scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

'एक दिन कांग्रेस में सिर्फ मुस्लिम विधायक ही बचेंगे', असम सीएम का बड़ा दावा

Assam CM Himanta Biswa Sarma: इसी बीच राणा गोस्वामी ने असम प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष और पार्टी के सदस्य पद से इस्तीफा दे दिया।
Written by: न्यूज डेस्क
नई दिल्ली | Updated: February 28, 2024 13:16 IST
 एक दिन कांग्रेस में सिर्फ मुस्लिम विधायक ही बचेंगे   असम सीएम का बड़ा दावा
Assam CM Himanta Biswa Sarma: असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा। (PTI)
Advertisement

Assam CM Himanta Biswa Sarma: असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने बड़ा दावा किया है। उन्होंने कहा कि राज्य में 2026 विधानसभा चुनाव आने तक कांग्रेस में केवल मुस्लिम विधायक ही बचेंगे। सरमा ने यहा दावा मंगलवार को एक कार्यक्रम के दौरान किया।

हिमंत बिस्वा सरमा ने विश्वनाथ जिले के गोहपुर में एक कार्यक्रम से अलग हटकर अपनी बात कही। मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि रकीबुल हुसैन, रकीबुद्दीन अहमद, जाकिर हुसैन सिकदर, नुरुल हुदा और कुछ अन्य कांग्रेस विधायक की पार्टी में बचेंगे।

Advertisement

इसी बीच राणा गोस्वामी ने असम प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष और पार्टी के सदस्य पद से इस्तीफा दे दिया। अलकलें लगाई जा रही हैं कि वो भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो सकते हैं। जब राणा के बीजेपी में शामिल होने को लेकर सरमा से सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि कांग्रेस के ताकतवर नेता हैं, अगर वो बीजेपी में शामिल होते हैं तो उनका स्वागत है।

इससे पहले दिन में कांग्रेस की असम प्रदेश इकाई के प्रमुख भूपेन बोरा ने दावा किया कि मुख्यमंत्री हिमंत विश्व शर्मा का ‘मेरे और मेरे परिवार के प्रति जिस प्रकार का कटु व्यवहार है। उससे यह स्पष्ट होता है कि वह मुझसे डरते हैं।

बोरा ने दावा किया कि सरकारी कर्मचारी के रूप में कार्यरत उनके भाई और भाभी का तबादला राज्य के अलग-अलग कोनो में कर दिया गया। प्रदेश प्रमुख ने कहा कि जनवरी में ‘भारत जोड़ो न्याय यात्रा’ के दौरान हमले के बाद उन्होंने सुरक्षा बढ़ाने का अनुरोध किया था, लेकिन अभी तक इस पर कोई कदम नहीं उठाया गया।

Advertisement

उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि जिन लोगों ने ‘भारत जोड़ो न्याय यात्रा’ के दौरान उन पर हमला किया वे अभी खुलेआम घूम रहे हैं। उन्होंने कहा कि बेरूखी का डर एक संकेत हैं। मैं इस बात से वाकिफ हूं कि असम में अगर कोई व्यक्ति ऐसा है, जिससे हिमंत विश्व वाकई में डरते हैं तो वह मैं हूं। क्यों? क्योंकि उनका मेरे और मेरे परिवार के प्रति कटुता भरा व्यवहार उनका डर दिखाता है। उन्हें (हिमंत) प्रशंसक नहीं गुलाम पसंद हैं।”

बोरा के आरोपों पर प्रतिक्रिया देते हुए राज्य जल संसाधन मंत्री पीयूष हजारिका ने कहा कि सरकारी कर्मचारियों का तबादला राज्य में कहीं भी हो सकता है। हजारिका ने बोरा के आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के एक बड़े नेता के रिश्तेदार के साथ ऐसा हुआ इसका ये मतलब नहीं है कि उन्हें विशेष तवज्जो दी जाएगी।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
tlbr_img1 चुनाव tlbr_img2 Shorts tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो