scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

तेलंगाना के स्कूल में छात्रों के भगवा कपड़े पहनकर आने पर बढ़ा विवाद, गुस्साए लोगों ने जमकर की तोड़फोड़, पुलिस ने दर्ज की 2 FIR

स्कूल प्रशासन ने अपनी शिकायत में कहा कि कुछ लोगों ने स्कूल में जबरदस्ती घुसने की कोशिश की।
Written by: Rahul V Pisharody
April 18, 2024 16:23 IST
तेलंगाना के स्कूल में छात्रों के भगवा कपड़े पहनकर आने पर बढ़ा विवाद  गुस्साए लोगों ने जमकर की तोड़फोड़  पुलिस ने दर्ज की 2 fir
तेलंगाना के स्कूल में तोड़फोड़। (इमेज- St Mother Teresa English Medium School)
Advertisement

Telangana School Attacked: तेलंगाना के मंचेरियल जिले के एक मिशनरी मंडली के द्वारा स्कूल में भगवा रंग के कपड़े पहनकर आए छात्रों को रोक दिया गया था। जब इस बात की जानकारी लोगों को लगी तो वे भड़क गए। लोगों की नाराज भीड़ ने ना सिर्फ स्कूल में तोड़फोड़ की, बल्कि कर्मचारियों के साथ भी मारपीट भी की। इस तरह के दावे सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में किए जा रहे हैं।

यह घटना 16 अप्रैल को उत्तरी तेलंगाना जिले के कन्नेपल्ली गांव में लक्सेटिपेट के सेंट मदर टेरेसा इंग्लिश मीडियम स्कूल में हुई। मंचेरियल के डीसीपी ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि स्कूल में एग्जाम चल रहे थे। पेपर के बाद प्रिंसिपल ने कहा कि वे वर्दी पहनकर आएं और अगर वे भगवाधारी कपड़े पहनना चाहतें हैं तो उन्हें इस बात की इजाजत लेनी होगी। इस बात पर लोग भड़क गए। पहले भी प्रिंसिपल के खिलाफ कुछ शिकायतें थीं और यह बात ज्यादातर लोग जानते थे। उस दिन मंगलवार का दिन था और देखते ही देखते यह सब मारपीट और तोड़फोड़ में बदल गया।

Advertisement

पुलिस ने दर्ज की दो एफआईआर

पुलिस के अनुसार छात्र 41 दिनों की तपस्या यानी हनुमान दीक्षा का पालन कर रहे थे। स्टूडेंट के माता-पिता और स्कूल प्रशासन की शिकायतों के आधार पर पुलिस ने दो एफआईआर दर्ज की हैं। पुलिस सभी वीडियों की जांच कर आरोपियों की पहचान करने में जुटी हुई है। पुलिस को दी गई शिकायत में एक छात्र के माता-पिता ने कहा कि उनके बेटे और चौथी कक्षा में पढ़ने वाले एक अन्य साथी को हनुमान दीक्षा के कपड़े पहनने की वजह से स्कूल में एंट्री नहीं करने दी गई। उन्होंने आरोप लगाया कि प्रिंसिपल ने जानबूझकर उनकी धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाई है। यह इस तरह का व्यवहार करके धर्मों के बीच दुश्मनी को बढ़ावा दे रहे हैं और शांति भंग करने का काम कर रहे हैं।

स्कूल प्रशासन ने अपनी शिकायत में कहा कि कुछ लोगों ने स्कूल में जबरदस्ती घुसने की कोशिश की। इतना ही नहीं, स्कूल स्टॉफ के साथ मारपीट और खिड़कियों को भी तोड़ दिया। उन्होंने कहा कि मदर टेरेसा की एक मूर्ति और गेट तोड़ दिया गया है। स्कूल प्रशासन की तरफ से दावा किया गया है कि तकरीबन 30,000 रुपये की संपत्ति का नुकसान हुआ है।

Advertisement

भीड़ ने स्कूल में की तोड़फोड़

स्कूल के एक सदस्य जैमन जोसेफ ने कहा कि छात्रों को सोमवार को पेपर लिखने की इजाजत दी गई थी। सोशल मीडिया पर झूठी खबरे फैला दी गईं। इसकी वजह से मंगलवार की सुबह करीब 500 से ज्यादा लोग स्कूल पहुंच गए। उन लोगों ने करीब चार घंटे तक स्कूल पर हमला किया। उन्होंने कहा कि हमें शक है कि यह हमला पूर्व नियोजित साजिश था। प्रिंसिपल ने सोमवार दोपहर छात्रों से कहा कि उन्हें भगवा कपड़े पहनकर आने की इजाजत लेनी होगी। अगर उनके माता-पिता ने हमें फोन भी किया होता तो हम इजाजत देने से इनकार नहीं करते। मंगलवार की सुबह भी एक छात्र भगवा कपड़े में आया और हमने उस छात्र को नहीं रोका। तब तक एक बड़ी भीड़ स्कूल में आ गई और हम पर हमला कर दिया।

Advertisement

पुलिस ने इन धाराओं में केस किया दर्ज

पुलिस ने स्कूल प्रशासन पर आईपीसी की धारा 153ए और 295-ए के तहत मामला दर्ज किया है। वहीं, तोड़फोड़ करने वालों पर आईपीसी की धारा 323, 427, 452, 506 और 143 के साथ 149 के तहत मामला दर्ज किया गया है।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो