scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

कौन हैं युगेंद्र? बारामती में शरद पवार रच रहे नया 'चक्रव्यूह', अजित की राह होगी और मुश्किल

Maharashtra Politics: शरद पवार के भतीजे अजित पवार ने उन्हें पार्टी तोड़कर झटका दिया था, लेकिन अब शरद पवार अजित के भतीजे को उनके खिलाफ मजबूत कर रहे हैं।
Written by: Ajay Jadhav
नई दिल्ली | Updated: June 14, 2024 13:21 IST
कौन हैं युगेंद्र  बारामती में शरद पवार रच रहे नया  चक्रव्यूह   अजित की राह होगी और मुश्किल
Who is Yugendra Pawar: योगेंद्र पवार बनेंगे अजित के लिए मुश्किल (सोर्स- एक्सप्रेस फोटो)
Advertisement

Who is Yugendra Pawar: बारामती लोकसभा सीट पर एनसीपी(शरद पवार) की बेटी सुप्रिया सुले और एनसीपी चीफ अजित पवार की पत्नी सुनेत्रा पवार के बीच बड़ा चुनावी दंगल देखने को मिला था। बारामती की इस जंग में सुप्रिया जीत गईं थी, और एक बार फिर शरद पवार के प्रति जनता का लगाव देखने को मिला था लेकिन अब बारामती की ही एक और जंग हो सकती है, जिसको लेकर शरद पवार एक मास्टर प्लान बना रहे हैं, जिसके केंद्र में एक नाम युगेंद्र पवार का है।

Advertisement

अजित पवार के लिए इस साल होने वाले विधानसभा चुनाव में युगेंद्र पवार चुनौती बन सकते हैं। कथित तौर पर जिन भतीजे अजित पवार ने चाचा शरद पवार को झटका देते हुए उनसे पार्टी हथिया ली है, उन्हीं अजित पवार को अब उनके छोटे भाई के बेटे, यानी अपने भतीजे से चुनौती मिल सकती है और अजित पवार की बारामती विधानसभा में उनके खिलाफ एनसीपी(शरद पवार) गुट से युगेंद्र उन्हें चुनावी टक्कर दे सकते हैं।

Advertisement

सुप्रिया सुले के लिए निभाई थी अहम भूमिका

सुप्रिया सुले को बारामती में लोकसभा चुनाव के दौरान अजित पवार की ही बारामती विधानसभा से काफी बढ़त मिली थी। अब दिलचस्प यह है कि यहां सुप्रिया सुले के लिए युगेंद्र पवार ने जमकर प्रचार किया था। ऐसे में यह भी संभव है कि एनसीपी (शरद पवार) अजित पवार के सामने युगेंद्र पवार को ही बारामती विधानसभा सीट से उतार दे। बता दें कि बारामती से अजित पवार 1991 से लगातार चुनाव जीतते आ रहे हैं।

बता दें कि युगेंद्र अजीत के छोटे भाई श्रीनिवास के बेटे हैं, जो कि एक उद्योगपति हैं। इस बार बारामती में चुनाव परिणाम से यह स्पष्ट है कि उनका युगेंद्र ने खूब प्रभाव डाला है। 2019 के विधानसभा चुनाव में अजीत ने 1.95 लाख वोटों से निर्वाचन क्षेत्र जीता था। हाल ही में हुए लोकसभा चुनाव में सुनेत्रा को बारामती विधानसभा से 96,000 वोट मिले। इसकी तुलना में सुले को 1.44 लाख वोट मिले थे।

बारामती में युगेंद्र ने बना लिया बड़ा जनाधार

युगेंद्र अपने परिवार द्वारा संचालित शारयू फाउंडेशन के माध्यम से सामाजिक कार्यों में शामिल रहे हैं। उन्होंन समय के साथ बारामती शहर में समर्थकों का एक नेटवर्क बना लिया है वे शरद पवार द्वारा स्थापित शैक्षणिक संस्थान विद्या प्रतिष्ठान के ट्रस्टी और कोषाध्यक्ष भी हैं और बारामती तालुका कुश्ती परिषद के प्रमुख भी हैं, जिसके माध्यम से उन्होंने दिसंबर 2023 में पवार के जन्मदिन पर बारामती में कुश्ती प्रतियोगिता आयोजित की थी।

Advertisement

युगेंद्र पवार ने हाल में कहा था कि मैं बारामती तालुका में काम कर रहा हूं और मुझे अभी बहुत कुछ सीखना है। लोकसभा चुनाव के दौरान मैं तालुका में बहुत सक्रिय था, क्योंकि एनसीपी (एसपी) प्रमुख की विचारधारा को चुनौती दी जा रही थी। जब भी ऐसी चुनौतियां आएंगी, मैं ऐसा करना जारी रखूंगा, लेकिन मैंने चुनाव लड़ने के बारे में नहीं सोचा है।"

समर्थक चाहते हैं कि चुनाव लड़ें युगेंद्र

पार्टी के अंदरूनी सूत्रों के अनुसार युगेंद्र को एक मिलनसार नेता के रूप में जाना जाता है और वह अक्सर बारामती शहर में एनसीपी (एसपी) कार्यालय में पाए जाते हैं, जहां वह क्षेत्र के लोगों से मिलते हैं और उनकी मदद करते हैं। लोकसभा चुनावों तक युगेंद्र राजनीतिक हलकों में ज्यादा जाने-पहचाने नहीं थे, हालांकि वह बारामती और उसके आस-पास के इलाकों में शिक्षा, संस्कृति, स्वास्थ्य, खेल, कृषि और सिंचाई के क्षेत्र में काम कर रहे थे।

लोकसभा चुनाव के दौरान सुप्रिया सुले ने युगेंद्र की जमकर तारीफ की थी, क्योंकि वह पवार परिवार के एक प्रतिभाशाली और उच्च शिक्षित युवा सदस्य हैं। जब उनसे उनके समर्थकों की मांग के बारे में पूछा गया तो उनका कहना है कि युगेंद्र चुनाव लड़ें। उन्होंने कहा है कि लोकसभा में हमारे प्रदर्शन से उत्साहित कार्यकर्ताओं ने एनसीपी (एसपी) प्रमुख से मुझे बारामती विधानसभा से उम्मीदवार बनाने का अनुरोध किया, लेकिन हम पवार परिवार के भीतर कोई झगड़ा नहीं चाहते हैं और उम्मीद करते हैं कि विधानसभा चुनाव से पहले स्थिति बेहतर हो जाएगी।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
×
tlbr_img1 Shorts tlbr_img2 खेल tlbr_img3 LIVE TV tlbr_img4 फ़ोटो tlbr_img5 वीडियो