scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

AIFF ने दीपक शर्मा को किया सस्पेंड, महिला फुटबॉल खिलाड़ियों के साथ मारपीट का लगा है आरोप

अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ की कार्यकारी समिति के सदस्य दीपक शर्मा को गोवा पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया गया। उन पर धारा 323, 341 और 354ए के तहत केस दर्ज किया गया है।
Written by: खेल डेस्‍क | Edited By: Tanisk Tomar
नई दिल्ली | Updated: April 02, 2024 17:00 IST
aiff ने दीपक शर्मा को किया सस्पेंड  महिला फुटबॉल खिलाड़ियों के साथ मारपीट का लगा है आरोप
दीपक शर्मा।
Advertisement

अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ (AIFF) ने मंगलवार (2 अप्रैल) को गोवा में इंडियन वुमेंस लीग 2 के लिए के दौरान एक क्लब की दो महिला फुटबॉलर्स के साथ कथित तौर पर मारपीट और दुर्व्यवहार करने के आरोप में दीपक शर्मा को निलंबित कर दिया है। दीपक, महासंघ की कार्यकारी समिति के सदस्य हैं। भारतीय महिला फुटबॉल (IWL) लीग के सेकेंड डिवीजन में भाग ले रही हिमाचल प्रदेश स्थित खाद एफसी की दो फुटबॉल खिलाड़ियों ने आरोप लगाया है कि क्लब के मालिक शर्मा ने 28 मार्च की रात को उनके कमरे में घुसकर उनके साथ मारपीट की थी।

एआईएफएफ ने बयान में कहा, " एआईएफएफ कार्यकारी समिति ने दीपक शर्मा को अगली सूचना तक फुटबॉल से संबंधित किसी भी गतिविधि में हिस्सा लेने से निलंबित करने का निर्णय लिया है।" गोवा पुलिस ने शनिवार को दीपक शर्मा को गिरफ्तार कर लिया। उनके खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 323 (जानबूझकर चोट पहुंचाना), 341 (गलत तरीके से रोकना) और 354ए (यौन उत्पीड़न) के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है।

Advertisement

मारपीट का आरोप

द इंडियन एक्सप्रेस को प्राप्त एआईएफएफ को लिखे शिकायत पत्र में दोनों महिलाओं ने आरोप लगाया कि इंडियन वुमेंस लीग के दूसरे डिवीजन में एक मैच के बाद वे अपने एकमोडेशन पर लौट आईं और रात का खाना खत्म होने पर अंडे उबाल रही थीं। लड़कियों ने आरोप लगाया कि दीपक शर्मा नशे की हालत में थे। वह कमरे में घुस आए और उनके साथ मारपीट की।

दीपक शर्मा पर बड़ा आरोप

पत्र में कहा गया है कि हिमाचल से दिल्ली की यात्रा के दौरान दीपक शर्मा, लड़कियों के सामने शराब पी रहे थे और गोवा में भी उन्होंने ऐसा करना जारी रखा। मंगलवार को एआईएफएफ ने घटना की जांच के लिए 30 मार्च को गठित तीन सदस्यीय समिति को भी भंग कर दिया। इसके बजाय मामले को अपनी अनुशासनात्मक समिति को सौंप दिया। एआईएफएफ के अध्यक्ष कलयाण चौबे ने कहा, " एआईएफएफ एक सुरक्षित और सक्षम वातावरण में महिला फुटबॉल को बढ़ावा देने के लिए प्रतिबद्ध है और यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाएगा। मामला अब अनुशासनात्मक समिति को भेज दिया गया है और इस पर तत्काल रूप से विचार किया जाएगा।"

Advertisement

Advertisement
Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो