पर रहेगा बैन
दक्षिण अफ्रीका के प्रिटोरिया में शुक्रवार 5 जनवरी 2024 को प्रिटोरिया सुधार सेवा विभाग के मुख्यालय में बड़ी संख्या में पुलिस मौजूद थी। दरअसल, गर्लफ्रेंड की हत्या के दोषी ऑस्कर पिस्टोरियस को पैरोल मिली है। प्रिटोरियस को पुलिस की निगरानी में ही घर तक पहुंचाया गया। (सोर्स- एपी फोटो)
Advertisement

दक्षिण अफ्रीका के एथलीट ऑस्कर पिस्टोरियस को पैरोल पर जेल से रिहा कर दिया गया है। अब वह घर पर है। दक्षिण अफ्रीका के सुधार विभाग ने शुक्रवार 5 जनवरी 2023 को यह जानकारी दी। सुधार विभाग ने पैरालंपिक चैंपियन पिस्टोरियस की रिहाई के बारे में अधिक जानकारी नहीं दी। घोषणा सुबह 8:30 बजे की गई।

पिस्टोरियस के नहीं हैं दोनों पैर

पिस्टोरियस के दोनों पैर नहीं हैं। वह कृत्रिम पैरों के सहारे दौड़ते हैं। पिस्टोरियस ने 2013 में वेलेंटाइन डे के दिन अपनी प्रेमिका और मॉडल रीवा स्टीनकैंप की हत्या कर दी थी। इस अपराध के लिए पिस्टोरियस को 13 साल और 5 महीने की सजा मिली थी। पिस्टोरियस ने इसमें से लगभग नौ साल की सजा काट ली है। पिस्टोरियस को नवंबर 2023 में पैरोल देने को मंजूरी दी गई थी।

Advertisement

दक्षिण अफ्रीका में गंभीर अपराध करने वाले अपनी कम से कम आधी सजा काटने के बाद पैरोल के पात्र होते हैं। सुधार विभाग ने पिस्टोरियस की रिहाई की घोषणा पर कहा, हम ‘यह पुष्टि करने में सक्षम हैं कि ऑस्कर पिस्टोरियस पांच जनवरी 2024 से प्रभावी रूप से पैरोल पर हैं। पिस्टोरियस को सामुदायिक सुधार प्रणाली में रखा गया था और अब वह घर पर हैं।’

सजा पूरी होने तक पैरोल पर रहेंगे पिस्टोरियस

ऑस्कर पिस्टोरियस दिसंबर 2029 में शेष सजा समाप्त होने तक सख्त शर्तों के तहत पैरोल पर रहेंगे। पिस्टोरियस के शुरू में प्रिटोरिया के वाटरक्लूफ में अपने चाचा के घर पर रहने की उम्मीद थी। उनके चाचा के घर के बाहर पुलिस की एक वैन भी खड़ी देखी गई थी।

इन शर्तों के साथ मिली है पैरोल

सुधार विभाग ने इस बात पर जोर दिया है कि पैरोल पर हर दूसरे अपराधी की तरह पैरालंपिक चैंपियन की रिहाई का मतलब यह नहीं है कि उसने अपनी सजा काट ली है। पिस्टोरियस की पैरोल की कुछ शर्तों में घर छोड़ने की अनुमति पर प्रतिबंध, शराब पीने पर प्रतिबंध शामिल है। साथ ही पिस्टोरियस को क्रोध प्रबंधन और महिलाओं के खिलाफ हिंसा पर कार्यक्रमों में हिस्सा लेना चाहिए। उसे सामुदायिक सेवा करनी होगी।

Advertisement

पिस्टोरियस को अपने घर और सुधारात्मक सेवा कार्यालयों में पैरोल अधिकारियों से भी नियमित रूप से मिलना होगा। इस दौरान अधिकारी कभी भी उसके घर पर आ सकते हैं। पिस्टोरियस को अनुमति के बिना वॉटरक्लूफ छोड़ने की मंजूरी नही हैं। सजा खत्म होने तक पिस्टोरियस के मीडिया से बात करने पर भी प्रतिबंध लगाया गया है। यदि वह पैरोल की किसी भी शर्त का उल्लंघन करता है तो उसे फिर से जेल भेजा जा सकता है।

Advertisement

सुधार विभाग के अधिकारियों ने कहा कि दक्षिण अफ्रीका पैरोल पर छूटे अपराधियों को टैग या ब्रेसलेट का इस्तेमाल करने की मंजूरी नहीं देता है, इसलिए पिस्टोरियस कोई निगरानी उपकरण नहीं पहनेंगे। लेकिन विभाग का एक अधिकारी उस पर लगातार नजर रखेगा। उसे अपने जीवन में किसी भी बड़े बदलाव के बारे में अधिकारी को सूचित करना होगा। उदाहरण के तौर पर, क्या वह नौकरी करना चाहता है या दूसरे घर में जाना चाहता है।

कई गोलियां मारकर की थी गर्लफ्रेंड की हत्या

पिस्टोरियस ने 14 फरवरी 2013 को तड़के शौचालय के दरवाजे से कई गोलियां मारकर स्टीनकैंप की हत्या कर दी थी। रीवा स्टीनकैंप के परिवार ने पिस्टोरियस की पैरोल अर्जी का विरोध नहीं किया। हालांकि, रीवा की मां जून स्टीनकैंप ने पैरोल बोर्ड को दिए बयान में कहा कि उन्हें विश्वास नहीं था कि पिस्टोरियस का पूरी तरह से पुनर्वास किया गया था। वह अब भी हत्या के बारे में झूठ बोल रहा था।

गर्लफ्रेंड की मां ने नहीं जताई आपत्ति

जून स्टीनकैंप ने 5 जनवरी 2023 को एक बयान में कहा कि उन्होंने दक्षिण अफ्रीकी कानून के तहत पिस्टोरियस की पैरोल अर्जी पर आपत्ति नहीं है।जून स्टीनकैंप ने कहा, ‘क्या रीवा को न्याय मिला है? क्या ऑस्कर ने पर्याप्त समय जेल में बिताया है? यदि आपका प्रियजन कभी लौट नहीं रहा है तो कभी भी न्याय नहीं हो सकता है, कितना भी समय जेल में बीते पर रीवा वापस नहीं आएगी।’

उन्होंने कहा, ‘हम जो पीछे रह गए हैं वे आजीवन कारावास की सजा काट रहे हैं। ऑस्कर पिस्टोरियस की पैरोल पर रिहाई के साथ, मेरी एकमात्र इच्छा यह है कि मुझे रीवा की विरासत को जारी रखने के लिए रीवा रेबेका स्टीनकैंप फाउंडेशन पर अपना ध्यान केंद्रित करना है। मुझे उम्मीद है कि जीवन के अंतिम वर्षों में मैं शांति से जी पाऊंगी।’

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो