scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

मिशन 2027: लोकसभा चुनाव में दलितों के समर्थन से गदगद कांग्रेस, अब यूपी में इस बड़े अभियान की चल रही तैयारी

कांग्रेस ने 2027 के विधानसभा चुनावों के लिए दलित समुदाय के बीच एक आउटरीच अभियान की तैयारी शुरू कर दी है।
Written by: Maulshree Seth | Edited By: Nitesh Dubey
नई दिल्ली | Updated: July 06, 2024 16:08 IST
मिशन 2027  लोकसभा चुनाव में दलितों के समर्थन से गदगद कांग्रेस  अब यूपी में इस बड़े अभियान की चल रही तैयारी
यूपी में दलित समुदाय तक पहुंचेगी कांग्रेस
Advertisement

लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश में कांग्रेस सफलता से गदगद हैं। कांग्रेस को लोकसभा चुनाव में अच्छी संख्या में दलित वोट मिला है। इसी समर्थन को बरकरार रखने के लिए कांग्रेस अब यूपी 2027 विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुट गई है। कांग्रेस ने 2027 के विधानसभा चुनावों के लिए दलित समुदाय के बीच एक आउटरीच अभियान की तैयारी शुरू कर दी है।

Advertisement

दलितों तक पहुंचेगी कांग्रेस

आउटरीच में दलितों के बीच विशेष सदस्यता अभियान, प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में प्रभावशाली दलित व्यक्तित्वों की पहचान करना, साथ ही उनके मुद्दों पर बात करने के लिए डिवीजन-स्तरीय सम्मेलन और जिला स्तरीय दलित चौपाल आयोजित करना शामिल होगा।

Advertisement

कांग्रेस के अंदरूनी सूत्रों ने कहा कि आलाकमान के निर्देशों के बाद ये कदम उठाए गए हैं। यूपी कांग्रेस के अनुसूचित जाति (SC) विभाग के प्रमुख और यूपी प्रदेश कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष आलोक प्रसाद ने कहा, "दलित पारंपरिक रूप से हमारे समर्थक रहे हैं लेकिन बीच में कुछ गलत धारणाओं के कारण वे समय के साथ दूर हो गए। हालांकि हाल के चुनावों में उन्होंने या तो संविधान के नाम पर या राहुल जी के कारण हमारा समर्थन किया।"

आलोक प्रसाद ने कहा, "अगर दलित हमारा समर्थन करने के लिए एक कदम उठाते हैं, तो अब यह हमारी जिम्मेदारी है कि हम उन तक पहुंचने के लिए एक और कदम उठाएं। ज़मीन हड़पने, आरक्षण का लाभ उठाने से जुड़े मुद्दे, छात्रवृत्ति के नाम पर लोगों को बरगलाने आदि के मामले हैं। उन्होंने हमारा समर्थन किया। अब हमारी बारी है उनके मुद्दों को सुनने और समाधान खोजने की।"

Advertisement

आलोक प्रसाद ने कहा कि गोरखपुर से मंडल स्तरीय 'दलित सम्मेलन' शुरू करने के बाद, प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र से कम से कम 1,000 पहचाने जाने वाले और प्रमुख दलित चेहरों को शामिल करने के लिए एक सदस्यता अभियान शुरू किया जाएगा। पार्टी की जिला इकाइयों के समन्वय से दलित बहुल क्षेत्रों में हर 15 दिन में कम से कम एक बार दलित चौपाल भी आयोजित की जाएगी।

Advertisement

SC इकाई को किया जाएगा मजबूत

सूत्रों ने कहा कि पार्टी जमीनी स्तर पर अपनी एससी इकाई को मजबूत करने के लिए संगठन में प्रमुख दलित चेहरों को नई जिम्मेदारियां देने पर विचार कर रही है। आउटरीच के हिस्से के रूप में पार्टी समुदाय के पेशेवरों, चाहे वे डॉक्टर, शिक्षक आदि हों, से संपर्क करने और उनके मुद्दों को उठाने की भी योजना बना रही है।

कई लोग समाजवादी पार्टी (सपा) के फैजाबाद के सांसद अवधेश प्रसाद को लोकसभा उपाध्यक्ष के रूप में निर्वाचित कराने के लिए विपक्ष के दबाव को भाजपा को डिफेंसिव स्थिति में लाने का एक और प्रयास मानते हैं। कांग्रेस के भीतर कई लोगों का मानना ​​है कि अवधेश प्रसाद को प्रमुखता देने से दलितों के बीच यह संदेश जाएगा कि इंडिया गठबंधन समुदाय के सदस्यों को नेतृत्व की भूमिका देने को तैयार है। अवधेश प्रसाद पासी दलित हैं।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
×
tlbr_img1 Shorts tlbr_img2 खेल tlbr_img3 LIVE TV tlbr_img4 फ़ोटो tlbr_img5 वीडियो