scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

चिकन से महंगी दाल, फल-सब्जी के दामों में भी लगी आग, लोकसभा चुनाव के बाद आम जनता को क्यों मिली यह मार?

अब आंकड़ों में महंगाई की बात करें तो खाद्य महंगाई दर 1.88 प्रतिशत बढ़ गई है तो सब्जियों की महंगाई दर 32.42 पर्सेंट हो गई है।
Written by: न्यूज डेस्क
नई दिल्ली | Updated: June 15, 2024 14:40 IST
चिकन से महंगी दाल  फल सब्जी के दामों में भी लगी आग  लोकसभा चुनाव के बाद आम जनता को क्यों मिली यह मार
सब्जियों के दाम बढ़े। (इमेज-एक्सप्रेस फोटो)
Advertisement

Pulses Rate Hike: देश का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक पर्व यानी चुनाव खत्म हो गया है और अब महंगाई तेजी से बढ़ती जा रही है। रसोई पर भी मंहगाई की मार पड़ रही है। आम आदमी की थाली से दाल और सब्जी गायब होने लगी है। दूध-दही के दामों में पहले ही इजाफा हो चुका है। अब आलू और टमाटर के भाव भी हाई हैं। दाल की कीमतें इस समय सातवें आसमान पर पहुंच गई हैं और आटा-चावल भी मंहगे होते जा रहे हैं।

Advertisement

जून के महीने में गर्मी के साथ-साथ महंगाई ने भी लोगों के पसीने छुड़ा दिए हैं। दो जून की रोटी भी आम लोगों की जेब पर भारी पड़ रही है। महंगाई के आकड़ों के ने सारी पोल खोल कर रख दी है। मई के महीने में थोक महंगाई दर बढ़कर 15 महीने के उच्चतम स्तर पर पहुंच गई। मई में थोक महंगाई दर 2.61 फीसदी पर पहुंच गया है। यह अप्रैल के महीने में केवल 1.26 पर्सेंट ही थी। लेकिन मई के महीने में ये बढ़कर 2.61 फीसदी हो गई है।

Advertisement

सरकारी आंकड़ो के मुताबिक, मई में खाने की चीजें भी 10 महीने के उच्चतम स्तर 9.82 फीसदी पर पहुंच गई। दाल हो या सब्जी, फल हो या तेल सभी की कीमतों में इजाफा हो रहा है। जून में पसीने छुड़ाने वाली गर्मी में महंगाई से राहत मिलने की उम्मीद बहुत ही कम है।

दूध-सब्जियों के दामों में बढ़ोतरी

जून महीने की गर्मी के बीच तेल, दूध, सब्जियां, आलू और प्याज की कीमतों में बढ़ोतरी हुई है। अमूल, पराग, मदर डेयरी जैसी डेयरी फर्म ने दूध, दही, पनीर आदि प्रोडक्टस की कीमते पहले ही बढ़ा दी हैं। खाने वाले तेल की कीमतों में भी हाल के दिनों में तेजी से बढ़ोतरी हुई है। प्याज की कीमतों में बीते एक हफ्ते में 50 पर्सेंट की तेजी आई है। आलू की कीमतों में भी काफी तेजी आई है।

अब आंकड़ों में महंगाई की बात करें तो खाद्य महंगाई दर 1.88 प्रतिशत बढ़ गई है तो सब्जियों की महंगाई दर 32.42 पर्सेंट हो गई है। प्याज की महंगाई दर 58.05 फीसदी हो गई है। आलू की महंगाई दर 64.05 प्रतिशत है। दालों की महंगाई दर 21.95 फीसदी है। पिछले एक हफ्ते में सब्जियों के दामों में काफी वृद्धि हुई है। दाल की कीमत चिकन से ज्यादा जा पहुंची है। हालात यह हैं कि पिछले 20 दिन से दाल के रेट लगातार चढ़ते ही जा रहे हैं। जो अरहर की दाल 180 रुपये किलो में मिल रही थी, उसके दाम आज 220 से 230 तक पहुंच गए हैं।

Advertisement

सब्जी महंगी होने की वजह?

आम आदमी की जेब पर महंगाई की मार पड़ने की कई वजहे हैं। प्रचंड गर्मी की वजह से खेतों में ही सब्जियां सूख रही हैं। पौधों में फल लगने के बाद गर्मी की वजह से झुलस रहे हैं। हरी सब्जियों पर मौसम की मार ज्यादा पड़ रही है। कोल्ड स्टोर में सब्जियों को रखने की जगह तक नहीं बची है। गर्मी की वजह से ही जल्दी सब्जियां खराब हो रही हैं। इतना ही नहीं सब्जियों की ढुलाई में भी मुश्किल आ रही है।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
×
tlbr_img1 Shorts tlbr_img2 खेल tlbr_img3 LIVE TV tlbr_img4 फ़ोटो tlbr_img5 वीडियो