scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Rameshwaram Cafe Blast : रामेश्वरम कैफे ब्लास्ट के संदिग्धों की तलाश में जुटी NIA, 10 लाख रुपये तक का रखा है इनाम

Rameshwaram Cafe Blast: बेंगलुरु ब्लास्ट केस में भी तक NIA सभी आरोपियों को नहीं पकड़ पाई है और जनता से मदद मांगने के लिए आरोपियों की नई तस्वीरें रिलीज की हैं।
Written by: न्यूज डेस्क
नई दिल्ली | Updated: March 29, 2024 23:37 IST
rameshwaram cafe blast   रामेश्वरम कैफे ब्लास्ट के संदिग्धों की तलाश में जुटी nia  10 लाख रुपये तक का रखा है इनाम
एजेंसी ने लोगों से आरोपियों को देखते ही सूचना देने की अपील की है। (सोर्स - Twitter)
Advertisement

बेंगलुरु कैफे ब्लास्ट मामले में कर्नाटक की स्थानीय पुलिस तो जांच कर रही है, साथ ही केंद्रीय जांच एजेंसी एनआईए भी इस मामले में लगातार केस के नए नए पहलू निकाल रही है लेकिन है ताज्जुब की बात यह है कि अभी तक इस केस के दोनों आरोपी फरार हैं और जांच एजेंसियां लगातार उनकी नई तस्वीरें जारी कर रही हैं। आज एजेंसी ने इनाम की राशि भी बढ़ा दी है।

दरअस, आज NIA ने इसी क्रम में दोनों ही आरोपियों का एक नया फोटो पेश किया है। NIA ने एक नहीं बल्कि एक्स अकाउंट के जरिए दो दो फोटो शेयर की है।दोनों फरार संदिग्ध की पहचान अब्दुल मथीन अहमद ताहा, विग्नेश, सुमित और मुस्सविर हुसैन शाज़िब, मोहम्मद जुनैद हुसैन, मोहम्मद जुनैद सईद के रूप में की गई है।

Advertisement

पुलिस और जांच एजेंसियां लगातार उनकी तलाश में जुटी हुई है। NIA ने बताया है कि अब्दुल मथीन ताहा हिन्दू नाम विग्नेश डी सुम‍ित के नाम से फर्जी पहचान पत्र का इस्तेमाल कर रहा है और आम लोगों के बीच मजे से घूम रहा है।

1 मार्च को हुआ था ब्लास्ट

कर्नाटक के बेंगलुरु के रामेश्‍वरम कैफे में 1 मार्च, 2024 को हुए बलास्‍ट की साज‍िश मुजाम्मिल शरीफ ने रची थी। वहीं इस पूरे प्लान का बलास्‍ट का मास्‍टरमाइंड शरीफ अब एनआईए के कब्‍जे में है। इतना ही नहीं, एक के पकड़ में आ जाने के बाद अन्य सभी आरोपियों की तलाश में तेजी लाई गई है।

Advertisement

जांच एजेंसियां जानती हैं कि आरोपियों का जनता के बीच घूमना नए आतंकी हमले की वजह बनना चाहती है। इसीलिए अब एजेंसी ने आरोपियों की लगाई गई इनाम की रकम को बढ़ाकर दस लाख रुपये कर दिया है।

इसके साथ ही पुलिस ने लोगों से यह मांग की है, अगर वे कभी कहीं मिल जाते हैं तो तुरंत पुलिस की सहयोग करते हुए उन्हें तुरंत इन आरोपियों की सूचना दें, जिससे कि ये आरोपी लोगों की जिदगियों के साथ खिलवाड़ न कर सकें।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो