scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

आनंद महिंद्रा ने खाई कभी भी शिकायत न करने की कसम, बिना हाथों वाली गोल्ड मेडलिस्ट तीरंदाज शीतल का Video देख हुए भावुक

महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा आमतौर पर उन व्यक्तियों के समर्थन के लिए जाने जाते हैं जो जीवन में असाधारण प्रतिभा और दृढ़ता का प्रदर्शन करते हैं।
Written by: खेल डेस्‍क | Edited By: ALOK SRIVASTAVA
Updated: October 29, 2023 10:37 IST
आनंद महिंद्रा ने खाई कभी भी शिकायत न करने की कसम  बिना हाथों वाली गोल्ड मेडलिस्ट तीरंदाज शीतल का video देख हुए भावुक
भारत की शीतल देवी ने शुक्रवार 27 अक्टूबर 2023 को चीन के हांगझू में चौथे एशियाई पैरा खेलों में तीरंदाजी में स्वर्ण पदक जीता। उनकी प्रतिभा से बिजनेस टाइकून आनंद महिंद्रा बहुत प्रभावित हुए। (सोर्स- पीटीआई/एएनआई फोटो)
Advertisement

महिंद्रा ग्रुप (Mahindra Group) के चेयरमैन आनंद महिंद्रा (Anand Mahindra) आमतौर पर उन व्यक्तियों के समर्थन के लिए जाने जाते हैं जो जीवन में असाधारण प्रतिभा और दृढ़ता का प्रदर्शन करते हैं। हालिया उदाहरण में बिजनेस टाइकून (Business Tycoon) आनंद महिंद्रा ने असाधारण शीतल देवी (Sheetal Devi) के प्रति हार्दिक संवेदना जाहिर की। तीरंदाज शीतल देवी ने हाल ही में खत्म हुए चौथे एशियाई पैरा खेलों (Asian Para Games) में भारत के लिए गोल्ड और सिल्वर मेडल जीते। खास यह है कि उनके दोनों हाथ नहीं हैं। उन्होंने मुंह और पैरों की मदद से अपने लक्ष्य पर निशाना साधा।

आनंद महिंद्रा ने चीन के हांगझू में हुए एशियन पैरा गेम्स (Asian Para Games) में भारतीय तीरंदाज 16 साल की शीतल देवी को स्वर्ण पदक जीतने वाला वीडियो देखा। वह शीतल के अदम्य साहस से बहुत प्रभावित हुए। उन्होंने एक्स (जिसे पहले ट्विटर के नाम से जाना जाता था) पर भविष्य में कभी भी छोटी-मोटी चुनौतियों को लेकर शिकायत नहीं करने की कसम खाई। उन्होंने शीतल को सभी के लिए मार्गदर्शक बताया।

Advertisement

छोटी-मोटी समस्या होने पर कभी शिकायत नहीं करेंगे आनंद महिंद्रा

आनंद महिंद्रा ने अपनी पोस्ट में लिखा, ‘मैं अपने जीवन में कभी भी छोटी-मोटी समस्याओं के बारे में शिकायत नहीं करूंगा। शीतल देवी आप हम सभी के लिए एक शिक्षक हैं। कृपया हमारी श्रेणी (महिंद्रा ग्रुप) में से कोई भी कार चुनें। हम इसे आपके इस्तेमाल करने लायक तैयार करेंगे और आपको उपहार में देंगे।’

शीतल ने मिक्स्ड तीरंदाजी में जीता गोल्ड मेडल

शीतल देवी ने शुक्रवार 27 अक्टूबर को हांगझू एशियन पैरा गेम्स में राकेश कुमार के साथ मिलकर मिक्स्ड टीम कंपाउंड तीरंदाजी स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता था। इससे एक दिन पहले शीतल ने सरिता के साथ मिलकर महिला युगल तीरंदाजी का रजत पदक अपने नाम किया था। शीतल की सफलता के शिखर तक की यात्रा दुर्गम बाधाओं से भरी है।

शीतल का साहस और दृढ़ता आत्मा की शक्ति का प्रमाण है। अपनी शारीरिक कमियों पर काबू पाते हुए शीतल ने खेलों में इतिहास रच दिया। शीतल देवी का जन्म फोकोमेलिया के साथ हुआ था। यह एक दुर्लभ जन्मजात विकार है जिसके कारण अंग अविकसित होते हैं। वह अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रतिस्पर्धा करने और पदक जीतने वाली बिना हाथों वाली पहली महिला तीरंदाज हैं।

Advertisement

Advertisement
Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो