scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Swati Maliwal Case: वीडियो जर्नलिस्ट से सीएम केजरीवाल के पर्सनल सेक्रेटरी तक, जानिए अक्सर चर्चाओं में क्यों रहे बिभव कुमार

AAP MP Swati Maliwal Assault Case: आप की राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल के साथ मारपीट को लेकर सीएम केजरीवाल के पीए बिभव कुमार इस वक्त चर्चाओं में हैं।
Written by: न्यूज डेस्क
नई दिल्ली | Updated: May 17, 2024 15:57 IST
swati maliwal case  वीडियो जर्नलिस्ट से सीएम केजरीवाल के पर्सनल सेक्रेटरी तक  जानिए अक्सर चर्चाओं में क्यों रहे बिभव कुमार
Swati Maliwal Assault Case: दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल के पीए बिभव कुमार इस वक्त चर्चाओं में हैं। (X/@AstuteGaba)
Advertisement

Who Is Bibhav Kumar: दिल्ली सीएम के आवास पर राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल ने अरविंद केजरीवाल के पर्सनल सेक्रेटरी बिभव कुमार पर मारपीट का आरोप लगाया है। जिसके बाद राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली ही नहीं, बल्कि पूरे देश में सियासी हलचल तेज हो गई है।

Advertisement

स्वाति मालीवाल ने अपनी शिकायत में अरविंद केजरीवाल के पीए बिभव कुमार पर बेहद गंभीर आरोप लगाए गए हैं। स्वाति मालीवाल ने अपनी शिकायत में कहा है कि बिभव ने उन्हें कई बार थप्पड़ मारे और बेहद गलत व्यवहार किया।

Advertisement

राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल द्वारा दर्ज करवाई गई एफआईर में कहा गया है कि वह लगातार मदद के लिए चिल्ला रही थीं, लेकिन फिर भी बिभव कुमार नहीं रुका। उसने स्वाति मालीवाल की चेस्ट, पेट और बॉडी के निचले हिस्से पर हमला किया।

NCW के सामने पेश नहीं हुए बिभव कुमार

स्वाति मालीवाल के साथ गलत व्यवहार के आरोपी अरविंद केजरीवाल के पीए बिभव कुमार समन दिए जाने के बाद भी शुक्रवार को राष्ट्रीय महिला आयोग के सामने पेश नहीं हुए। NCW चीफ रेखा शर्मा ने बताया कि महिला आयोग की एक टीम गुरुवार को बिभव कुमार को नोटिस देने उनके आवास पर गई थी, लेकिन वह घर पर नहीं थे।

मेडिकल रिपोर्ट में क्या?

बताया जा रहा है कि स्वाति मालीवाल का मेडिकल हो चुका है। रिपोर्ट आना बाकी है। सूत्रों के हवाले से कहा जा रहा है कि स्वाति के शरीर में कई अंदरूनी चोटों के निशान पाए गए हैं।

Advertisement

जानकारी के मुताबिक, स्वाति मालीवाल का तीन घंटे तक मेडिकल हुआ। उसमें उनका एक्स रे किया गया, सीटी स्कैन भी हुआ। अभी तक मेडिकल रिपोर्ट को जारी नहीं किया गया है, लेकिन इस बात की पुष्टि हो चुकी है कि स्वाति मालीवाल के चेहरे पर अंदरूनी चोटें लगी हैं। जानकारी के लिए बता दें कि 13 मई को स्वाति मालीवाल के साथ सीएम अरविंद केजरीवाल के आवास पर कथित मारपीट हुई थी। मारपीट भी सीएम के पीए बिभव कुमार द्वारा की गई।

दिल्ली पुलिस इन तथ्यों की करेगी जांच

वहीं दिल्ली पुलिस ने इस पूरे मामले में एफआईआर दर्ज कर ली है। आगे की जांच की जा रही है। कहा जा रहा कि इस पूरे मामले की तह तक जाने के लिए दिल्ली पुलिस वहां लगे सीसीटीवी फुजेट को खंगाले की। अन्य कुछ लोगों से भी पूछताछ करेगी। साथ ही जिस गाड़ी से स्वाति सीएम आवास गईं थीं, उस ड्राइवर से भी पूछताछ होगी।

बीजेपी ने आम आदमी पार्टी को घेरा

इस पूरे मुद्दे को लेकर बीजेपी ने आम आदमी पार्टी पर जोरदार हमला बोला है। शुक्रवार को बीजेपी की महिला कार्यकर्ताओं ने स्वाति मालीवाल के समर्थन में विरोध-प्रदर्शन भी किया। बीजेपी ने केजरीवाल की पार्टी पर महिला का अपमान करने का आरोप लगाया। वहीं इस पूरे मुद्दे पर इंडिया गठबंधन के सभी सहयोगी दल चुप्पी साधे हुए हैं।

केजरीवाल के करीबी माने जाते हैं विभव कुमार

बहरहाल, इस पूरे मामले के केंद्र में विभव कुमार हैं, जिन पर स्वाति मालीवाल ने गंभीर आरोप लगाए हैं। विभव कुमार को अरविंद केजरीवाल का करीबी माना जाता है। दिल्ली के कथित शराब घोटाले में गिरफ्तार हुए केजरीवाल जब तिहाड़ जेल में बंद थे, तब उन्होंने जेल प्रशासन को उन 6 लोगों की लिस्ट दी थी, जिनसे वो मिलना चाहते थे। इस लिस्ट में विभव कुमार का नाम भी था।

