scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

पहले राजौरी अब कठुआ, आतंकी M-4 कार्बाइन का कर रहे इस्तेमाल… जानें अमेरिका और अफगानिस्तान से क्या है इसका कनेक्शन?

अमेरिका ने शांति समझौते के तहत जब अफगानिस्तान से वापसी की तो   8,84,311 आधुनिक सैन्य उपकरण वहीं छोड़ आया था। 
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Mohammad Qasim
नई दिल्ली | Updated: July 09, 2024 10:21 IST
पहले राजौरी अब कठुआ  आतंकी m 4 कार्बाइन का कर रहे इस्तेमाल… जानें अमेरिका और अफगानिस्तान से क्या है इसका कनेक्शन
कठुआ में एम 4 कार्बाइन का इस्तेमाल, सेना का सर्च ऑपरेशन जारी (photo by PTI)
Advertisement

जम्मू कश्मीर के कठुआ में सेना के वाहन पर ग्रेनेड से हमले के बाद पांच जवान शहीद हो गए हैं।  शुरुआती रिपोर्ट में कहा गया है कि इस हमले के पीछे पाकिस्तानी आतंकवादी थे। जिन्हें लोकल गाइड का सहयोग मिला हुआ था।  आतंकियों के पास US मेड M-4 कार्बाइन राइफल भी मौजूद थी। इस आर्टिकल में हम चर्चित M-4 कार्बाइन राइफल के बारे में जानेंगे। जिसे बनाने वाला तो अमेरिका है लेकिन इस्तेमाल कई देश कर रहे हैं।

Advertisement

M-4 कार्बाइन राइफल : आतंकियों तक कैसे पहुंची? 

अमेरिका को हथियार बनाने वाले देशों की फेहरिस्त में दुनिया का सबसे बड़ा केंद्र माना जाता है। स्टॉकहोम इंटरनेशनल पीस रिसर्च इंस्टीट्यूट ने मार्च 2023 में एक रिपोर्ट जारी की थी जिसके  मुताबिक  2013-17 और 2018-22 के बीच अमेरिका के हथियारों के निर्यात में 14 प्रतिशत की बढ़ोतरी देखी गई थी।

Advertisement

एक आकलन यह भी कहता है कि अमेरिका ने शांति समझौते के तहत जब अफगानिस्तान से वापसी की तो   8,84,311 आधुनिक सैन्य उपकरण वहीं छोड़ आया था।  इनमें M16 रायफल, M4 कार्बाइन भी शामिल थे। अब यह आतंकियों के पास कैसे पहुंची? इस सवाल की जानकारी स्पष्ट नहीं है लेकिन अलग-अलग हमलों में आतंकियों ने इस राइफल का इस्तेमाल किया है।

M4 कार्बाइन के बारे में : कितना शक्तिशाली है यह हथियार 

M4 कार्बाइन राइफल 1980 के दशक के दौरान अमेरिका में निर्मित एक हल्की और गैस-संचालित गन है। यह अमेरिकी सशस्त्र बलों का प्रमुख हथियार है और इसका इस्तेमाल 80 से अधिक देश करते हैं। M4 को नज़दीकी लड़ाई के लिए डिज़ाइन किया गया है और यह बहुत ही मारक है। यह अलग प्रकार की युद्ध स्थितियों के लिए सटीक, विश्वसनीय और उपयुक्त भी है। इसलिए इसका उपयोग सैन्यकर्मी करते हैं।

यूनाइटेड स्टेट्स मरीन कॉर्प्स (USMC) ने अपने अधिकारियों (लेफ्टिनेंट कर्नल के पद तक) और गैर-कमीशन अधिकारियों को M9 पिस्तौल के बजाय M4 कार्बाइन ले जाने का आदेश दिया था। इससे अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि यह किस क्षमता की राइफल है। M4 का इस्तेमाल AR-15 के साथ-साथ पुलिस अधिकारियों द्वारा भी किया जाता है। यह एक बेहतरीन राइफल मानी जाती है।

Advertisement

Advertisement
Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
×
tlbr_img1 Shorts tlbr_img2 खेल tlbr_img3 LIVE TV tlbr_img4 फ़ोटो tlbr_img5 वीडियो