scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Badminton Asia Team Championship: भारत की बेटियों ने रचा इतिहास, जापान को 3-2 से हरा पहली बार फाइनल में टीम इंडिया

बैडमिंटन एशिया चैंपियनशिप के सेमीफाइनल में भारत ने जापान को 3-2 से हरा दिया। इसी के साथ भारत पहली बार इस चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचा है।
Written by: खेल डेस्‍क | Edited By: kapiltiwari
Updated: February 17, 2024 15:30 IST
badminton asia team championship  भारत की बेटियों ने रचा इतिहास  जापान को 3 2 से हरा पहली बार फाइनल में टीम इंडिया
बैडमिंटन एशिया चैंपियनशिप के सेमीफाइनल में भारत ने जापान को 3-2 से हरा दिया। फोटो सोर्स- @India_AllSports
Advertisement

बैडमिंटन एशिया चैंपियनशिप में भारत की बेटियों ने इतिहास रच दिया। शनिवार को खेले गए सेमीफाइनल मुकाबले में भारत ने दो बार के चैंपियन जापान को 3-2 से मात दी। इसके साथ ही भारतीय टीम पहली बार फाइनल में जगह बनाने में कामयाब रही। यह पहला मौका है जब भारत की कोई टीम इस चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंची है। सेमीफाइनल मुकाबले में जीत का बड़ा श्रेय टीम के युवा खिलाड़ियों को जाता है।

जापान से आसान नहीं था मुकाबला

मलेशिया में खेली जा रही इस चैंपियनशिप में भारतीय महिला टीम ने रोमांचक सेमीफाइनल में दो बार की पूर्व चैम्पियन जापान को 3-2 से हरा दिया। जापान की टीम अकाने यामागुची (दुनिया की चौथे नंबर की खिलाड़ी), युकी फुकुशिमा और सयाका हिरोटा (दुनिया की सातवें नंबर की जोड़ी) तथा मायु मातसुमोटो और वाकाना नागाहारा (दुनिया की आठवें नंबर की जोड़ी) के बिना खेल रही थी। लेकिन इसके बावजूद मजबूत टीम थी और उसने भारत के सामने कड़ी चुनौती पेश की।

Advertisement

पीवी सिंधु हारीं पहला मैच

चोट के कारण लंबे समय बाद वापसी कर रही पीवी सिंधु हालांकि पहले सिंगल्स में अया ओहोरी के खिलाफ जीत दर्ज नहीं कर सकी और 13-21, 20-22 से हार गयीं। तृषा और गायत्री ने पहले युगल में शानदार प्रदर्शन किया और नामी मातसुयामा और चिहारू शिडा की दुनिया की छठे नंबर की जोड़ी पर 73 मिनट में 21-17, 16-21, 22-20 की जीत से भारत को 1-1 की बराबरी पर ला दिया। अस्मिता ने फिर पूर्व विश्व चैम्पियन नोजोमी ओकुहारा (20वीं रैंकिंग) के खिलाफ आक्रामक खेल दिखाया।

सिंधु ने अश्विनी के साथ खेला डबल्स मुकाबला

इस भारतीय ने अपने क्रास शॉट और स्मैश का बखूबी इस्तेमाल कर 21-17, 21-14 से उलटफेर भरी जीत से भारत को 2-1 से आगे कर दिया। तनीषा क्रास्टो को चोट लगी है, जिससे सिंधु ने अश्विनी पोनप्पा के साथ जोड़ी बनायी लेकिन वे रेना मियायूरा और अयाको साकुरामोटो की दुनिया की 11वें नंबर की जोड़ी की बाधा पार नहीं कर सकी और 43 मिनट में 14-21 11-21 से हार गयीं। अब दोनों टीमें 2-2 की बराबरी पर थीं।

अनमोल खरब ने जिताया निर्णायक मुकाबला

अनमोल को दुनिया की 29वें की खिलाड़ी नातसुकी निडायरा को हराने की जिम्मेदारी सौंपी गयी और इस भारतीय ने भी उम्मीदों के अनुरूप 52 मिनट में 21-14, 21-18 से जीत दर्ज कर भारत को पहली बार फाइनल में पहुंचाया। भारत अब इस महाद्वीपीय चैम्पियनशिप में पहला स्वर्ण पदक जीतने की कोशिश करेगा।

Advertisement

Advertisement
Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो