scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Sadhguru Brain Surgery: ब्रेन सर्जरी के बाद कैसी है सदगुरु की तबीयत? डॉक्टरों ने दिया अपडेट

Sadhguru Brain Surgery: ब्रेन में सूजन और ब्लीडिंग की वजह से सदगुरु का ऑपरेशन किया गया है। अब उनकी हालत में धीरे-धीरे सुधार हो रहा है।
Written by: न्यूज डेस्क
नई दिल्ली | Updated: March 20, 2024 19:52 IST
sadhguru brain surgery  ब्रेन सर्जरी के बाद कैसी है सदगुरु की तबीयत  डॉक्टरों ने दिया अपडेट
सद्गुरु जग्गी वासुदेव। (इमेज-Sadh guru Instagram)
Advertisement

Sadhguru Brain Surgery: ईशा फाउंडेशन के संस्थापक, अध्यात्मवादी सद्गुरु जग्गी वासुदेव की दिल्ली के अपोलो अस्पताल में ब्रेन की सर्जरी हुई। पिछले चार सप्ताह से सिर का दर्द झेलने के बाद ईशा फाउंडेशन के सद्गुरु को ब्रेन सर्जरी करानी पड़ी है। अगर उनकी सर्जरी सही समय पर ना की जाती तो उनके लिए यह जानलेवा साबित हो सकता था। डॉक्टरों ने डायगनोस करने के बाद बताया कि सद्गुरु के ब्रेन में सूजन है और बहुत ज्यादा ब्लीडिंग है।

अपोलो अस्पताल के वरिष्ठ न्यूरोलॉजिस्ट डॉक्टरत विनीत सूरी ने बताया कि सद्गुरु जग्गी वासुदेव पिछले 4 हफ्ते से सिर के दर्द से परेशान थे। इसी बीच उनकी हालत बेहद खराब होने लगी। सद्गुरु के सीटी स्कैन से ब्लीडिंग और ब्रेन में सूजन का पता चला। डॉक्टर ने आगे कहा कि उन्होंने अपने रोजाना के काम की वजह से सिर दर्द पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया। लेकिन डॉक्टर विनीत सूरी ने कहा कि सिरदर्द बढ़ने पर सद्गुरु ने उन्हें इस महीने की 15 तारीख को फोन किया था, तभी उन्हें एहसास हुआ कि कुछ गंभीर है।

Advertisement

सद्गुरु की हालत में धीरे-धीरे सुधार

सद्गुरु को तुरंत दिल्ली के अपोलो अस्पताल लाया गया और एमआरआई स्कैन कराया गया। पता चला कि दिमाग में सूजन और ब्लीडिंग हो रही है। इसके बाद सर्जरी की गई। डॉक्टर विनीत सूरी ने कहा कि सद्गुरु के ब्रेन का ऑपरेशन हो गया है और वह धीरे-धीरे ठीक हो रहे हैं। फिलहाल उनकी हालत स्थिर बताई जा रही है।

ईशा फाउंडेशन ने क्या बताया

इस संबंध में ईशा फाउंडेशन की ओर से कहा गया ''सद्गुरु पिछले 4 सप्ताह से गंभीर सिरदर्द से पीड़ित थे।'' फिर भी सद्गुरु ने दिल्ली में महाशिवरात्रि और अन्य समारोहों में पूरी तरह से भाग लिया। कुछ दिन पहले सद्गुरु का इलाज किया गया था। वह ठीक हो रहे हैं। कोई डरने वाली बात नहीं है। सद्गुरु की शारीरिक स्थिति में सुधार उम्मीद से बेहतर है। सद्गुरु दिखाते हैं कि परिस्थितियों की कठोरता के बावजूद सबसे चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों को भी कैसे शालीनता से संभाला जा सकता है।

Advertisement

Advertisement
Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो