scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

मणिपुर फिर बिगड़े हालात, सरकार ने लिया बड़ा फैसला, 19 थाना क्षेत्र छोड़ पूरा राज्य अशांत क्षेत्र घोषित

मणिपुर सरकार ने 19 थाना क्षेत्रों को छोड़कर पूरे राज्य को अशांत क्षेत्र घोषित कर दिया है। पूरे राज्य में इंटरनेट पर भी पाबंदी लगा दी गई है।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Kuldeep Singh
Updated: September 27, 2023 15:32 IST
मणिपुर फिर बिगड़े हालात  सरकार ने लिया बड़ा फैसला  19 थाना क्षेत्र छोड़ पूरा राज्य अशांत क्षेत्र घोषित
मणिपुर में एक बार फिर हिंसा भड़क गई है। Express Photo by Deepak Shijagurumayum
Advertisement

मणिपुर में हालात एक बार फिर बिगड़ गए हैं। राज्य में इंटरनेट से पाबंदी हटाए जाने के बाद दो लापता युवाओं की तस्वीरें सामने आई थीं। इन दोनों के शव बरामद हुए थे। इसके बाद इलाके में एक बार फिर तनाव बढ़ गया। अब मणिपुर सरकार ने 19 थाना क्षेत्रों को छोड़कर पूरे राज्य को अशांत क्षेत्र घोषित कर दिया है। पूरे राज्य में इंटरनेट पर भी पाबंदी लगा दी गई है।

दोबारा भड़की हिंसा

बता दें कि इंफाल निवासी 17 वर्षीय हिजाम लिनथोइंगामी और 20 वर्षीय फिजाम हेमजीत (20) इस साल 6 जुलाई को लापता हो गए थे। सोमवार को दो तस्वीरें सामने आईं। इससे इन दोनों युवाओं की मौत की पुष्टि हो गई। इसके बाद तनाव फिर बढ़ गया। एक तस्वीर में दोनों बाहर एक-दूसरे के बगल में बैठे दिख रहे हैं, जबकि उनके पीछे दो आदमी हथियार लेकर खड़े नजर आ रहे हैं। दूसरे में कथित तौर पर उनके शरीर एक-दूसरे के बगल में जमीन पर गिरे हुए दिख रहे हैं, जबकि हेमजीत का सिर गायब है। जैसे ही यह तस्वीरें सामने आई, घाटी के इलाकों में मैतई लोगों ने विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया।

Advertisement

क्या है पूरा मामला?

लापता हुए दोनों छात्र एक-दूसरे के घर के पास ही रहते थे। लिनथोइंगामी तेरा टोंगब्रम लीकाई नामक इलाके में रहता था जबकि हेमजीत तकयेल कोलोम लीकाई का निवासी था। लिनथोइंगामी के परिवार द्वारा पुलिस को दिए गए बयानों के अनुसार वह हर सुबह कीशमपत मुतुम लीकाई में एक कोचिंग सेंटर में ट्यूशन कक्षाओं में पढ़ने जाते थे। हालांकि 6 जुलाई को वह सुबह 8.30 बजे के समय तक वापस नहीं लौटे। जब उसके पिता हिजाम कुलजीत सिंह ने उसे फोन करने की कोशिश की, तो उसने कहा कि वह घर आ रही है, लेकिन कुछ मिनट बाद उसका फोन बंद हो गया। जब इलाके के सीसीटीवी फुटेज से पता चला कि वह हेमजीत के साथ उसकी मोटरसाइकिल पर निकले तो परिवार ने उसके खिलाफ अपहरण करने की पुलिस शिकायत दर्ज कराई। 8 जुलाई को हेमजीत के खिलाफ इंफाल पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज की गई थी।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो