scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

तेलंगाना की राज्यपाल टी सौंदरराजन ने दिया इस्तीफा, लोकसभा चुनाव लड़ने की है संभावना

माना जा रहा है कि राजनीति में फिर से प्रवेश करने के लिए टी सौंदरराजन ने अपने पद से इस्तीफा दिया है।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: shruti srivastava
नई दिल्ली | Updated: March 18, 2024 13:24 IST
तेलंगाना की राज्यपाल टी सौंदरराजन ने दिया इस्तीफा  लोकसभा चुनाव लड़ने की है संभावना
तेलंगाना की राज्यपाल टी सौंदरराजन (Source- PTI)
Advertisement

तेलंगाना की राज्यपाल टी सौंदरराजन ने आज अपने पद से इस्तीफा दे दिया। उनके बीजेपी से चुनाव लड़ने की संभावना है। टी सौंदरराजन के पास पुडुचेरी के उपराज्यपाल का अतिरिक्त प्रभार भी है। सौंदरराजन 2019 तक तमिलनाडु भाजपा की प्रमुख थीं।

सितंबर 2019 में उन्हें तेलंगाना के राज्यपाल के रूप में नियुक्त किया गया था। किरण बेदी को हटाए जाने के बाद उन्हें पुडुचेरी के उपराज्यपाल का अतिरिक्त प्रभार दिया गया था। उन्होंने अपना इस्तीफा दिल्ली में दिया है। संभावना है कि बीजेपी की ओर से जानी की जाने वाली तीसरी सूची में टी सौंदरराजन का नाम हो सकता है। उन्होंने सोमवार सुबह राष्ट्रपति को अपना पत्र भेजा था जो शाम तक स्वीकार किया जा सकता है।

Advertisement

राष्ट्रपति को भेजा गया इस्तीफा

एक आधिकारिक प्रेस रिलीज में कहा गया, “ तेलंगाना की माननीय राज्यपाल और पुडुचेरी की उपराज्यपाल डॉ. तमिलिसाई सौंदरराजन ने तत्काल प्रभाव से अपना इस्तीफा दे दिया है। इस्तीफा भारत की माननीय राष्ट्रपति को भेज दिया गया है।”

लड़ सकती हैं लोकसभा चुनाव

कांग्रेस की दिग्गज नेता कुमारी अनंतन की बेटी सौंदरराजन ने राज्यपाल बनाए जाने से पहले दो दशक से अधिक समय भाजपा में गुजारा है। सौंदरराजन पूर्व भाजपा तमिलनाडु अध्यक्ष थीं। उनके लोकसभा चुनाव 2024 में तमिलनाडु से लड़ने की संभावना है। संभावना है कि बीजेपी की ओर से जानी होने वाली तीसरी सूची में उनका नाम हो सकता है। बताया जा रहा है कि भाजपा उन्हें डीएमके नेता कनिमोझी के खिलाफ भी उतार सकती है। कई मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है कि तमिलिसाई सौंदरराजन दक्षिण चेन्नई से लोकसभा का चुनाव लड़ सकती हैं। हालांकि, इसे लेकर उनकी ओर से आधिकारिक तौर पर कुछ नहीं कहा गया है।

टी सौंदरराजन 2019 में हार गयी थीं चुनाव

प्रभावशाली नागर समुदाय से आने वाली तमिलिसाई पिछला लोकसभा चुनाव द्रमुक की कनिमोझी से थूथुकुडी में भारी अंतर से हार गईं थीं। 2019 के चुनाव में सौंदरराजन को हार का सामना करना पड़ा। वहीं, 2009 में वे चेन्नई (उत्तर) सीट से प्रत्याशी रही थीं। हालांकि, यहां भी उन्हें डीएमके के टीकेएस एलंगोवन से हार का सामना करना पड़ा था।

Advertisement

तेलंगाना में पीएम मोदी की जनसभा

वहीं, दूसरी ओर तेलंगाना में PM नरेंद्र मोदी ने एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा, "13 मई को तेलंगाना में होने वाला मतदान विकसित भारत के लिए होगा। जब भारत विकसित होगा तो तेलंगाना भी विकसित होगा। यहां तेलंगाना में भाजपा के लिए लगातार समर्थन बढ़ता जा रहा है। मैं पिछले 3 दिनों में दूसरी बार तेलंगाना आया हूं। विकास आज तेलंगाना के हर इलाके में पहुंच रहा है इसलिए तेलंगाना के कोने-कोने में भाजपा के लिए समर्थन बढ़ता ही जा रहा है।" उन्होंने कहा कि जैसे-जैसे 13 मई निकट आ रही है, वोटिंग का दिन करीब आ रहा है, तेलंगाना में भाजपा की लहर कांग्रेस और BRS का सूपड़ा साफ कर देगी इसलिए आज पूरा देश कह रहा है, 4 जून को 400 पार।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो