scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

संदेशखाली में बवाल: चट हिरासत पट रिहाई, BJP के सुकांत मजूमदार का दिखा सियासी ड्रामा

बीजेपी नेता सुकांत मजूमदार संदेशखाली केस के मुख्य आरोपी की गिरफ्तारी को लेकर धरने पर बैठ गए हैं।
Written by: न्यूज डेस्क
कोलकाता | Updated: February 22, 2024 20:59 IST
संदेशखाली में बवाल  चट हिरासत पट रिहाई  bjp के सुकांत मजूमदार का दिखा सियासी ड्रामा
SandeshKhali Controversy: ममता प्रशासन के खिलाफ बीजेपी नेता धरना प्रदर्श कर रहे हैं। (सोर्स - ANI)
Advertisement

पश्चिम बंगाल के नॉर्थ 24 परगना में संदेशखाली इलाका पिछले कुछ दिनों से राष्ट्रीय विमर्श का विषय बना हुआ है। इसके चलते मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) और उनके प्रशासन पर सवाल खड़े हो रहे हैं। इसको लेकर बीजेपी ने सीएम के खिलाफ मोर्चा खोलकर रखा है क्योंकि संदेशखाली में महिलाओं ने जिन लोगों पर आरोप लगाए हैं, वे सभी टीएमसी के नेता है। ऐसे में अब बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सुकांत मजूमदार (Sukanta Majumdar) अब इस मुद्दे में मुख्य आरोपी की गिरफ्तारी की मांग को लेकर धरने पर बैठ गए हैं।

जानकारी के मुताबिक गुरुवार की दोपहर वे भाजपा के पूर्व जिला अध्यक्ष विकास सिंह के परिवार से मिलने पहुंचे थे। वहां इसके बाद वे थाने गए कथित तौर पर उन्हें प्रवेश करने से रोका गया। इसके बाद सुंकात सड़क पर बैठ गए। सुकांत का कहना है कि जब तक शाहजहां शेख की गिरफ्तारी नहीं हो जाती, तब तक वे यहीं रहेंगे। जरूरत पड़ी तो रात भर भी धरना जारी रहेगा।

Advertisement

गौरतलब है कि 8 दिन पहले 14 फरवरी को सुकांत संदेशखाली जाना चाहते थे लेकिन उन्हें रोका गया था। उस दिन सुकांत पुलिस की गाड़ी पर चढ़ गए थे। धक्का मुक्की में उन्हें चोटें भी आईं थीं। बशीरहाट अस्पातल में प्राथमिक इलाज के बाद उनका इलाज कोलकाता में हुआ था। सुकांत आज एक बार फिर संदेशखाली गए और पुलिस ने सुकांत को दोबारा धामाखाली में रोक लिया है। उन्हें समूह में संदेशखाली जाने की इजाजत नहीं थी। वह कम से कम एक पार्टी को अपने साथ ले जाना चाहते थे। पुलिस ने उन्हें अनुमति नहीं दी तो वे अकेले ही चले गए हैं।

वहीं संदेशखाली में थाने के अंदर गए सुकांत मजूमदार को पुलिस ने पहले चेतावनी दी और उसके बाद भारी पुलिस बल की मौजूदगी में हिरासत में लिया। पुलिस ने सुकांत को अन्य बीजेपी कार्यकर्ताओं - समर्थकों के साथ थाने के सामने धकेलते हुए धमाखली घाट ले जाने की कोशिश की। पुलिस के साथ धक्का मुक्की हुई। पुलिस से झड़प के दौरान सुकांत ने मीडिया ने कहा कि देखो पुलिस वाले मुझे कैसे धक्का दे रहे हैं। घसीट रहे हैं। देखिए कैसे गिरफ्तार कर रहे हैं।

Advertisement

सुकांत मजूमदार ने दावा किया है कि वह यह क्षेत्र नहीं छोड़ेंगे, जब तक संदेशखाली में गिरफ्तार किए गए हमारे सभी बीजेपी कार्यकर्ताओं को रिहा नहीं किया जाता है। इसके अलावा उन्होंने कहा है संदेशखाली का मुख्य आरोपी शाहजहां शेख जब तक गिरफ्तार नहीं होता, तब तक वे अपना धरना नहीं खत्म करेंगे। इसको लेकर उनका पुलिस प्रशासन से टकराव जारी है। हालांकि उन्हें थोड़ी ही देर में हिरासत में भी ले लिया गया है।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो