scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

अब खालिस्तान समर्थक अमृतपाल सिंह भी लड़ पाएगा लोकसभा चुनाव, EC ने नामांकन किया मंजूर

Lok Sabha Chunav 2024: अमृतपाल सिंह फिलहाल असम की डिब्रूगढ़ जेल में बंद हैं। पंजाब में 1 जून को मतदान होगा।
Written by: न्यूज डेस्क
नई दिल्ली | Updated: May 15, 2024 16:27 IST
अब खालिस्तान समर्थक अमृतपाल सिंह भी लड़ पाएगा लोकसभा चुनाव  ec ने नामांकन किया मंजूर
खालिस्तानी समर्थक अमृतपाल सिंह। (इमेज- फाइल फोटो)
Advertisement

Lok Sabha Chunav 2024: इलेक्शन कमीशन ने वारिस पंजाब दे के चीफ और खालिस्तानी समर्थक अमृतपाल सिंह का नामांकन मंजूर कर लिया है। वह अब पंजाब की अमृतसर लोकसभा सीट से लोकसभा चुनाव मैदान में हैं। सिंह निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ रहा है। वह इस समय असम की डिब्रूगढ़ जेल में बंद है। पंजाब में सातवें यानी आखिरी फेज में 1 जून को वोटिंग होगी।

अमृतपाल सिंह का नामांकन पत्र उसके चाचा ने 10 मई को दाखिल किया था। सिंह ने अपने चुनावी हफनामें में बताया कि उसके पास केवल 1000 रुपये की संपत्ति है। इतना ही नहीं, उसके पास कोई भी चल या अचल संपत्ति नहीं है।

Advertisement

अमृतपाल सिंह के खिलाफ 12 आपराधिक मामले

अमृतपाल सिंह की पत्नी किरणदीप के पास कुल 18.37 लाख रुपये की चल संपत्ति है। इसमें 20,000 रुपये नकद, 14 लाख रुपये के गहने और 4,17,440 रुपये के बराबर 4,000 जीबीपी (पाउंड) शामिल हैं। हलफनामें में सिंह को माता-पिता पर निर्भर बताया गया है। जबकि उसकी पत्नी ब्रिटिश नागिरक है। अमृतपाल सिंह ने घोषणा की है कि उनके खिलाफ 12 आपराधिक मामले पेंडिग हैं। हालांकि, अभी तक किसी भी केस में दोषी नहीं ठहराया गया है। वह अपने 9 साथियों के साथ 23 अप्रैल 2023 से डिब्रूगढ़ जेल में बंद हैं।

खडूर लोकसभा सीट

पंजाब की 13 लोकसभा सीटों में से एक सीट खदूर साहिब की है। यह एक सामान्य सीट है। फरीदकोट, फतेहगढ़ साहिब, होशियारपुर और जालंधर सीटों के रिजर्व होने से यहां केवल अनुसूचित जाति के लोग ही खड़े हो सकते हैं लेकिन खडूर साहिब की लोकसभा सीट रिजर्व नहीं है। इसमें 9 विधानसभा सीटे आती हैं।

2009, 2014 और 2019 में इन सीटों पर जो आम चुनाव हुए, उसमें कांग्रेस और शिरोमणि अकाली दल ने बाजी मारी। 2009 और 2014 में तो लगातार ये सीट शिरोमणि अकाली दल के खाते में ही जाती रही। शिरोमणि अकाली दल के रत्तन सिंह अजनाला 2009 में इस सीट से चुने गए जबकि पांच साल बाद 2014 में हुए लोकसभा इलेक्शन में ये सीट शिरोमणि अकाली दल के ही रंजीत सिंह ब्रह्मपुरा के खाते में चली गई। इनका कार्यकाल पूरा होने के बाद कांग्रेस के जसबीर सिंह गिल 2019 में लोकसभा के सांसद चुने गए।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो