scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Kathua Ambush: आतंकियों पर करारे प्रहार की तैयारी, हिरासत में लिए 26 संदिग्ध, जंगल में उतरे पैरा कमांडो

Kathua Terror Attack: सेना, जम्मू-कश्मीर पुलिस और सीआरपीएफ के जवान आतंकवादियों को पकड़ने के लिए क्षेत्र के बीहड़ इलाकों और जंगलों की तलाशी ले रहे हैं।
Written by: न्यूज डेस्क
जम्मू कश्मीर | Updated: July 11, 2024 16:01 IST
kathua ambush  आतंकियों पर करारे प्रहार की तैयारी  हिरासत में लिए 26 संदिग्ध  जंगल में उतरे पैरा कमांडो
Kathua Terror Attack: जम्मू-कश्मीर पुलिस और सीआरपीएफ के जवान आतंकवादियों को पकड़ने के लिए क्षेत्र के बीहड़ इलाकों और जंगलों की तलाशी ले रहे हैं। (FILE PTI)
Advertisement

Kathua Terror Attack: जम्मू-कश्मीर में पिछले कुछ दिनों से आतंकवादी घटनाओं में बढ़ोतरी देखी गई है। जिससे सुरक्षा बल भी मुस्तैद नजर आ रहे हैं। जम्मू में कठुआ जिले के माचेडी-बिलावर इलाके में सेना पर आतंकियों ने पहाड़ी जंगलों से घात लगाकर हमला किया था। मगर सेना के जवानों ने भी उनकी चाल को नाकाम करते हुए अंधाधुंध फायरिंग की थी। सेना के जवानों ने आतंकियों पर 5000 से ज्यादा गोलियां बरसाईं, जिससे आतंकी मौके से भागने के लिए मजबूर हो गए थे। वहीं जम्मू-कश्मीर के कठुआ जिले के माचेडी-बिलावर इलाके के कम से कम 26 निवासियों को सोमवार को दो ट्रकों वाले सैन्य गश्ती दल पर हुए घातक हमले के सिलसिले में पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है। जिसमें 22 गढ़वाल राइफल्स के पांच जवान शहीद हो गए और पांच अन्य घायल हो गए। अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी दी।

Advertisement

एक अधिकारी ने कहा कि एनआईए की एक टीम घात स्थल पर पहुंच गई है और जांच में पुलिस की सहायता कर रही है। सेना, जम्मू-कश्मीर पुलिस, सीआरपीएफ और पैरा कमांडो के जवान आतंकवादियों को पकड़ने के लिए क्षेत्र के बीहड़ इलाकों और जंगलों की तलाशी ले रहे हैं, लेकिन अभी तक कोई भी पकड़ा या मारा नहीं गया है।

Advertisement

भारी बारिश ने ड्रोन और हेलीकॉप्टरों के जरिए हवाई निगरानी को मुश्किल बना दिया है। अधिकारियों ने बदनोटा गांव के पास घात लगाकर किए गए हमले की घटनाओं को एक साथ जोड़ना शुरू कर दिया है। जहां और ज्यादा फोर्स के पहुंचने से पहले दो घंटे से अधिक समय तक लगातार गोलीबारी हुई थी। माना जा रहा है कि तीन लोगों का समूह में आतंकवादियों ने पहाड़ी पर दो जगहों पर खुद को छिपा लिया और घने जंगल में छिपकर सैनिकों को ग्रेनेड और गोलियों के हमले से चौंका दिया। जब ट्रक दोपहर 3.30 बजे माचेडी-किंडली-मल्हार रोड पर एक मोड़ पर पहुंचे थे, तभी उन पर भारी गोलीबारी की गई थी।

भारी गोलीबारी का सामना करने के बावजूद, सैनिकों ने अधिक हताहतों को रोकने और आतंकवादियों को उनके हथियार छीनने से रोकने के लिए लगातार गोलीबारी की। एक अधिकारी ने पीटीआई को बताया कि भारतीय सेना के गढ़वाल रेजिमेंट के सैनिकों ने आतंकवादियों पर 5,189 राउंड की बौछार की, जिससे उन्हें घटनास्थल से भागने पर मजबूर होना पड़ा।’

पाकिस्तान समर्थित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) के एक सहयोगी समूह कश्मीर टाइगर्स ने घात लगाकर किए गए हमले की जिम्मेदारी ली है। सूत्रों ने कहा कि स्थानीय लोगों से पूछताछ की जा रही है कि क्या उन्होंने घात लगाने से पहले आतंकवादियों को देखा था या उन्हें कोई सहायता प्रदान की थी।

Advertisement

अधिकारियों ने लोगों को आश्रय, भोजन प्रदान करने या आतंकवादियों को छिपने और क्षेत्र से बिना पहचाने जाने में मदद करने के खिलाफ चेतावनी दी है। जम्मू में आतंकवाद से संबंधित हिंसा में हाल ही में वृद्धि ने ऊपरी इलाकों में स्थानीय लोगों को चिंतित कर दिया है, जिन्होंने आतंकवादी खतरों से निपटने के लिए ग्राम रक्षा समूहों को मजबूत करने की मांग की है। डोडा जिले में, मंगलवार शाम को गोली घाडी-भगवा जंगल में सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच गोलीबारी के बाद एक और तलाशी जारी है।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
×
tlbr_img1 Shorts tlbr_img2 खेल tlbr_img3 LIVE TV tlbr_img4 फ़ोटो tlbr_img5 वीडियो