scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Maratha Reservation: मनोज जरांगे ने 17 दिन बाद खत्म की भूख हड़ताल, बोले- CM और गृह मंत्री को भुगतना होगा परिणाम; बताया आगे का प्लान

Maratha Reservation: मनोज जरांगे ने भले ही अनशन खत्म कर दिया हो लेकिन उनके तेवर अभी खत्म नहीं हुए हैं।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Yashveer Singh
Updated: February 26, 2024 18:38 IST
maratha reservation  मनोज जरांगे ने 17 दिन बाद खत्म की भूख हड़ताल  बोले  cm और गृह मंत्री को भुगतना होगा परिणाम  बताया आगे का प्लान
जरांगे जालना जिले के अंतरवाली सरती गांव में 10 फरवरी से अनिश्चितकालीन अनशन पर बैठे थे (ANI Image)
Advertisement

जालना में 17 दिनों से अनशन कर रहे मनोज जरांगे ने आखिरकार अपनी भूख हड़ताल खत्म कर दी है। सोमवार दोपहर उन्होंने भूख हड़ताल खत्म करने का ऐलान किया। इस दौरान उन्होंने कहा, "मैं अपनी एक-दो दिन अस्पताल में रहूंगा और फिर गांव जाकर मराठा आरक्षण के समर्थकों से मुलाकात करूंगा।"

आपको बता दें कि मनोज जरांगे महाराष्ट्र के जालना जिले के अंतरवाली सरती गांव में 10 फरवरी से अनिश्चितकालीन अनशन पर बैठे थे और ओबीसी कैटेगरी के तहत मराठा आरक्षण की मांग पर अड़े हुए हैं।

Advertisement

जरांगे ने अनशन खत्म करते समय क्या कहा?

मनोज जरांगे ने कहा कि वह अपना आंदोलन तब तक जारी रखेंगे जब तक कि महाराष्ट्र सरकार उन लोगों के विस्तारित परिवार के सदस्यों को कुनबी जाति प्रमाणपत्र जारी करना शुरू नहीं कर देती, जिनके पास पहले से ही ऐसे दस्तावेज हैं और जिससे उन्हें आरक्षण का लाभ मिल सके।

उन्होंने कहा, "मैं आज अपना आंदोलन स्थगित कर रहा हूं, लेकिन 3-4 युवा ऐसे होंगे जो हमारी मांगों के लिए हर दिन यहां बैठेंगे और अनशन करेंगे। मैं कुछ गांवों का दौरा भी करूंगा और उन्हें अपना पक्ष समझाऊंगा। गृह विभाग द्वारा लगाए गए प्रतिबंधों के कारण वे यहां (अंतरवाली सरती गांव में) मुझसे मिलने नहीं आ सके।"

Advertisement

आरक्षण आंदोलन को लेकर उनके खिलाफ दी गई कई पुलिस शिकायतों के बारे में पूछे जाने पर मनोज जरांगे ने कहा, "अगर वे मुझ पर मुकदमा चलाना चाहते हैं, तो मुझे कोई समस्या नहीं है, लेकिन (ऐसा करके) वे परेशानी आमंत्रित करेंगे। लोग नाराज होंगे और मुख्यमंत्री तथा गृह मंत्री को परिणाम भुगतने होंगे। अब यह फैसला उन पर है।"

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो