scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Fact Check: हिंदू मंदिर में पुजारी की नौकरी पाने के लिए मुस्लिम छात्र नहीं सीख रहे संस्कृत, जानिए क्या है वायरल दावे की सच्चाई

केरल के इस्लामिक इंस्टीट्यूट में पढ़ाई जा रही भगवत गीता, संस्कृत का वीडियो भ्रामक दावों के साथ शेयर किया जा रहा है। मंदिर के पुजारी का पद पाने के लिए मुसलमानों को संस्कृत नहीं सिखाई जा रही।
Written by: Ankita Deshkar
नई दिल्ली | April 05, 2024 08:48 IST
fact check  हिंदू मंदिर में पुजारी की नौकरी पाने के लिए मुस्लिम छात्र नहीं सीख रहे संस्कृत  जानिए क्या है वायरल दावे की सच्चाई
वायरल दावा भ्रामक है। (PC- X)
Advertisement

लाइटहाउस जर्नलिज्म को विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर शेयर किया जा रहा एक वीडियो मिला। वीडियो में एक व्यक्ति छात्रों को संस्कृत पढ़ाते हुए दिखाई दे रहा है। वीडियो शेयर करते हुए दावा किया जा रहा था कि मुस्लिम संस्थान संस्कृत मंत्र पढ़ा रहे हैं ताकि छात्रों को मंदिर में पुजारी का पद मिल सके। पड़ताल के दौरान हमने पाया कि दावा भ्रामक है।

क्या वायरल हो रहा है?

फेसबुक यूजर 'सनातन धर्म रक्षक' जिनके करीब 5.3K फॉलोवर है उन्होंने ये वीडियो शेयर किया है।

Advertisement

इस पोस्ट का आर्काइव वर्जन देखे।

इस वीडियो को अन्य यूजर्स भी कुछ महीनों से शेयर कर रहे हैं।

कैसे हुई पड़ताल?

हमने वीडियो डाउनलोड करके और फिर उसे InVid क्रोम एक्सटेंशन में अपलोड करके अपनी जांच शुरू की। InVid से हमें वीडियो के कई फ्रेम मिल गए। उन कीफ़्रेम्स पर रिवर्स इमेज सर्च के दौरान हमें द इकोनॉमिक टाइम्स की एक रिपोर्ट मिली।

Advertisement

रिपोर्ट में लिखा था, मलिक दीनार इस्लामिक कॉम्प्लेक्स (एमआईसी) द्वारा संचालित शरिया और उन्नत अध्ययन अकादमी (एएसएएस) हाल ही में हिंदू विद्वानों की मदद से अपने छात्रों को संस्कृत, जिसे 'देव भाषा' भी कहा जाता है, पढ़ाकर एक उदाहरण स्थापित करने के लिए चर्चा में है। संस्थान ने कहा कि प्राचीन और शास्त्रीय भाषा को पढ़ाने के लिए एक संरचित पाठ्यक्रम लाने का निर्णय छात्रों में अन्य धर्मों के बारे में ज्ञान और जागरूकता पैदा करने के लिए लिया गया था।

Advertisement

इसके बाद हमने गूगल पर कीवर्ड सर्च किया और हमें केरल के एक इस्लामिक संस्थान में संस्कृत पढ़ाए जाने के बारे में कई खबरें मिलीं।

हमें घटना के बारे में एक वीडियो रिपोर्ट भी मिली।

निष्कर्ष: केरल स्थित इस्लामिक इंस्टीट्यूट में पढ़ाई जा रही भगवत गीता, संस्कृत का वीडियो भ्रामक दावों के साथ साझा किया जा रहा है। मंदिर के पुजारी का पद पाने के लिए मुसलमानों को संस्कृत नहीं सिखाई जा रही।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो