scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

पीएम मोदी कोलकाता को देंगे खास सौगात, पानी के नीचे दौड़ेगी ट्रेन; जानें अंडरवॉटर मेट्रो की खासियत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 6 मार्च को पश्चिम बंगाल और बिहार का दौरा करेंगे। पीएम मोदी कोलकाता में करोड़ों रुपये की कनेक्टिविटी परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास करेंगे।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: shruti srivastava
कोलकाता | Updated: March 05, 2024 18:34 IST
पीएम मोदी कोलकाता को देंगे खास सौगात  पानी के नीचे दौड़ेगी ट्रेन  जानें अंडरवॉटर मेट्रो की खासियत
कोलकाता अंडरवॉटर मेट्रो (Source- PTI)
Advertisement

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार को कोलकाता में भारत की पहली अंडरवॉटर मेट्रो टनल का उद्धाटन करेंगे। कोलकाता में तैयार किया गया यह भारत में अंडरवॉटर ट्रेन चलने का पहला प्रोजेक्ट होगा। रेलवे के सूत्रों के मुताबिक ये मेट्रो हावड़ा मैदान और एस्प्लेनेड के बीच दौड़ेगी। आइए जानते हैं इस अंडरवॉटर मेट्रो टनल की कुछ खास बातें।

PM मोदी कोलकाता मेट्रो के हावड़ा मैदान-एस्प्लेनेड मेट्रो सेक्शन, कवि सुभाष स्टेशन-हेमंत मुखोपाध्याय मेट्रो सेक्शन और तारातला-माझेरहाट मेट्रो सेक्शन का उद्घाटन करेंगे। अंडरवॉटर मेट्रो टनल हुगली नदी के तल से नीचे चलेगी। अंडरवॉटर मेट्रो रेल नदी और हावड़ा को कोलकाता शहर से कनेक्ट करेगी।

Advertisement

हुगली नदी के तल से नीचे चलेगी मेट्रो

हुगली नदी के नीचे बनी यह सुरंग कोलकाता मेट्रो के ईस्ट-वेस्ट मेट्रो कॉरिडोर का हिस्सा है। इस मेट्रो रूट के चार प्रमुख स्टेशन एस्प्लेनेड, महाकरण, हावड़ा और हावड़ा मैदान हैं। इस मेट्रो टनल का काम 2017 में शुरू हुआ था। इसके साथ ही हावड़ा मेट्रो स्टेशन भारत का सबसे गहरा मेट्रो स्टेशन बन गया है।

फरवरी 2020 में तत्कालीन रेल मंत्री पीयूष गोयल ने साल्ट लेक सेक्टर वी और साल्ट लेक स्टेडियम को जोड़ने वाले कोलकाता मेट्रो के पूर्व-पश्चिम मेट्रो कॉरिडोर के पहले चरण का उद्घाटन किया था। 16.5 किलोमीटर लंबी यह मेट्रो लाइन हुगली के पश्चिमी तट पर स्थित हावड़ा को पूर्वी तट पर साल्ट लेक शहर से जोड़ती है। इसका 10.8 किलोमीटर हिस्सा अंडरग्राउंड है। यह भारत की पहली ऐसी परिवहन परियोजना है जिसमें मेट्रो ट्रेन नदी के के नीचे बनी सुरंग से गुजरेगी।

Advertisement

पानी के नीचे मिलेगा 5G इंटरनेट

हावड़ा से एस्प्लेनेड तक का रास्ता करीब 4.8 किलोमीटर लंबा है। इस रूट पर हुगली नदी के नीचे 520 मीटर लंबी मेट्रो सुरंग है। अंडरग्राउंड पूरी टनल करीब 10.8 किलोमीटर लंबी है। पानी के नीचे 520 मीटर की दूरी तय करने में यात्रियों को 1 मिनट से भी कम समय लगेगा। अंडरवॉटर मेट्रो में यात्रियों को 5G इंटरनेट की सुविधा भी मिलेगी। अधिकारियों का दावा है कि अंडरवॉटर मेट्रो टनल में पानी की एक बूंद भी प्रवेश नहीं कर सकती है। पानी के नीचे टनल बनाने के लिए हजारों टन मिट्टी भी निकाली गई है। इस मेट्रो में ऑटोमैटिक ट्रेन ऑपरेशन सिस्टम लगा है। मोटरमैन के बटन दबाते ही ट्रेन अपने आप अगले स्टेशन के लिए मूव कर जाएगी।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो