scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

खुल गई जोमैटो की पोल! 30 मिनट में गुरुग्राम कैसे डिलीवर किए लखनऊ के कबाब, कोर्ट पहुंचा मामला

गुरुग्राम के सौरव ने जोमैटो पर केस ठोक दिया है। उसने कहा कि लखनऊ का कबाब मात्र आधे घंटे में गुरुग्राम कैसे पहुंच गया।
Written by: बिजनेस डेस्क
Updated: February 12, 2024 16:54 IST
खुल गई जोमैटो की पोल  30 मिनट में गुरुग्राम कैसे डिलीवर किए लखनऊ के कबाब  कोर्ट पहुंचा मामला
प्रतीकात्मक तस्वीर। (इमेज- ट्विटर)
Advertisement

जोमैटो से हर दिन बड़ी संख्या में लोग खाना ऑर्डर करते हैं लेकिन अब इस डिलीवरी सेवा से जुड़ा एक ऐसा मामला सामने आया है जिससे सभी लोग हैरान हैं। दरअसल गुरुग्राम में एक व्यक्ति ने जोमैटो पर लखनऊ की एक दुकान के कबाब ऑर्डर किए जो उसके पास कुछ ही देर में पहुंच गया।

500 किलोमीटर दूर लखनऊ में तैयार किया गया कबाब कैसे 30 मिनट के भीतर ही गुरुग्राम में पहुंच गया। यह बात जौमेटो से खाना आर्डर करने वाले ग्राहक को नहीं पची। उसने कंपनी के खिलाफ केस ठोक दिया। गुरुग्राम के सौरव मल्ल ने लखनऊ के कबाब का आर्डर दिया था। ऑर्डर करने के आधे घंटे बाद ही कबाब उसके गेट के बाहर पहुंच गए। इसके बाद उसने जोमैटो लेजेंड्स पर केस ठोक दिया।

Advertisement

14 अक्टूबर, 2023 को लीजेंड्स ऐप का इस्तेमाल करके सौरव ने चार तरीके के खाने का ऑर्डर दिया। तीन ऑर्डर दिल्ली की दुकानों से थे और एक लखनऊ से। इसमें जामा मस्जिद से चिकन कबाब रोल, कैलाश कॉलोनी से ट्रिपल चॉकलेट चीजकेक, जंगपुरा से एक शाकाहारी सैंडविच और लखनऊ से गलौटी कबाब था। तकरीबन आधे घंटे के भीतर 500 किलोमीटर से भी ज्यादा दूर लखनऊ का गलौटी कबाब उनके दरवाजे के बाहर आ पहुंचा।

इसके बाद कस्टमर को शक हुआ कि इतनी दूरी से कबाब आधे घंटे के अंदर कैसे पहुंच गया। सौरव के वकील तिशमपति सेन, अनुराग आनंद और बियांका भाटिया ने जोमैटो पर केस कर दिया। अब उसे कोर्ट में यह बताना होगा कि उसने इतनी जल्दी खाने को कैसे पहुंचा दिया।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, जोमैटो लीजेंड्स कोलकाता, हैदराबाद, लखनऊ, जयपुर और बेंगलुरु समेत कई जगहों के रेस्टोरेंट से गर्म खाना पहुंचाने का दावा करती है। सौरव की याचिका पर साकेत के स्थानीय कोर्ट ने जोमैटो को समन जारी किया है। सौरव के वकीलों ने सुझाव देते हुए कहा कि इतनी जल्दी खाने को लखनऊ से डिलीवर नहीं किया जा सकता है, जरुर इस खाने को किसी गोदाम में रखा गया होगा।

Advertisement

सौरव के वकीलों ने कहा कि खाना किसी रेस्टोरेंट से लाने की बजाय जोमैटो की पैकिंग में पहुंचा था। इसी के बाद शक की सुई और गहरा रही है। याचिकाकर्ता ने अपनी याचिका में कहा है कि जोमैटो लीजेंड्स की सर्विस को पूरी तरह से समाप्त कर दिया जाए। उन्होंने कहा कि कस्टमर के साथ धोखा किया जा रहा है। क्योंकि इसमें ताजा खाना नहीं होता है।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो