scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

ओपन कोर्ट में साथी जस्टिस पर बिफरे थे, CJ ने रफा-दफा कर दिया था मामला, फिर कुछ हुआ ऐसा कि सबसे सामने बोलना पड़ा सॉरी

लोगों की प्रतिक्रिया को देख बार ने इस सारे मामले पर कड़ा एतराज जताया। उसके बाद तय हुआ कि जिस प्लेटफार्म (ओपन कोर्ट) पर महिला जस्टिस से अभद्र व्यवहार किया गया था माफी वहीं मांगी जाए।
Written by: shailendragautam
October 25, 2023 14:12 IST
ओपन कोर्ट में साथी जस्टिस पर बिफरे थे  cj ने रफा दफा कर दिया था मामला  फिर कुछ हुआ ऐसा कि सबसे सामने बोलना पड़ा सॉरी
प्रतीकात्मक तस्वीर।
Advertisement

गुजरात हाईकोर्ट में दो जस्टिसेज के बीच हुए विवाद में मामले ने नया रंग ले लिया। हालांकि चीफ जस्टिस ने बिना किसी कागजी कार्यवाही के मामले को रफा दफा कर दिया था। उन्होंने महिला जस्टिस के साथ हुए विवाद में उनके सीनियर को ज्यादा तवज्जो दी थी। ऐसा लग रहा था कि सीनियर जस्टिस के सामने उनकी कलीग को हार माननी ही पड़ गई। लेकिन फिर कुछ ऐसा हुआ कि सीनियर को महिला जस्टिस से सॉरी कहना पड़ा।

Advertisement

अहम बात है कि जिस तरह से सबके सामने बात का बतंगड़ बना था कुछ उसी अंदाज में मामले का पटाक्षेप भी हुआ। सीनियर जस्टिस को अपनी गर्दन बचाने के लिए ओपन कोर्ट में वकीलों के सामने महिला जस्टिस को सॉरी कहना पड़ गया। फिलहाल ये विवाद शांत होता लग रहा है।

Advertisement

सोमवार को महिला जस्टिस पर ओपन कोर्ट में बिफर गए थे

विवाद सोमवार को तब शुरू हुआ जब जस्टिस बिरेन वैष्णव ने अपनी साथी जस्टिस मौना भट्ट को ओपन कोर्ट में लताड़ लगा दी। डबल बेंच में दोनों जस्टिस एक केस की सुनवाई कर रहे थे। जस्टिस बिरेन जब फैसला सुनाने वाले थे तभी मौना भट्ट ने उनके कान में कुछ कहा। जस्टिस बिरेन को उनकी हरकत नागवार गुजरी। मौना भट्ट ने तो अपनी बात उनके कान में कही थी। लेकिन बिरेन ने सबके सामने उनको लताड़ लगा दी। यही नहीं वो गुस्से में अपनी सीट से उठे और कोर्ट के बाहर चले गए। बाहर जाते समय वो बोले कि अब किसी केस की सुनवाई नहीं होगी।

मामला इतना तूल ना पकड़ता लेकिन हाईकोर्ट में सारे केसेज की लाइव स्ट्रीमिंग की जाती है। लिहाजा जस्टिस बिरेन वैष्णव के तीखे तेवर सोशल मीडिया पर पहुंच गए। लोगों ने तरह तरह से अपनी प्रतिक्रिया दी। लेकिन तकरीबन सभी बिरेन वैष्णव के रवैये की आलोचना कर रहे थे। चीफ जस्टिस को जैसे ही सारे मामला का पता चला उन्होंने पहले यूट्यूब से कोर्ट से जुड़े वीडियो को हटवाया और फिर मौना भट्ट को जस्टिस बिरेन वैष्णव की बेंच से हटा लिया। ऐसा लगा कि मामला शांत हो गया। लेकिन मामले से जुड़े लोगों का कहना है कि लोगों की प्रतिक्रिया को देख बार ने इस सारे मामले पर कड़ा एतराज जताया। उसके बाद तय हुआ कि जिस प्लेटफार्म (ओपन कोर्ट) पर महिला जस्टिस से अभद्र व्यवहार किया गया था माफी वहीं मांगी जाए।

Advertisement

पहले बदल गई थी दोनों की बेंच, फिर दिखे एक साथ, जस्टिस बिरेन को कहना पड़ा सॉरी

बार एंड बेंच की रिपोर्ट के मुताबिक यूट्यूब लिंक पर दिख रहा था कि सोमवार को हुए विवाद के बाद जस्टिस बिरेन और जस्टिस मौना अलग-अलग बेंच में बैठे थे। लेकिन उसके बाद वो फिर से एक साथ बैठे। जस्टिस बिरेन ने कहा- जो कुछ हुआ वो नहीं होना चाहिए था। इसके लिए सॉरी।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
×
tlbr_img1 Shorts tlbr_img2 खेल tlbr_img3 LIVE TV tlbr_img4 फ़ोटो tlbr_img5 वीडियो