scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

जल्द भारत को सौंपे जाएंगे नीरव मोदी और विजय माल्या! CBI ने की ब्रिटेन के अधिकारियों से मुलाकात

ब्रिटेन में कई भारतीय अरोपियों के प्रत्यर्पण का मामला अटका हुआ है, जिसको लेकर सीबीआई ने ऋषि सुनक सरकार के प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात की है।
Written by: न्यूज डेस्क
नई दिल्ली | Updated: April 15, 2024 23:39 IST
जल्द भारत को सौंपे जाएंगे नीरव मोदी और विजय माल्या  cbi ने की ब्रिटेन के अधिकारियों से मुलाकात
व्यापारियों पर है बैंकों से घोटाले करने का आरोप (सोर्स - PTI/File)
Advertisement

भारत के आर्थिक अपराध के कई आरोपी ब्रिटेन में मजे से रह रहे हैं और उनके प्रत्यर्पण के लिए भारत सरकार तमाम कानूनी कार्रवाई को अंजाम दे रही है। इस बीच एक बार फिर इन आरोपियों के भारत लौटने की उम्मीद बंधी है। इसकी वजह यह है कि सीबीआई ने ब्रिटेन के पीएम ऋषि सुनक सरकार के कई वरिष्ठ अधिकारियों से मुलाकात की है।

बता दें कि किंगफिशर एयरलाइंस के पूर्व प्रवर्तक भगोड़े विजय माल्या से लेकर, हीरा कारोबारी नीरव मोदी और हथियार डीलर संजय भंडारी ब्रिटेन में रह रहे हैं। इसके अलावा पंजाब के अलगाववादी ब्रिटेन में रह कर विवादित बयानबाजी करते हैं। ऐसे में ब्रिटेन के अधिकारियों से सीबीआई अधिकारियों की मुलाकात, आरोपियों को भारत वापस लाने की प्रक्रिया जल्द पूरी हो सकती है।

Advertisement

आज सीबीआई के अधिकारियों क मौजूदगी में भारतीय आरोपियों के प्रत्यर्पण के सिलसिले में भारत और ब्रिटेन ने आपसी कानूनी सहायता संधि के तहत कार्रवई में तेजी लाने और भगोड़े से संबंधित प्रत्यर्पण को प्राथमिकता देने के मुद्दे पर चर्चा की है। ब्रिटेन के एक उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल की सीबीआई मुख्यालय की यात्रा के दौरान इस मुद्दे पर चर्चा की हुई है। इसमें इंटरपोल के महासचिव पद के लिए ब्रिटेन के उम्मीदवार स्टीफन कवानाघ भी शामिल थे।

आपसी सहयोग बढ़ाने पर हुई चर्चा

इस दौरान सीबीआई के निदेशक प्रवीण सूद और एजेंसी के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने ब्रिटेन के साथ संरचनात्मक सहयोग बढ़ाने के बारे में कवानाघ के साथ डिटेल्ड जांच की है। सीबीआई के प्रवक्ता ने एक बयान में कहा है कि दोनों पक्षों ने आपराधिक खुफिया जानकारी शेयर करने के और वित्तीय अपराध, साइबर अपराध और अन्य खतरों से निपटने सहित कई मुद्दों पर चर्चा भी की है।

Advertisement

सीबीआई ने कि दोनों पक्षों ने इंटरपोल चैनलों सहित समन्वित और प्रभावी तरीके से वैश्विक अपराध खतरों को संबोधित करने की प्रतिबद्धता शेयर की है।

Advertisement

सीबीआई ने कहा कि यह यात्रा अंतरराष्ट्रीय अपराध से निपटने में यूके और भारत के बीच अंतरराष्ट्रीय सहयोग को मजबूत करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो