scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Kosi Bridge Collapse: कोसी नदी पर बन रहे पुल का हिस्सा गिरा, हादसे में 1 मजदूर ने गवाई जान

Kosi Bridge Collapse: मधुबनी और सुपौल के बीच बकौर पुल का निर्माण किया जा रहा है. यह देश का सर्वाधिक लंबा पुल है. इसे भारत माला प्रोजेक्ट के तहत बनाया जा रहा है. इस पुल में कुल 171 पिलर बन रहे हैं. जिसमें डेढ़ सौ से ज्यादा पिलर का निर्माण हो चुका है. यह पुल 10.5 किलोमीटर लंबा है. इसकी निर्माण की लागत करीब 1200 करोड़ रुपए है. पुल कोसी नदी पर बन रहा है और इसकी लागत 984 करोड़ बताई जा रही है. इस महापुल के बनने से पुल सुपौल और मधुबनी के बीच की दूरी सिमटकर 30 किलोमीटर की रह जाएगी. इस पुल के न होने पर बरसात में संपर्क कट जाता था. यही नहीं 100 किलोमीटर की दूरी भी बढ़ जाती थी. बिहार में पुल गिरने का ये सिलसिला कोई नया नहीं हैं. इससे पहले भी पुल गिरने के हादसे हो चुके हैं. स्थानीय लोगों का कहना है कि हमलोगों ने पुल निर्माण कंपनी के इंजीनियर को कई बार कहा कि गुणवत्ता ठीक नहीं है . लेकिन, उनलोगों न एक नहीं सुनी। नतीजा आज सबके सामने है. वहीं सुपौल के जिलाधिकारी ने मामले की जांच की बात कही है . सदर एसडीएम इंद्रवीर कुमार ने कहा कि मधुबनी के भेजा से क्रेन आ रही है.
Written by: Oohini Mukhopadhyay
Updated: March 23, 2024 10:58 IST
Advertisement

Kosi Bridge Collapse: मधुबनी और सुपौल के बीच बकौर पुल का निर्माण किया जा रहा है. यह देश का सर्वाधिक लंबा पुल है. इसे भारत माला प्रोजेक्ट के तहत बनाया जा रहा है. इस पुल में कुल 171 पिलर बन रहे हैं. जिसमें डेढ़ सौ से ज्यादा पिलर का निर्माण हो चुका है. यह पुल 10.5 किलोमीटर लंबा है. इसकी निर्माण की लागत करीब 1200 करोड़ रुपए है. पुल कोसी नदी पर बन रहा है और इसकी लागत 984 करोड़ बताई जा रही है. इस महापुल के बनने से पुल सुपौल और मधुबनी के बीच की दूरी सिमटकर 30 किलोमीटर की रह जाएगी. इस पुल के न होने पर बरसात में संपर्क कट जाता था. यही नहीं 100 किलोमीटर की दूरी भी बढ़ जाती थी. बिहार में पुल गिरने का ये सिलसिला कोई नया नहीं हैं. इससे पहले भी पुल गिरने के हादसे हो चुके हैं. स्थानीय लोगों का कहना है कि हमलोगों ने पुल निर्माण कंपनी के इंजीनियर को कई बार कहा कि गुणवत्ता ठीक नहीं है . लेकिन, उनलोगों न एक नहीं सुनी। नतीजा आज सबके सामने है. वहीं सुपौल के जिलाधिकारी ने मामले की जांच की बात कही है . सदर एसडीएम इंद्रवीर कुमार ने कहा कि मधुबनी के भेजा से क्रेन आ रही है.

Advertisement
Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो