scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Bharat Jodo Nyay Yatra: राहुल गांधी की न्याय यात्रा समय से पहले होगी खत्म, जानें क्यों लिया ये बड़ा फैसला

कांग्रेस पार्टी के सूत्रों ने बताया कि यूपी में यात्रा को कम करने के फैसले का रालोद से जुड़े राजनीतिक घटनाक्रम से किसी भी तरह का कोई लेना-देना नहीं है।
Written by: न्यूज डेस्क
Updated: February 12, 2024 09:32 IST
bharat jodo nyay yatra  राहुल गांधी की न्याय यात्रा समय से पहले होगी खत्म  जानें क्यों लिया ये बड़ा फैसला
कांग्रेस नेता राहुल गांधी। (इमेज -पीटीआई)
Advertisement

Bharat Jodo Nyay Yatra: देश में अप्रैल-मई माह में लोकसभा चुनाव होने की उम्मीद है। इन चुनावों से पहले सियासी दलों ने अपनी रणनीति तैयार करना शुरू कर दिया है। चुनाव की तारीखों की घोषणा से पहले कई दल उम्मीदवारों के नामों पर विस्तार से चर्चा भी कर रहे हैं। इसी कड़ी में कांग्रेस पार्टी राहुल गांधी के नेतृत्व में 'भारत जोड़ो न्याय यात्रा' निकाल रही है। इस बार यात्रा मिजोरम से शुरू हुई थी और इसे मुंबई में खत्म होना है। वहीं, अब इस यात्रा के प्लानिंग से एक हफ्ते पहले समाप्त होने की संभावना है।

बीते माह 14 जनवरी से शुरू भारत जोड़ो न्याय यात्रा को 20 मार्च को मुंबई में समाप्त होना था। हालांकि, अब माना जा रहा है कि यह यात्रा अब समय से पहले ही खत्म हो सकती है। सूत्रों के मुताबिक, यात्रा को थोड़ी तेजी दे दी गई है। पहले एक दिन में 70 किलोमीटर का सफर तय करने की प्लानिंग थी। अब यह 100 किलोमीटर प्रतिदिन के हिसाब से चल रही है। यात्रा इस हफ्ते यूपी में एंट्री लेने वाली है। यह लोकसभा चुनाव के मद्देनजर एक महत्वपूर्ण राज्य है। अब यहां पर यात्रा 11 दिन के बजाय 6 से 7 दिन के अंदर ही खत्म हो जाएगी।

Advertisement

यूपी में यह यात्रा 28 लोकसभा क्षेत्रों से होकर गुजरनी थी, इनमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सीट वाराणसी, रायबरेली, अमेठी, इलाहाबाद, फूलपुर और लखनऊ भी शामिल हैं। इसके मुख्य रास्ते में चंदौली, वाराणसी, जौनपुर, इलाहाबाद, भदोही, प्रतापगढ़, अमेठी, रायबरेली, लखनऊ, हरदोई, सीतापुर, बरेली, मुरादाबाद, रामपुर, संभल, अमरोहा, अलीगढ, बदायूं, बुलंदशहर और आगरा जैसे क्षेत्र शामिल थे।

पश्चिम यूपी के ज्यादातर जिलों को छोड़ेगी यात्रा

यात्रा अब पश्चिमी यूपी के ज्यादातर जिलों को छोड़ देगी और मध्य प्रदेश में जाने से पहले सीधे लखनऊ से अलीगढ़ और फिर पश्चिमी यूपी में आगरा तक यात्रा करेगी। इसमें सबसे खास बात यह है कि राष्ट्रीय लोकदल जिसकी पश्चिमी यूपी में अच्छी पकड़ है। वह बीजेपी के साथ जाने की प्लानिंग कर रही है।

Advertisement

हालांकि, कांग्रेस पार्टी के सूत्रों ने बताया कि यूपी में यात्रा को कम करने के फैसले का रालोद से जुड़े राजनीतिक घटनाक्रम से किसी भी तरह का कोई लेना-देना नहीं है। उन्होंने कहा कि हम यात्रा को धीरे करना चाहते थे ताकि राहुल गांधी ज्यादा से ज्यादा लोगों से मिल सकें। इस यात्रा को पहले खत्म करने की योजना इसलिए भी बनाई गई है क्योंकि राहुल गांधी को चुनाव प्रचार के लिए ज्यादा से ज्यादा समय मिल सकेगा।

Advertisement

इंडिया गठबंधन में उथल-पुथल

इंडिया गठबंधन ने इस माह के आखिर में कर्नाटक में अपनी पहली संयुक्त रैली आयोजित करने का फैसला किया है। नीतीश कुमार की जनता दल (यूनाइटेड), तृणमूल कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के पश्चिम बंगाल और पंजाब में अकेले चुनाव लड़ने के फैसले के बाद गठबंधन में काफी उथल-पुथल मची हुई है। साथ ही, आरएलडी भी जल्द ही बीजेपी में शामिल होने की योजना बनाने रहे हैं। कांग्रेस अगले महीने मुंबई में यात्रा खत्म होने पर इंडिया गठबंधन के सभी दलों को आमंत्रित करने की योजना बना रही है।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो