scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

आयुष्मान भारत स्वास्थ्य योजना के नाम में 'मंदिर' शब्द से मिजोरम और नागालैंड ने जताई आपत्ति, नाम ना बदलने के लिए कहा, जानिए वजह

केंद्र के फैसले के बाद इन केंद्रों को अब आयुष्मान आरोग्य मंदिर के नाम से जाना जाता है, जिसकी टैगलाइन है 'आरोग्यम परमम धनम' (स्वास्थ्य ही सबसे बड़ा धन है)।
Written by: ईएनएस | Edited By: Mohammad Qasim
नई दिल्ली | Updated: June 26, 2024 07:59 IST
आयुष्मान भारत स्वास्थ्य योजना के नाम में  मंदिर  शब्द से मिजोरम और नागालैंड ने जताई आपत्ति  नाम ना बदलने के लिए कहा  जानिए वजह
मिजोरम और नागालैंड में ने जताई है आपत्ति (Express)
Advertisement

केंद्र सरकार ने आयुष्मान भारत स्वास्थ्य एवं कल्याण केंद्र का नाम बदलकर आयुष्मान आरोग्य मंदिर (AAM) कर दिया है। अब इस फैसले का देश के पूर्वोत्तर राज्यों  मिजोरम और नागालैंड में विरोध का सामना करना पड़ रहा है। सवाल यह है कि इन राज्यों को इस नाम से क्या समस्या है? तो इसका जवाब वहां की ईसाई आबादी और उनकी भावनाओं से जोड़कर दिया जा रहा है। दोनों ही राज्यों की ओर से समाज और चर्च का हवाला देकर पुराना नाम ( आयुष्मान भारत स्वास्थ्य एवं कल्याण) रखे रहने की वकालत की गई है। फिलहाल केंद्र की ओर से इस मामले पर कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।

Advertisement

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय आयुष्मान भारत स्वास्थ्य और कल्याण केंद्रों को नया नाम देने का फैसला किया था। पूरे देश भर में 1.6 लाख प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों का नेटवर्क काफी अहम माना जाता है। सरकार के फैसले के बाद इन केंद्रों को अब आयुष्मान आरोग्य मंदिर के नाम से जाना जाता है, जिसकी टैगलाइन है 'आरोग्यम परमम धनम' (स्वास्थ्य ही सबसे बड़ा धन है)।

Advertisement

मिजोरम ने जताई थी आपत्ति

भारत सरकार की ओर से नाम बदलने को लेकर नवंबर-2023 में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के निदेशक एल एस चांगसन के पत्र के जरिए राज्यों को जानकारी दी थी।  बिना किसी शोर-शराबे के, केंद्र ने बाद में अपनी वेबसाइट में बदलाव कर दिए।

इस साल जनवरी में मिजोरम ने आपत्ति जताई और इससे छूट मांगी। प्रधान सचिव एस्तेर लाल रुआत्किमी ने तत्कालीन केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव को लिखा और कहा--'मैं मौजूदा स्वास्थ्य और कल्याण केंद्रों (HWC) को आयुष्मान आरोग्य मंदिर (AAM) किए जाने को लेकर अपनी चिंता व्यक्त करता हूं।'

आखिर दिक्कत क्या है?

एस्तेर लाल रुआत्किमी (Esther Lal Ruatkimi) ने लिखा केंद्र को लिखे पत्र में इस नाम से हो रही दिक्कत का ज़िक्र किया है। वह केंद्र सरकार को अवगत कराते हुए लिखती हैं, "जैसा कि आप जानते हैं, मिजोरम एक ईसाई राज्य है, जिसकी 90% से ज़्यादा आबादी ईसाई है। नाम बदले जाने से लोगों की ओर से विरोध की भावना उमड़ सकती है इसलिए मैं आपसे अनुरोध करती हूं कि कृपया मिजोरम को इस नाम बदले जाने के प्रोसेस से छूट दी जाए।"

Advertisement

इसके बाद फरवरी में भी मिजोरम की ओर से एक बार फिर केंद्र सरकार से संपर्क किया गया। लेटर में लिखा था, "एक बार फिर से अनुरोध किया जाता है कि मिजोरम को आयुष्मान भारत स्वास्थ्य और कल्याण केंद्रों का नाम बदलकर आयुष्मान आरोग्य मंदिर करने से छूट दी जाए।" मार्च में इस ही तरह की आपत्ति नागालैंड की ओर से भी जताई गई थी। राज्य के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण सचिव और आयोग के सदस्य वी केजो ने लिखा, "राज्य सरकार को इस तरह के कदम पर गंभीर आपत्ति है क्योंकि इससे राज्य के लोगों की धार्मिक भावनाएं आहत होंगी और चर्च तथा नागरिक समाज की ओर से कड़ी आपत्ति जताई जा सकती है।"

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
×
tlbr_img1 Shorts tlbr_img2 खेल tlbr_img3 LIVE TV tlbr_img4 फ़ोटो tlbr_img5 वीडियो