scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

पिता बनने पर आने वाले थे घर, अब शोक में डूबा पूरा गांव... जानें कुलगाम मुठभेड़ में शहीद प्रदीप के बारे में

जींद के जाजनवाल गांव के रहने वाले 27 वर्षीय प्रदीप नैन 2015 में सेना में शामिल हुए और उन्हें जाट रेजिमेंट में शामिल किया गया।
Written by: ईएनएस | Edited By: Nitesh Dubey
नई दिल्ली | Updated: July 07, 2024 23:42 IST
पिता बनने पर आने वाले थे घर  अब शोक में डूबा पूरा गांव    जानें कुलगाम मुठभेड़ में शहीद प्रदीप के बारे में
प्रदीप नैन कुलगाम एनकाउंटर में शहीद हो गए।
Advertisement

जम्मू-कश्मीर के कुलगाम जिले में शनिवार को सुरक्षाबलों के साथ आतंकियों की मुठभेड़ हुई। इस मुठभेड़ में हरियाणा के जींद जिले के रहने वाले पैरा कमांडो 27 वर्षीय प्रदीप नैन शहीद हो गए। अब शहीद जवान के परिवार के सदस्यों ने कहा कि उनकी गर्भवती पत्नी मनीषा को रविवार को एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था। प्रदीप नैन पिता बनने वाले थे। खबर मिलने के बाद उनकी पत्नी की हालत बिगड़ गई। प्रदीप नैन का शव सोमवार सुबह गांव पहुंचने की उम्मीद है।

Advertisement

2015 में सेना में शामिल हुए थे प्रदीप

जींद के जाजनवाल गांव के रहने वाले 27 वर्षीय प्रदीप नैन 2015 में सेना में शामिल हुए और उन्हें जाट रेजिमेंट में शामिल किया गया। बाद में वह पैरा कमांडो बन गए। प्रदीप के पिता बलवान सिंह ने याद किया कि कैसे उनके बेटे ने सेना में जाने के लिए कई प्रयास किए। उन्होंने कहा, "उसने पहले दो बार कोशिश की लेकिन सफल नहीं हो सका। उन्होंने हार नहीं मानी और तीसरे प्रयास में चयनित हो गए। उन्होंने न केवल हमारा, अपने गांव का बल्कि पूरे देश का मान बढ़ाया। मुझे अपने बेटे पर गर्व है।"

Advertisement

प्रदीप का गांव रविवार को शोक में डूबा हुआ था। कई लोग प्रदीप को इसलिए याद कर रहे थे क्योंकि वह सौम्य स्वभाव के लिए जाने जाते थे। जाजनवाल के सरपंच जनक सिंह नैन ने कहा, ''बचपन में प्रदीप रास्ते में जहां भी सैनिकों को वर्दी में देखते थे, उन्हें सलाम करते थे। वह बेहद सामाजिक व्यक्ति थे और गांव वाले उन्हें अपने बेटे की तरह प्यार करते थे। सेना की वर्दी पहनना हमेशा से उनका जुनून था।"

हम सभी गहरे सदमे में हैं- प्रदीप के चाचा महेंद्र

प्रदीप के चाचा महेंद्र ने कहा, "हम सभी गहरे सदमे में हैं। उन्होंने आखिरी बार मुझसे कुछ हफ्ते पहले बात की थी। पिछली बार जब वह छुट्टियों पर आए थे तो हिसार में रुके थे। वह कुछ दिन पहले ही ड्यूटी पर वापस गए थे।" वहीं एक सेवानिवृत्त सूबेदार जय भगवान (प्रदीप के परिवार को जानते हैं और पास में ही रहते हैं) ने कहा कि सरपंच को प्रदीप की मौत के बारे में सेना से फोन आया था। उन्होंने कहा, "प्रदीप ने आखिरी बार अपने परिवार के सदस्यों से तीन दिन पहले बात की थी। उन्होंने उनसे कहा था कि वह जल्द ही छुट्टियों पर घर वापस आएंगे।"

Advertisement

हरियाणा के मुख्यमंत्री नायब सिंह सैनी ने एक्स पर शोक संतप्त परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त की। उन्होंने लिखा, "जम्मू कश्मीर के कुलगाम में आतंकवादियों से मुठभेड़ में वीरगति को प्राप्त हुए हरियाणा के लाडले बेटे गांव जाजनवाला नरवाना (जीन्द) निवासी पैरामिलिट्री कमांडो प्रदीप नैन को नमन करता हूं। मां भारती के लिए किया गया उनका सर्वोच्च बलिदान हमेशा प्रेरणा का स्त्रोत रहेगा। ईश्वर से प्रार्थना है कि वीरगति को प्राप्त वीरात्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान दें एवं शोकाकुल परिजनों को यह वज्रपात सहने की असीम शक्ति प्रदान करें।"

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
×
tlbr_img1 Shorts tlbr_img2 खेल tlbr_img3 LIVE TV tlbr_img4 फ़ोटो tlbr_img5 वीडियो