वीडियो जर्नलिस्ट बिभव केजरीवाल से कैसे जुड़े

2000 के दशक की शुरुआत में बिभव, मनीष सिसोदिया के NGO कबीर में काम करते थे। इसके बाद वो केजरीवाल के NGO पब्लिक कॉज रिसर्च फाउंडेशन (PCRF) और कबीर के बीच कोऑर्डिनेशन का काम करने लगे। इसके चलते केजरीवाल के साथ बिभव की नजदीकियां बढ़ीं।

आगे चलकर इंडिया अगेंस्ट करप्शन मुहिम के सदस्यों की ओर से शुरू की गई एक मैगजीन के लिए बिभव वीडियो एडिटर के तौर पर काम करने लगे। बिभव इसी समय से केजरीवाल के साथ आ गए और उनके रोजमर्रा के कामों में उनकी मदद करने लगे।

इंडिया अगेंस्ट करप्शन से जुड़े लोगों ने ही आगे चलकर आम आदमी पार्टी बनाई थी। तमाम अहम मौकों पर केजरीवाल के साथ रहने के बावजूद बिभव मीडिया और लाइमलाइट में बहुत कम आते हैं। बिभव के इस गुण की केजरीवाल प्रशंसा भी करते हैं।

बिभव कुमार बने केजरीवाल के 'मैन फ्राइडे’

दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल के क्लोज्ड सर्कल में बिभव कुमार का नाम शुमार है। द प्रिंट की रिपोर्ट के मुताबिक बिभव कुमार ही यह सुनिश्चित करते हैं कि केजरीवाल समय से अपनी दवाइयां, इन्सुलिन और खाना लेते रहें। 2014 लोकसभा चुनाव के दौरान पंजाब में केजरीवाल को दांत में दर्द हो रहा था। उस वक्त बिभव ने व्यवस्था की कि केजरीवाल को टाइम पर खाना मिल सके, जिससे वो अपनी दवाइयां समय पर ले सकें।

केजरीवाल के जीवन में इतनी अहम जगह रखने के कारण बिभव को केजरीवाल का ‘मैन फ्राइडे' तक कहा जाता है। अंग्रेजी के इस टर्म का मतलब होता है सबसे करीबी और भरोसेमंद सहयोगी। 27 फरवरी 2015 को दिल्ली के सीएम केजरीवाल ने अपने पर्सनल सेक्रेटरी के तौर पर बिभव कुमार को नियुक्त किया था।

AAP के सूत्रों के मुताबिक लंबे समय से केजरीवाल और दूसरे लोगों के बीच बिभव ब्रिज का काम करते आ रहे हैं। साथ ही बिभव उन दो लोगों में से थे, जिन्हें कोर्ट ने केजरीवाल से रोजाना जेल में मिलने की इजाजत दी थी। इसमें पहला नाम केजरीवाल की पत्नी सुनीता का था। कई लोग बिभव और अरविंद के रिश्ते की तुलना मनीष सिसोदिया और अरविंद के रिश्ते से करते हैं।

बिभव कुमार के खिलाफ क्रिमिनल केस भी

बिभव कुमार के खिलाफ एक क्रिमिनल केस भी है। नोएडा डेवलपमेंट अथॉरिटी में काम करने वाले महेश पाल ने 2007 में बिभव कुमार के खिलाफ गाली और धमकी देने का केस दर्ज कराया था। विजिलेंस डिपार्टमेंट ने पिछले महीने उन्हें बर्खास्त करते हुए कहा था कि उनकी नियुक्ति से पहले उन पर दर्ज क्रिमिनल केस की जांच नहीं की गई थी।

शराब घोटाले में ईडी भी कर चुकी पूछताछ

इससे पहले 8 अप्रैल को ईडी ने कथित शराब घोटाला मामले में भी उनसे पूछताछ की थी। मनी लॉन्ड्रिंग कानून के तहत उनका बयान भी दर्ज किया गया था।

बंगले को लेकर चर्चा में रहे बिभव कुमार

अरविंद केजरीवाल के पीए बिभव कुमार अपने सरकारी बंगले को लेकर भी चर्चा में रहे। पिछले साल विजिलेंस डिपार्टमेंट ने PWD को कुमार के टाइप-6 बंगले का अलॉटमेंट रद्द करने का आदेश दिया था। दावा किया गया था कि नियमों का उल्लंघन कर उन्हें ये बंगला अलॉट किया गया था। यह बंगला दिल्ली के सिविल लाइन्स इलाके में है। मार्च 2021 में ये बंगला बिभव कुमार को अलॉट किया गया था।

6 महीने पहले PWD ने बंगले का अलॉटमेंट कैंसिल करने का नोटिस जारी किया था। हालांकि, उन्होंने बंगला खाली नहीं किया था। पिछले महीने जब विजिलेंस डिपार्टमेंट ने उन्हें बर्खास्त किया तो पीडब्ल्यूडी ने महीने भर के भीतर बंगला खाली करने को कहा था।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
×
tlbr_img1 Shorts tlbr_img2 खेल tlbr_img3 LIVE TV tlbr_img4 फ़ोटो tlbr_img5 वीडियो