scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Lok Sabha Chunav: आखिर शरद पवार के खिलाफ इतने हमलावर क्यों हुए PM मोदी? समझिए क्या है महाराष्ट्र में BJP की रणनीति

Lok Sabha Chunav 2024: शरद पवार के पर हमेशा ही सॉफ्ट रहने वाले पीएम मोदी ने अचानक उनके लिए हमलावर रुख अख्तियार किया है।
Written by: शुभांगी खापरे
नई दिल्ली | Updated: May 04, 2024 22:23 IST
lok sabha chunav  आखिर शरद पवार के खिलाफ इतने हमलावर क्यों हुए pm मोदी  समझिए क्या है महाराष्ट्र में bjp की रणनीति
Lok Sabha Chunav 2024: महाराष्ट्र में बीजेपी की शरद पवार के खिलाफ दिलचस्प रणनीति (सोर्स - PTI/File)
Advertisement

Lok Sabha Chunav 2024: महाराष्ट्र में एनसीपी में दो फाड़ होने के बाद भले ही पार्टी का एक धड़ा अजीत पवार के साथ एनडीए में आ चुका हो लेकिन शरद पवार अभी भी विपक्षी गठबंधन में ही हैं और उन्होंने एनसीपी शरद राव पवार बनाई। शरद पवार निश्चित तौर पर राज्य के दिग्गज नेताओं में से एक हैं और उनके लिए एक बड़ी सहानुभूति लहर भी हैं, जिसके चलते ही अब बीजेपी ने उनके खिलाफ आक्रामक हमले करने शुरू कर दिए हैं, जिसकी कमान खुद पीएम मोदी ने संभाली है।

बीजेपी मिशन महाराष्ट्र को पूरा करने के लिए पूरी तरह से मोदी फैक्टर कर निर्भर दिख रही है। वहीं परंपरा से हटकर शरद पवार के खिलाफ पीएम मोदी के हमले बेहद ही आक्रामक हो गए हैं। पहले पीएम मोदी उनकी नीतियों तक सीमित रहते हुए आलोचना करते थे, लेकिन अब पीएम ने उनकी राजनीति पर सवाल उठाए हैं।

Advertisement

मोदी और पवार के बीच एक साफ्ट रिलेशन रहा है लेकिन अचानक पीएम मोदी के तीखे प्रहारों ने सभी को आश्चर्यचकित कर दिया है। पश्चिमी महाराष्ट्र में एक चुनावी रैली में पीएम ने कहा कि महाराष्ट्र में एक भटकती आत्मा है। यदि यह सफलता प्राप्त नहीं कर पाता है तो दूसरों का खेल बिगाड़ने में भूमिका निभाती है।

शरद पवार को लेकर बोले - महाराष्ट्र कैसे संभालेंगे

पीएम मोदी ने कहा था कि महाराष्ट्र ऐसी भटकती आत्मा का कैदी और शिकार रहा है। पीएम मोदी का यह हमला सीधे शरद पवार को लेकर माना जा रहा है। इतना ही नहीं, पीएम मोदी ने शरद पवार को लेकर यह तक कह दिया कि जब पवार अपने परिवार को नहीं संभाल सकते तो वह महाराष्ट्र को कैसे संभालेंगे।

Advertisement

शरद पवार का भावनात्मक कटाक्ष

दिलचस्प बात यह है कि इन दोनों बयानों का पवार ने जवाब नहीं दिया है। उनका मानना ​​है कि यह एक स्पष्ट संकेतक है कि मोदी को एहसास हो गया है कि वह जमीन खो रहे हैं। हमले को अपने अंदाज में लेते हुए पवार ने कहा कि हां, मैं एक अस्वस्थ आत्मा (अशांत आत्मा) हूं। यह बेचैनी उन किसानों के लिए है जो मुश्किलों से जूझ रहे हैं। मेरी बेचैनी महंगाई की मार झेल रहे आम लोगों की तकलीफों को उजागर करने की है। मैं लोगों की समस्याओं को उजागर करने के लिए इस बेचैनी को सौ बार भी बरकरार रखने को तैयार हूं।

Advertisement

बीजेपी को शरद पवार ने ही पहुंचाया था बड़ा नुकसान

बीजेपी के नेता ने इसको लेकर यह कहा कि लव और वॉर में सबकुछ जायज है। 'भटकती आत्मा' शब्द का प्रयोग आमतौर पर उन लोगों के लिए किया जाता है जो अपनी इच्छा पूरी करने के लिए लगातार भटकते हुए असफल होते रहते हैं। बीजेपी यह मानती है कि 2019 विधानसभा चुनाव के बाद पवार ने महाराष्ट्र का राजनीतिक विमर्श बदल दिया था। वह पवार ही थे जो तीन दशक पुराने शिवसेना और बीजेपी गठबंधन को तोड़ने में सफल रहे थे। उद्धव ठाकरे को कांग्रेस-शिवसेना-एनसीपी गठबंधन सरकार का सीएम बनाकर उन्होंने बीजेपी का राजनीतिक झटका दिया था।

2019 की सजा भुगत रहे ठाकरे और शरद पवार

महाराष्ट्र बीजेपी के अध्यक्ष चन्द्रशेखर बावनकुले ने कहा कि अगर उद्धव ठाकरे 2019 के चुनावों के बाद जनता के जनादेश पर कायम रहते, तो न तो ठाकरे और न ही पवार ऐसी स्थिति में आते, जहां उनकी पार्टियाँ विभाजित हो चुकी हैं। उन्होंने अपने कर्मों की कीमत चुकाई है। अजित पवार के नेतृत्व वाली NCP के साथ BJP को 11 लोकसभा सीटों के साथ पूरे पश्चिमी महाराष्ट्र पर कब्ज़ा करने की उम्मीद थी। माढ़ा में, पवार ने विजयसिंह मोहिते पाटिल को भाजपा छोड़कर राकांपा (सपा) में शामिल कराया। उन्होंने बीजेपी के मौजूदा सांसद रंजीतनायक निंबालकर के खिलाफ माढ़ा से धैर्यशील मोहिते पाटिल को टिकट की पेशकश की।

बता दें कि मराठा आरक्षण के कारण मराठा बनाम ओबीसी ध्रुवीकरण हो रहा है। बीजेपी मोदी फैक्टर पर केंद्रित रहना चाहती है। एनसीपी और शिवसेना को तोड़ने के लिए ऑपरेशन लोटस की इंजीनियरिंग के बावजूद, भाजपा सीनियर पवार और ठाकरे के चुनावी आधार को पूरी तरह से नष्ट नहीं कर पाई है।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
×
tlbr_img1 Shorts tlbr_img2 चुनाव tlbr_img3 LIVE TV tlbr_img4 फ़ोटो tlbr_img5 वीडियो