scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

IGI एयरपोर्ट पर दो साल से घूम रहा था 'सिंगापुर एयरलाइंस' का फर्जी पायलट, ऐसे खुला राज

पुलिस यह पता करने की कोशिश कर रही है कि उसने यह आई कार्ड कहां से पाया और वह टाइट सिक्योरिटी के बावजूद कैसे यहां तक एंट्री पा गया। पुलिस उसके बयानों की भी क्रास चेकिंग करवा रही है।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: संजय दुबे
नई दिल्ली | Updated: April 26, 2024 16:10 IST
igi एयरपोर्ट पर दो साल से घूम रहा था  सिंगापुर एयरलाइंस  का फर्जी पायलट  ऐसे खुला राज
फर्जी पायलट बनकर घूमने वाले आरोपी के बयान से सिक्योरिटी वाले भी हैरान हैं। (फाइल फोटो- इंडियन एक्सप्रेस)
Advertisement

राजधानी दिल्ली के इंदिरा गांधी एयरपोर्ट पर गुरुवार को सुरक्षाकर्मियों ने एक फर्जी पायलट को धर दबोचा। वह पिछले दो साल से यहां पायलट बनकर आता रहा है, लेकिन किसी को उसके फर्जी होने की भनक नहीं लगी। इससे वह कभी पकड़ में नहीं आया। पुलिस उससे पूछताछ कर रही है। उसके पास सिंगापुर एयरलाइंस की एक फर्जी आईडी भी मिली है। वह उसे गले में लटका कर रोजाना एयरपोर्ट पर आया करता था। आरोपी पायलट का एस सिंह है और वह द्वारका में रहता है।

कड़ी सुरक्षा के बीच भी किसी को उसके आने-जाने की भनक नहीं लगी

राजधानी के अति सुरक्षा वाले इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर रोजाना हजारों लोग आते जाते हैं। तमाम वीवीआईपी और हाईप्रोफाइल अंतरराष्ट्रीय लोगों का आना जाना रहता है। रोजाना कई दर्जन अंतरराष्ट्रीय एयरलाइंस के विमान यहां से आवागमन करते हैं। ऐसे में फर्जी पायलट का इस तरह दो साल तक यहां पर आते रहने के बावजूद उसके नहीं पकड़ा जाना आश्चर्य की बात है।

Advertisement

सिंगापुर एयरलाइंस ने बताया कि वह उनका कर्मचारी या पायलट नहीं है

गुरुवार को एयरपोर्ट के टर्मिनल-3 के बाहर पायलट के रूप में एक युवक को अपनी सेल्फी लेते हुए कंट्रोल रूम की सीसीटीवी में दिखने पर अधिकारियों को शक हुआ। इस पर सीआईएसएफ के अधिकारी उसके पास पहुंचे और पूछताछ की तो उसने अपने को सिंगापुर एयरलाइंस का पायलट बताया। इस बारे में सिंगापुर एयरलाइंस से जानकारी ली गई तो वह फर्जी निकला। इस पर पुलिस ने उसको गिरफ्तार कर लिया।

पूछताछ में उसने पुलिस को बताया कि छह साल पहले उसने मुंबई से पायलट का कोर्स किया था, लेकिन वह नौकरी नहीं पा सका। घर वालों से उसने झूठ बोला था। वे जानते थे कि बेटा सिंगापुर एयरलाइंस में पायलट है। इस वजह से वह अक्सर कई-कई दिन यहां आकर सेल्फी लेकर घर वालों को भेज देता था।

Advertisement

पुलिस इस मामले में जांच पड़ताल कर रही है। पुलिस यह पता करने की कोशिश कर रही है कि उसने यह आई कार्ड कहां से पाया और वह टाइट सिक्योरिटी के बावजूद कैसे यहां तक एंट्री पा गया। पुलिस उसके बयानों की भी क्रास चेकिंग करवा रही है।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो